सीओ की फुल फॉर्म, मीनिंग और मतलब हिंदी में

दोस्तों क्या आप जानते हैं कि CO का फुल फॉर्म क्या है? CO कैसे बना जाता है? CO का काम क्या होता है? अगर आपको CO के फुल फॉर्म के बारे में बिल्कुल भी जानकारी नहीं है तो आप घबराइए मत क्योंकि आज के इस पोस्ट में हम आपको सीओ के बारे में जानकारी शेयर करने जा रहे हैं। 

जब हमने देखा कि CO की पोस्ट एक बहुत ही खास अच्छी पोजीशन वाली पोस्ट है और सीईओ बनने के बाद व्यक्ति की इज्जत समाज में और भी ज्यादा बढ़ जाती है| तब हमने CO के बारे में रिसर्च करना शुरू किया और रिसर्च करने के बाद आज के इस पोस्ट में हम आपके साथ सीओ का फुल फॉर्म क्या है? सीओ कैसे बनते हैं? इसके बारे में जानकारी शेयर करने जा रहे हैं।

जैसे कि हम जानते हैं कि आज के समय में हर कोई अच्छी Job प्राप्त करना चाहता है| र कोई चाहता है कि उसकी job secure हो, इज्जत वाली हो और उसको power भी मिले| लेकिन ऐसी जॉब्स काफी कम होती है, उन्हीं गिनी चुनी जॉब में से एक जॉब CO की भी है जो कि पुलिस डिपार्टमेंट से संबंधित होती है।

इसके अलावा CO का फुल फॉर्म के बारे में हम आपके साथ जानकारी इसलिए भी शेयर करने जा रहे हैं क्योंकि अक्सर ही ऐसे प्रश्न UPSC या कोई अन्य दूसरी परीक्षाओं में पूछे जाते हैं जो कि आपकी जनरल नॉलेज के हिसाब से भी बहुत ही ज्यादा जरूरी है| तो चलिए दोस्तों अब हम CO Full Form in Hindi उसके बारे में आपको बताते हैं।

CO Full Form in Hindi

सीईओ का फुल फॉर्म Circle Officer होता है| जिसे हिंदी में अनुमंडल पदाधिकारी कहते हैं। CO का पद पुलिस डिपार्टमेंट में एक बहुत ही महत्वपूर्ण पद होता है| यह है उच्च पुलिस अधिकारी होता है जो कि अपने नियुक्त क्षेत्र में कानून व्यवस्था को बनाए रखते हैं| CO सुप्रिडेंट ऑफ पुलिस यानी DSP के रैंक का पुलिस अधिकारी होता है| सीओ की पोस्ट के लिए पुलिस उप अधीक्षक रैंक के अधिकारी या सहायक पुलिस आयुक्त के अधिकारी का चयन सीओ की पोस्ट के द्वारा किया जाता है| 

किसी भी क्षेत्र में वहां के सभी कार्यों को CO के द्वारा ही किया जाता है| उस क्षेत्र में होने वाली शिकायतों के विषयों के हल भी CO के द्वारा ही किया जाता है| CO अपने क्षेत्र में हर प्रकार की समस्याओं का समाधान निकालने के लिए प्रयास करते हैं।

CO कौन होता है?

CO असल में एक उच्च दर्जे का पुलिस अधिकारी होता है जो अपने क्षेत्र का उच्च अधिकारी होता है और अपने क्षेत्र की कानून व्यवस्था को सही ढंग से बनाए रखता है| वह अपने क्षेत्र में होने वाले किसी भी समस्याओं जैसे कि दंगा फसाद, लड़ाई इन सब का समाधान निकालने का प्रयास करता है।

CO का मतलब? (Meaning of CO)

CO एक ऐसा अधिकारी होता है जो अपने क्षेत्र का प्रमुख अधिकारी होता है और जो अपने क्षेत्र में होने वाली सभी प्रकार की समस्याओं का समाधान करने का प्रयास करता है।

CO बनने के लिये योग्यता (Eligibility For CO)

  • CO बनने के लिए उम्मीदवार को राज्य के लोक सेवा आयोग द्वारा आयोजित करवाई गई PCS परीक्षा को पास करना होता है। कुछ राज्यों में इस परीक्षा के लिए अलग से आयोजन किया जाता है| इस पद के लिए करवाई जाने वाली परीक्षा को सर्कल ऑफिसर परीक्षा भी कहते हैं| इस परीक्षा के लिए कुछ योग्यताएं मांगी जाती है जो कि इस प्रकार है। 
  • उम्मीदवार को संबंधित राज्य की भाषा लिखनी, बोलनी और समझनी आनी चाहिए। 
  • परीक्षा देने से पहले उम्मीदवार के पास किसी भी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय या संस्थान से किसी भी स्ट्रीम में Bachelor का सर्टिफिकेट होना चाहिए।

CO के कार्य? (Work of CO)

जैसे कि अभी तक हमने आपको उसी CO की बेसिक जानकारी शेयर कर दी है| अब हम आपको बताते हैं कि CO के  कार्य क्या क्या होते हैं।

  • CO अपने क्षेत्र का सबसे मुख्य अधिकारी होता है। 
  • CO का काम अपने क्षेत्र की देखभाल करना होता है। 
  • CO अपने क्षेत्र में कानून व्यवस्था को सही प्रकार से बनाए रखता है। 
  • जब सरकार के द्वारा किसी भी क्षेत्र के विकास के लिए राशि दी जाती है तो उस राशि का उस क्षेत्र के विकास के लिए सही इस्तेमाल करना होता है।
  • अपने क्षेत्र में सभी प्रकार की समस्याओं के समाधान करने का प्रयास करता है। 
  • एक सर्कल ऑफिसर को अपने क्षेत्र में अपनी इच्छा अनुसार काम करवाने का अधिकार प्राप्त होता है| जिससे वह अपने क्षेत्र में कानून व्यवस्था को बनाए रखने की कोशिश करता है। 
  • एक क्षेत्र में सिर्फ एक ही CO अधिकारी नियुक्त किया जाता है| इसलिए अलग-अलग क्षेत्रों में सर्कल ऑफिसर को नौकरी प्रदान की जाती है। 
  • सर्कल ऑफिसर के क्षेत्र में जब किसी भी प्रकार के दंगा फसाद, लड़ाई, हत्या जैसी घटनाएं होती है तो उस क्षेत्र में उन समस्याओं का समाधान CO के द्वारा ही किया जाता है।

आयु सीमा (Age Limit)

CO बनने के लिए उम्मीदवार की उम्र 21 साल से लेकर 40 साल तक होनी चाहिए| परंतु कुछ आरक्षित वर्ग के लोगों के लिए इस उम्र में कुछ सालों तक की छूट भी दी जाती है।

सीईओ बनने के लिए चयन प्रक्रिया (Selection Process)

सर्कल ऑफिसर बनने के लिए उम्मीदवार को PCS परीक्षा को पास करना होता है| इस पद के लिए चयन के लिए तीन तरह की परीक्षाएं देनी पड़ती हैं।

  1. प्रारंभिक परीक्षा (Preliminary Exam)
  2. मुख्य परीक्षा (Mains Exam)
  3. साक्षात्कार (Interview)

उम्मीदवार अगर ऊपर बताए गए तीनों परीक्षाओं को अच्छे अंकों के साथ पास कर लेता है तो उसके बाद एक मेरिट लिस्ट बनाई जाती है| मेरिट लिस्ट में प्राप्त किए गए अंकों के आधार पर ही उम्मीदवार को पद का निर्धारण किया जाता है। उसके बाद उम्मीदवार को कुछ समय की प्रशिक्षण प्रदान किया जाता है और सफलता पूर्व प्रशिक्षण प्रदान करने के बाद उम्मीदवार को सर्कल ऑफिसर के तौर पर किसी भी क्षेत्र में नियुक्त कर दिया जाता है

CO की सैलरी (Salary of CO)

Circle officer को महीने की तनख्वाह 9300 रुपए से लेकर 34800 रुपए तक दी जाती है| इसके साथ-साथ सर्कल ऑफिसर को 500 रुपए ग्रेड भी दिया जाता है और कई प्रकार की सेवाएं और भत्ते भी दिए जाते हैं।

Circle Officer को कौन-कौन सी सुविधाएं प्रदान की जाती है?

  • सर्कल ऑफिसर को रहने के लिए एक बंगला दिया जाता है। 
  • सर्कल ऑफिसर को ट्रैवल करने के लिए एक अच्छी और बड़ी गाड़ी और साथ में एक ड्राइवर भी दिया जाता है। 
  • सर्कल ऑफिसर को प्रमोशन के तौर पर ब्लॉक डेवलपमेंट ऑफिसर यानी वीडियो बनाया जाता है।

CO के अन्य फुल फॉर्म

  • CO- Central Officers
  • CO- Cargo Operations
  • CO- Central Office
  • CO- Contracting Officer
  • CO- Crematory Operator
  • CO- Capital Outlay
  • CO- Commissioner’s Officer
  • CO- Charge Off
  • CO- Contracting Officer
  • CO- Cardiac Output
  • CO- Certified Orthotist
  • CO- Central Order
  • CO- City Ordinance
  • CO- Check Out
  • CO- Community Officer
  • CO- Corrections Officer
  • CO- Common Output
  • CO- Corrections Officer
  • CO- Community Organizers
  • CO- Common Opinion
  • CO- Customization Operator
  • CO- Correct Order
  • CO- Current Opinion

CO बनने के फायदे?

  • CO की सैलरी काफी अच्छी होती है। 
  • CO बनने के बाद उस व्यक्ति का सम्मान समाज में बढ़ जाता है। 
  • CO बनने के बाद देश की सेवा और कानून व्यवस्था सँभालने की opportunity मिल जाती है। 
  • CO को काफी अन्य सुविधाएं भी दी जाती है।

Conclusion

अब आप जान चुके हैं कि CO का फुल फॉर्म क्या होता है, CO कौन होता है, CO का मतलब क्या होता है, CO बनने के लिए योग्यता क्या है, CO के कार्य क्या होते हैं| उम्मीद करते हैं कि हमारे द्वारा शेयर करी गई जानकारी को पढ़ने के बाद CO से संबंधित आपके जितने भी प्रश्न थे उनके आपको सही जवाब मिल गए होंगे| अगर आपको हमारे द्वारा शेयर करी गई जानकारी से संबंधित कोई भी डाउट है या फिर आप हमें कोई राय देना चाहते हैं तो हमे नीचे कमेंट बॉक्स में कमेंट कर सकते हैं।

ये भी पढ़े:

BSC Full Form in Hindi?

सीए का फुल फॉर्म क्या है?

LLB Full Form in Hindi?

IAS का फुल फॉर्म क्या है?

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top