भारत के 10 सबसे गरीब राज्य कौन से है | Ten Poorest States in India 2021?

आज हम आपको भारत के 10 सबसे गरीब राज्य कोनसे है इसके बारे में बताने जा रहे है| हम सभी जानते है कि भारत एक विशाल देश है जिसमे अनेक राज्य है भारत में विभिन्न राज्य है तो उनमे से कुछ आमिर राज्यों की सूचि में आते है और कुछ गरीब राज्यों की सूचि में आते है|


अब आप जानना चाहोगे की वह कोन से राज्य है अमीर है और Bharat ka sabse garib rajya 2021 कौनसा है? इसके साथ ही आप जानना चाहोगे कि किसी भी राज्य के गरीब या अमीर होने का पता कैसे लगाया जाता है| आपको यह सारी जानकारी हमारे इस पोस्ट के जरिये दी जाएगी| किसी भी राज्य की जीडीपी के आधार पर ही उसे अमीर या गरीब घोषित किया जाता है| और जीडीपी क्या होती है? जीडीपी के आधार पर Bharat ke 10 sabse garib rajya कोनसे है? इसके बारे में भी आपको बतायेगे|

भारत के 10 सबसे गरीब राज्य जीडीपी के आधार पर

छत्तीसगढ़ जीडीपी 3.25 लाख करोड़ (50 बिलियन डॉलर)

छत्तीसगढ़ भारत के सबसे गरीब राज्यों में पहले नंबर पर आता है| यह एक ऐसा राज्य है जहा 37% लोग गरीबी रेखा से नीचे रहते है| छत्तीसगढ़ 2000 से पहले मध्यप्रदेश का हिस्सा हुआ करता था लेकिन बाद में इसे अलग कर दिया गया| छत्तीसगढ़ स्टील उत्पाद में भारत का 15% स्टील का उत्पादन करता है लेकिन इतना उत्पादन करने के बाद भी यहाँ ज्यादातर लोग गरीब ही है| 

झारखण्ड (Jharkhand) जीडीपी 2.82 लाख करोड़ (43 बिलियन डॉलर)

झारखण्ड भारत के गरीब राज्यों में 2 नंबर पर आता है| यहाँ रोजगार की कमी होने के कारण ही यह राज्य इतना विकसित नहीं हो पाया यहाँ नामांकन, साक्षरता, बच्चो के पोषण में कमी है और इसी वजह से यहाँ के कुल 36.96% लोग गरीब है| पहले यह बिहार का हिस्सा हुआ करता था था लेकिन 2000 में इसे बिहार से अलग कर दिया गया| 

मणिपुर (Manipur) जीडीपी 21066 करोड़ (3.2 बिलियन डॉलर)

मणिपुर पहाड़ो में बसा हुआ एक खूबसूरत राज्य है| इस राज्य को 1978 में बनाया गया क्यंकि ये राज्य पहाड़ो में है तो इसलिए यहाँ सड़क, बिजली और संचार की कमी है| यहाँ पर ज्यादातर लोग कृषि करते है और इस राज्य की अर्थव्यवस्था पूर्ण तोर पर कृषि पर ही आधारित है| इस राज्य की गरीबी सस्तर 36.89% है। और जीडीपी 21066 करोड़ ही है| 

अरुणाचल प्रदेश (Arunachal Pradesh) जीडीपी 20259 करोड़ (3 बिलियन डॉलर) 

अरुणाचल प्रदेश पूर्वोत्तर में बसा हुआ सबसे बड़ा राज्य है। यह राज्य 1987 में बनाया गया था।  पहाड़ी क्षेत्र होने के कारण इसकी अर्थव्यास्था केवल कृषि पर निर्भर है। यह राज्य पहाड़ो में बसा हुआ है तो इसलिए यहाँ यातायात, सड़क, संचार और बिजली की कमी है। इस राज्य की गरीबी स्तर 34.67% है और इसकी जीडीपी 20,259 है।

बिहार (Bihar) जीडीपी 5.15 लाख करोड़ (80 बिलियन डॉलर)

बिहार में रोजगार का साधन बहुत कम है।और इस कारण यहां के लोग दूसरे राज्यों में जाकर व्यापार या नौकरी करते है है और अपना जीवन व्यतीत करते है। बिहार में आधी से अधिक आबादी गरीबी रेखा से नीचे आती है। बिहार कृषि प्रधान राज्य है और लोग कृषि पर निर्भर है|  यहाँ के लोग कृषि कर अपने परिवार को पाल रहे है| इस राज्य की जीडीपी 5.15 लाख करोड़ है। और की गरीबी स्तर 33.74% है।

ओडिशा (Odisha) जीडीपी 4.43 लाख करोड़ (70 बिलियन डॉलर)

ओडिशा में ज्यादातर पिछड़ी जाति और अनुसूचित जाति के लोग रहते है| इस राज्य में गरीबी का मुख्या कारण यहां की बेरोजगारी और साक्षरता में कमी है| इसी कारण ये राज्य काफी गरीब है| इस राज्य का गरीबी स्तर 32.52% है। और जीडीपी 4.43 लाख करोड़ है।

असम (Assam) जीडीपी 3.33  लाख करोड़ (51 बिलियन डॉलर)

असम राज्य भारत के पूर्वोत्तर में बसा हुआ है। यह राज्य मुख्य उत्पादन राज्यो से काफी दूर है और इसी कारण यह राज्य तरक्की नहीं कर पा रहा है। जिसकी वजह से इस राज्य में काफी गरीबी है। इसकी गरीबी का एक और कारण यहाँ की जलवायु और वातावरण है जिसकी वजह से भी यह राज्य तरक्की नहीं कर पा रहा है। इस कारण इस राज्य में गरीबी स्तर 31.98% है। और जीडीपी 3.33 लाख करोड़ है| 

मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) जीडीपी 8.26 लाख करोड़ (126 बिलियन डॉलर)

यह राज्य भारत के मध्य में स्थित है और इसलिए इसका नाम भी मध्य प्रदेश है| इस राज्य में ज्यादातर लोग अनुसूचित जाति मतलब की ST लोग रहते है| मध्य प्रदेश आदिवासी की वजह से भी जाना जाता है क्यूंकि यहाँ बहुत से आदिवासी रहते है। इस राज्य के लोग वन्य कार्यों पर निर्भर है तो इस लिए यहाँ की कुल जीडीपी 8.26 लाख करोड़ है और गरीबी स्तर 31.26% है। 

उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) जीडीपी 14.89 लाख करोड़ (230 बिलियन डॉलर)

उत्तर प्रदेश भारत का सबसे बड़ा स्टेट है और यहाँ भी रोजगार की बहुत कमी है। यहां के लोग भी बिहार के लोगो की तरह दूसरे राज्यों पर निर्भर है| लेकिन पिछले कुछ सालो में उत्तर प्रदेश ने काफी तरक्की की है परन्तु फिर भी इसकी गिनती भारत के गरीब राज्यों में होती है| उत्तर प्रदेश की जीडीपी 14.29 लाख करोड़ है और गरीबी स्तर 29.43% है।

कर्नाटक (Karnataka) जीडीपी 14.08 लाख करोड़ (217 बिलियन डॉलर)

कर्नाटक भारत के दक्षिण में स्थित है। इसका नाम भी गरीब राज्यों की लिस्ट में शामिल है। यहाँ काफी बेरोजगारी देखने को मिलती है| यहाँ के बच्चो में पोषण की कमी आमतौर पर पायी जाती है| यहां की जीडीपी 14.08 लाख करोड़ है और गरीबी स्तर 20.19% है।

अगर हम जीडीपी की बात करे तो छत्तीसगढ़ जीडीपी के आधार पर सबसे गरीब राज्य है जबकि हम जानते है कि इसकी जीडीपी काफी अच्छी है परन्तु फिर भी यह सबसे गरीब राज्य में शामिल है|

जीडीपी क्या होती है? What is GDP?

जीडीपी का मतलब घरेलु उत्पाद से होता है| इसका सीधा मतलब यह हुआ की किसी राज्य ने कितना उत्पाद किया है| जिस राज्य ने ज्यादा उत्पाद किया होता है उसकी जीडीपी ज्यादा होती है| और जिसने कम उसकी जीडीपी कम होती है| और उसी के आधार पर उसे गरीब घोषित किया जाता है|  

जीडीपी किसी भी राज्य के केवल उत्पाद से ही नहीं उस राज्य की कृषि पर भी आधारित होती है| जीडीपी कम या ज्यादा है वह उस राज्य की अर्थवयवस्था को दर्शाती है| और राज्य में होने वाले उत्पाद, सेवा, व्यापर, आयात, निर्यात सभी जीडीपी में आते है| और इस जीडीपी के आधार पर ही किसी भी राज्य की सालाना आय को तय किया जाता है और उसी से पता चलता है कि उस राज्य ने पिछले साल के मुकाबले कितनी तरक्की की है| और पिछले साल के मुकाबले गरीबी रेखा से ऊपर उठा है या और नीचे गया है| 

अगर हम सबसे ज्यादा जीडीपी वाले राज्य की बात करे तो महाराष्ट्र एक ऐसा राज्य है जिसकी जीडीपी हमेशा ऊपर ही रहती है क्यंकि यहाँ दूसरे राज्यों की तुलना में ज्यादा उत्पाद किया जाता है, और सबसे ज्यादा व्यपार किया जाता है इसी वजह से महाराष्ट्र की जीडीपी सबसे अधिक होती है| 

परन्तु कुछ राज्य में गरीबी इतनी ज्यादा है कि गरीबी रेखा से नीचे भारतीय कोगो को ऊपर उठने के लिए वह हर पांचवें भारतीय को देश की गरीबी को कम करने के लिए भारी कदम उठाने की जरूरत है। अधिकांश राज्यों में हालांकि, यह प्राथमिकता नहीं लगती थी, परन्तु 2019 के समाप्त होने से ठीक पहले NITI Aayog द्वारा जारी SDG सूचकांक 2019-20 में गरीबी स्कोर कार्ड को जारी किया गया| 

यह United Nations के अनिवार्य सतत विकास लक्ष्यों के प्रदर्शन को मापने के उद्देश्य से है। नवीनतम संस्करण ने यह स्पष्ट कर दिया कि भारत अपने पहले लक्ष्य से अब दूर नहीं है – और 2030 तक भारत में कोई गरीबी नहीं रहेगी| 

इस संबंध में भारत का अब कुल स्कोर 100 में से 50 है, पिछले एक साल में यह स्कोर 54 से कम था। यह गिरावट भारत के दो राज्य आंध्र प्रदेश और सिक्किम को छोड़कर दूसरे सारे राज्यों में देखने को मिली थी।

अरुणाचल प्रदेश में सबसे ज्यादा 18 अंक गिर गए – जबकि बिहार और ओडिशा में 12 अंकों की गिरावट आई। गोवा और झारखंड में 9 अंकों की गिरावट आई| 

इसके अनुसार 2030 तक कोई भी राज्य 0 गरीबी की ओर नहीं होगा। सूचकांक के अनुसार, 100 में से 99 या उससे अधिक के कुल स्कोर वाला राज्य एक प्राप्तकर्ता राज्य है और कोई भी राज्य इसके करीब भी नहीं होगा।

तमिलनाडु का स्कोर 72 और त्रिपुरा 70 स्कोर के साथ चार्ट में सबसे ऊपर है, लेकिन उनमे से भी चार अंक एक ही वर्ष में फिसल गए| मेघालय, हिमाचल प्रदेश, तेलंगाना और महाराष्ट्र का प्रदर्शन विभिन्न स्थानों पर स्थिर रहा। सबसे बड़े राज्यों में से एक महाराष्ट्र 47 के स्कोर के साथ पिछड़ता रहा।

अब आप जान चुके होंगे कि भारत के 10 सबसे गरीब राज्य कौनसे है और भारत के उन राज्यों की GDP कितनी है? और GDP के आधार पर भारत का सबसे गरीब राज्य कौन सा है? उम्मीद करते है कि आपको हमारे द्वारा दी गए जानकारी पसंद आई होगी| हमारे द्वारा प्रदान करी गई जानकारी आपके लिए लाभदायक होगी| अगर आपको इस जानकारी से संबंधित कोई डाउट हो तो आप हमे नीचे कमेंट भी सकते है|

ये भी पढ़े:

भारत के राष्ट्रपति कौन है 2021?

भारत की मोबाइल कंपनी कौन कौन सी है?

वर्तमान भारत में कुल कितने राज्य है?

FAQ (Frequently Asked Questions)

भारत का सबसे गरीब गाँव अथवा जिला कौन सा है?

अलीराजपुर जिला देश में सबसे गरीब जिला है यह जिला मध्य प्रदेश में है और यहाँ 76.5 प्रतिशत लोग गरीब हैं।

भारत का सबसे अमीर जिला कौन सा है?

महाराष्ट्र भारत का सबसे अमीर जिला है|

Bharat ka Sabse Garib Rajya Kaun Sa Hai?

Chhattisgarh Bharat ka Sabse Garib Rajya Hai.

Default image
Rohit Kumar
Hey, This is Rohit Kumar the founder of We Love Write. I am a Digital Marketing Expert and a Content Creator. I love to write on facts with deep research in Hindi. Do comment and share my content if you find this useful.
Articles: 44

Leave a Reply