FIFO क्या है | What is FIFO in Hindi | FIFO का Full Form क्या है?

दोस्तों क्या आप भी जानना चाहते हैं कि FIFO क्या है? (What is FIFO in Hindi) FIFO का Full Form क्या है? आज के इस पोस्ट में हम आपको FIFO के बारे में पूरी जानकारी शेयर करने जा रहे हैं| हमारे इस पोस्ट को आप अंत तक जरूर पढ़े ताकि आपके FIFO से संबंधित जितने भी सवाल हैं उनके आपको जवाब मिल जाए।

FIFO का फुल फॉर्म क्या है?

FIFO का फुल फॉर्म First in First Out है।

FIFO का क्या मतलब है?

FIFO का मतलब First in First Out होता है| First in First Out के प्रणाली से यह साफ पता चलता है कि किसी इन्वेंटरी में रखी हुई पहली आइटम को सबसे पहले हटा दिया जाता है उसके बाद फिर दूसरी आइटम को उसी आर्डर में हटाया जाता है जिस order में वह enter करी होती है।

FIFO क्या है?

जैसे कि हमने आपको अभी फीफो का फुल फॉर्म बताया है तो उसके फुल फॉर्म से आप अंदाजा लगा ही चुके होंगे कि FIFO क्या होता है? असल में data को processing और retrieving करने का एक method होता है| इस मेथड के जरिए जिस आइटम को सबसे पहले enter किया जाता है उसे ही सब से पहले remove किया जाता है| अगर हम FIFO की बात करे तो जब एक ही समय काफी ज्यादा आइटम को enter करते हैं तो वह उसी order में remove की जाती है। अगर हम आसान शब्दों में कहें तो जो आइटम पहले enter होगी वो item ही सबसे पहले exit होगी या remove होगी।

जब भी किसी कंप्यूटर में किसी डाटा के ऊपर FIFO system implement होता है तो array या buffer से डाटा को extract किया जाता है। जब किसी array में किसी डाटा को enter किया जाता है तो सबसे पहले extract भी उसी डाटा को किया जाता है| इस सिस्टम को FIFO कहा जाता है| LIFO सिस्टम इसके बिल्कुल उलट होता है क्योंकि यह सिस्टम Last in Last Out पर काम करता है और जो आइटम सबसे पहले enter होती है उसे सबसे लास्ट में remove करता है।

उदाहरण के तौर पर मान लीजिए आप एक vending machine पर काम कर रहे हैं| जिसमें आइटम को पीछे से load किया जाता है| जब कोई व्यक्ति उस vending machine में किसी आइटम को select करता है तो वह किसी आइटम के लिए किसी row को select करता है और फिर vending machine उस row के प्रोडक्ट को चुनती है| लेकिन ऐसे मशीन first item को सबसे पहले चुनती है और उसे सबसे पहले select करती है और फिर पीछे से नई आइटम को उसी लाइन में जोड़ देती है| वही FIFO methods से आइटम को dispense किया जाता है| जिस हिसाब से उन्हें place किया हुआ होता है।

फीफो कॉस्टिंग मेथड क्या है? – FIFO Costing Method Kya Hai?

FIFO Costing Method First in First out के सिद्धांत पर काम करता है| इस मेथड के जरिये की गणना करने के लिए पहले उत्पादित या अधिग्रहित संपत्ति को पहले बेचा, निपटाया या उपयोग किया जाता है। फिर कर उद्देश्यों के लिए, FIFO के अनिसार सबसे पुरानी लागत वाली संपत्ति आय विवरण की बेची गई वस्तुओं की लागत (COGS) में शामिल है।

FIFO की गणना कैसे की जाती है?

हम आपको बताना चाहेंगे FIFO methods का उपयोग किसी पुरानी inventory में गणना करने के लिए किया जाता है| FIFO method से inventory की लागत को पता करने के लिए और बेची गई इन्वेंटरी की राशि से गुणा करके उसकी गणना की जाती है| सबसे पहले गणना करने के लिए इन्वेंटरी की लागत निर्धारित की जाती है और फिर उसे बेची हुई इन्वेंटरी की मात्रा से उसे गुना करके FIFO मेथड अप्लाई करके उसकी गणना की जाती है| यह गणना करने का सबसे बेहतरीन और आसान तरीका है।

FIFO के क्या फायदे हैं? – FIFO ke kya fayde hai?

FIFO का फायदा यह है कि यह international level inventory की गणना करने का सबसे व्यापक रूप से इस्तेमाल किया जाने वाला स्टीक method है। यह inventory में रखे हुए माल और बेचे हुए माल की गणना करने का सबसे स्टीक तरीका है| जिस से यह आसानी से पता चलता है कि inventory की असल में लागत कितनी हुई है| इसके अलावा FIFO method inflation के प्रभाव को भी कम करता है| यह inventory के अप्रचलन को भी कम करता है।

FIFO क्यों महत्वपूर्ण है?

FIFO ऐसा मेथड है जिसकी मदद से कंपनी के लिए लेखा-जोखा और अंत में उनकी संपत्ति को महत्व देने के लिए बहुत महत्वपूर्ण है| इसके अलावा FIFO कंपनी को उनकी लागत का सामान बेचने में लगने वाली राशि के बारे में भी जानकारी देता है और बजट के लिए भी महत्वपूर्ण संख्या और लागत का मूल्यांकन प्रदान करती है| इस मेथड का इस्तेमाल बहुत ही ज्यादा लाभकारी है जिसकी वजह से काफी सारी कंपनी इस method को अपना रही हैं।

FEFO और FIFO क्या है?

FEFO और FIFO दोनों एक जैसे कार्यवाही करते हैं दोनों data को processing और retrieving का काम करते हैं।

FIFO

जैसे कि हमने आपको पहले भी बताया है FIFO First in First Out पर काम करता है| FIFO उन कंपनियों के लिए लाभकारी सिद्ध होता है जो दवाइयां या भोजन जिन पर अंतिम तारीख mention करी होती है ऐसे उत्पादों के लिए फीफो मेथड का इस्तेमाल किया जाता है।

FEFO

FEFO का मतलब First Expired First Out होता है यह भी लगभग फीफो के समान ही होता है| परंतु इसमें जो उत्पाद या वस्तु एक्सपायर होने वाली होती है सबसे पहले उनको ही बेचा जाता है| इन दोनों का काम ही data को processing और retrieving करने का होता है।

Conclusion

दोस्तों अब आप जान चुके हैं कि FIFO क्या है, FIFO का फुल फॉर्म क्या है,FIFO का मतलब क्या है, FIFO का क्या महत्व है, FIFO की गणना कैसे करी जाती है। उम्मीद करते हैं कि हमारे इस पोस्ट को पढ़ने के बाद FIFO से संबंधित आप के जितने भी डाउट थे वह clear हो गए होंगे| अगर अभी भी आपको हमारी पोस्ट से संबंधित कोई भी डाउट हो या आप अपनी कोई राय देना चाहते हैं तो हमें नीचे कमेंट बॉक्स में कमेंट कर सकते हैं।

ये भी पढ़े:

Storage Device क्या है और कितने प्रकार के है?

फाइनेंस क्या है?

Consumer Forum क्या है?

IMPS क्या है और कैसे काम करता है?

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top