Google AMP क्या है? Google AMP के फायदे और नुक्सान क्या है?

दोस्तों क्या आप जानते हैं कि Google AMP क्या है? या Accelerated Mobile Page क्या है? अगर आपके पास स्मार्टफोन है तो आप अपने स्मार्टफोन में इंटरनेट का इस्तेमाल तो करते होंगे| आप ने शायद हो सकता है कि इस बात को नोटिस करा होगा कि जब भी आप अपने मोबाइल में किसी भी वेबसाइट को चलाते हैं तो उस वेबसाइट के नीचे AMP का symbol आता है| जिस में तीर का निशान लगा होता है। क्या आप ने कभी सोचा है कि जब आप किसी वेबसाइट को चला रहे हैं तो उसके नीचे तीर का निशान क्यों लगाया गया है क्या यह तीर का निशान वेबसाइट में होना जरूरी है अगर है तो इस तीर के निशान के वेबसाइट के लिए क्या फायदे हैं या फिर क्या नुकसान है?

जैसे की हम जानते ही हैं जब इंटरनेट की शुरुआत हुई थी तो लोग इंटरनेट का इस्तेमाल अपने कंप्यूटर, लैपटॉप में करते थे| परंतु जब से मार्केट में स्मार्टफोन लांच हुए हैं तब से लोगों ने अपने स्मार्टफोन में internet का इस्तेमाल करना शुरू कर दिया है और एक रिपोर्ट से पता चला है कि 75% लोगों के पास मोबाइल फोन है| जिसमें से 57% लोग इंटरनेट का इस्तेमाल अपने स्मार्ट फोन में करते हैं| गूगल में अपने मोबाइल यूजर के experience को improve करने के लिए AMP को launch किया है ताकि वह यूजर अपने मोबाइल फोन में वेबसाइट को बड़ी जल्दी और आसानी से चला सके। 

लोगों को भी यह AMP का feature बहुत पसंद आया है क्योंकि यह feature mobile friendly है और इसके वेबसाइट के लिए बहुत सारे फायदे भी है तो दोस्तों अगर आप भी जानना चाहते हैं कि Google AMP क्या है और Google AMP के फायदे क्या है और Google AMP के नुकसान क्या है तो हमारे इस पोस्ट को अंत तक जरूर पढ़े।

Google AMP क्या है (What is Google AMP in Hindi)

Google AMP का फुल फॉर्म  Accelerated Mobile Pages होता है| यह एक Open-Source Framework है जो कि वेबसाइट के pages को mobile friendly बनाने में मदद करता है ताकि लोग जो वेबसाइट अपने कंप्यूटर में चला रहे हैं उनको अपने मोबाइल में चलाने में आसानी हो सके और वह users उस वेबसाइट के अंदर मौजूद कंटेंट को भी आसानी से पढ़ सके। हम यह भी कह सकते हैं कि Google AMP वेबसाइट pages को mobile friendly pages बनाने के लिए एक तरह की application का काम करता है ताकि web pages को मोबाइल में speed के साथ खोल जा सके। 

AMP में HTML, JS और Cache Libraries होती है| जिससे यह वेबसाइट को User specific बनाती है| अगर उस वेबसाइट में कोई भी rich कंटेंट जैसे की PDFs, video or audio मौजूद हो उसके बावजूद भी उस वेबसाइट के load time को कम करती है और मोबाइल डिवाइस में उस वेबसाइट को fast कर देती है।

किसी भी वेबसाइट के मोबाइल pages का Accelerated Mobile Pages या AMP, bare-bone version होता है| यह application वेबसाइट के अंदर जो जरूरी है सिर्फ उसको ही display कराती है और दूसरे content जो वेबसाइट के load होने में ज्यादा समय लेती है उन चीजों को ignore कर देती है। इससे वेबपेज मोबाइल में automatically ही fast हो जाता है| जिस से यूजर को उस कंटेंट को पढ़ने के लिए भी अधिक समय मिल जाता है।

Google AMP कैसे शुरू हुआ?

वेबसाइट के mobile version को सुधारने के लिए Google ने News Publishers और Technology से जुड़ी हुई कंपनियों से बात की और 7 अक्टूबर 2007 को Google Amp Project बारे में announce कर दिया| उस समय 30 News publisher और टेक्नोलॉजी कंपनियों जैसे Pinterest, linkedin और Wordpress ने गूगल के साथ मिलकर प्रोजेक्ट की शुरुआत की| 

गूगल Amp को लॉन्च करने का मुख्य उद्देश्य यही था कि यूजर को अच्छी और फास्ट सर्विस प्रदान की जा सके| फिर गूगल ने पहली बार web page में AMP Version को फरवरी 2016 में sers को mobile search results में दिखाया और उसी साल Facebook Instant Articles की शुरुआत की गई थी जो कि उस समय गूगल का Competitor की तरह माना गया| 

गूगल AMP कैसे काम करता है?

Google AMP लगभग हर browser को support करता है और गूगल AMP Open web में काम करता है| जब भी किसी वेबसाइट के AMP version pages को बनाया जाता है तो उसके Standard Page के Source Code के अंदर में  HTML Tag उस पेज के लिए link तैयार करता है और इस तरह किसी भी वेबसाइट के AMP version page की display हो जाता है। इससे फायदा यह होता है कि यह AMP version pages, Standard version Page की तुलना से Web Crawlers की नजर में जल्दी आते हैं और search engines और referring websites भी इस वर्जन के pages को पहले से ही सर्च कर लेते हैं।

गूगल कि यह तकनीक SEO में भी काफी ज्यादा फायदेमंद है क्योंकि इस से वेबसाइट बहुत जल्दी ओपन होने लग जाती है| इसकी वजह यह है कि AMP version page में Standard version Page में जो main content मौजूद होता है सिर्फ वही दिखाया जाता है| इसमें जो भी extra Widgets और contents होते है वह अपलोड नहीं होते| Google report के अनुसार जिन वेबसाइट की स्पीड fast होती है उन पर traffic भी काफी ज्यादा आता है| इस तरह AMP वेबसाइट की SEO में भी मदद करता है|

अभी तक आप समझ चुके होंगे कि गूगल AMP क्या है और यह हमारी वेबसाइट के mobile version के लिए कितना ज्यादा महत्वपूर्ण है तो चलिए अब हम आपको गूगल AMP के क्या फायदे हैं और गूगल AMP के क्या नुकसान है उसके बारे में बताते हैं।

Google AMP को कैसे Setup करें?

अपनी वेबसाइट में Google AMP को setup करना बहुत ही ज्यादा आसान है| अगर आपकी वेबसाइट wordpress में है तो आप नीचे बताए गए steps को follow करके अपनी वेबसाइट पर Google AMP को setup कर सकते हैं।

Plugin Install

सबसे पहले आपको अपनी वर्डप्रेस वेबसाइट में Accelerated Mobile Pages को इंस्टॉल करना होगा फिर plugin को activate कर लेना होगा| 

Customize AMP

अब आपको wordpress की left side में  AMP का Option दिखाए देगा आपको उस ऑप्शन पर क्लिक करना है| वह पर आपको कॉन्फ़िगर में सारी ओप्तिओंस दिखाए दे जाएँगी आपको जिस ऑप्शन को configure करना है सिर्फ उसी पर क्लिक करना है| 

AMP General Setting

AMP Plugin Site में आप logo भी लगा सकते हैं और साथ ही Google Analytical Tracking भी लगा सकते हैं| इसके अलावा अगर आप कोई और सेटिंग करना चाहते हैं तो वह भी आप कर सकते हैं और उसके बाद आपने Save Changes कर देना है।

AMP Advertisement

Google AMP ads के ऑप्शन मैं आपको अपने Google Adsense लगा सकते है| परंतु यहां पर आपको अपना Google Adsense का कोड नहीं लगाना बल्कि यहां पर आपको Pub Id और Data-ad-slot Id Enter करनी है| 

AMP के फायदे (Accelerated Mobile Pages | AMP Advantages in Hindi)

Website की Loading Time को Speed Up करता है|

अगर आप मोबाइल यूजर हैं और आप अपने मोबाइल में इंटरनेट का इस्तेमाल करते ही होंगे| तो आप ने यह बात जरूर नोटिस करी होगी कि जब से गूगल ने AMP को implement करा है तब से वेबसाइट का loading time मोबाइल में बहुत ज्यादा कम हो गया है और यह साथ ही यह किसी भी प्रकार के फालतू extension को load नहीं करता जिस से वेबसाइट आपके मोबाइल में fast चलती है।

किसी Website के Server Performance को बढाता है|

अगर कोई भी वेबसाइट fast खुलती है तो उस पर ट्रैफिक भी बहुत ज्यादा आता है| अगर आप वेबसाइट में AMP का इस्तेमाल करते है तो server के ऊपर ज्यादा load नहीं पड़ता और server की performance भी improve हो जाती है।

Mobile Ranking को बढ़ाने में मदद करता है|

Mobile Ranking की बात करें तो Google AMP से मोबाइल बैंकिंग directly तो improve नहीं होती है परंतु हां जब वेबसाइट की मोबाइल speed फास्ट हो जाती है तो उस पर ट्रैफिक भी ज्यादा आने लग जाता है तो इस तरह हम कह सकता कि indirectly Mobile Ranking improve होती है।

Mobile Users को Surfing करने में मदद करता है|

जब Google AMP को इंप्लीमेंट नहीं करा था तो उस समय किसी भी वेबसाइट को मोबाइल में चलाते थे तो उसको लोड होने में बहुत ज्यादा समय लगता था| परंतु जब से Google AMP को implementation करा गया है तब से वेबसाइट मोबाइल में fast load  होती है और यूजर की Surfing में मदद मिलती है।

Informational Websites के लिए ये वरदान है|

सबसे ज्यादा फायदा Google AMP का इंफॉर्मेशन वेबसाइट को हुआ है क्योंकि इंफॉर्मेशन वेबसाइट में ज्यादा videos और images नहीं होती| उसमें सिर्फ text का इस्तेमाल किया जाता है और Google AMP की वजह से फालतू के extension वेबसाइट से हट जाते हैं और वेबसाइट automatically fast हो जाती है।

AMP के नुकसान (Accelerated Mobile Pages Disadvantages in Hindi)

Cache के मदद से website की performance बढता है|

Google AMP का इस्तेमाल करने से वेबसाइट के Cache बहुत fast होता है| जिस से वेबसाइट की performance बढ़ती है| परंतु इसका नुकसान यह होता है कि वेबसाइट की Cache memory का इस्तेमाल website को स्टोर करने में हो जाता है| 

AMP Website की Analytics के ऊपर ख़राब प्रवाह डालता है|

Google AMP, Google Analytics को support जरुर करता है लेकिन Google Analytics को implement करने के लिए AMP pages में बहुत सारे अलग अलग tags का इस्तमाल करना पड़ता है जो कि इतना आसन नहीं होता है| इसके अलावा google AMP वेबसाइट में Google Analytics के usage को कम कर देता है| जो की website के ऊपर ख़राब प्रभाव डालती है|

Advertisement Revenue को कम करता है| 

जिन वेबसाइट पर Advertisement चल रही है| वेबसाइट के लिए AMP का इस्तेमाल करने से बहुत ज्यादा नुकसान होता है क्योंकि वेबसाइट में अगर AMP का इस्तेमाल करते हैं तो AMP की वजह से वेबसाइट में Advertisement बहुत ही कम होती है| जिससे Advertisement में काफी ज्यादा घाटा आता है और इससे Blogger की earning पर भी काफी ज्यादा बुरा असर पड़ता है।

E Commerce Website के लिए ठीक नहीं है|

E Commerce website में कभी भी AMP का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए क्योंकि E Commerce website में सबसे ज्यादा Ads show होती है और साथ ही वेबसाइट में products को show करने के लिए images का ज्यादा इस्तेमाल किया जाता है और text का कम इस्तेमाल किया जाता है| अगर वेबसाइट में AMP का इस्तेमाल करते हैं तो यह सारी चीजें हट जाती है जिस से वेबसाइट पर बहुत ज्यादा असर पड़ता है| 

Ranking Factor इसके ऊपर निर्भर नहीं करता|

गूगल ने यह बात साफ़ कर दी है कि AMP का वेबसाइट की रैंकिंग पर कोई भी असर नहीं पड़ता है| अगर आप एक Blogger है और सोच रहे हैं कि AMP का इस्तेमाल करने से आपके Blog की Ranking Improve हो जाएगी तो यह बिल्कुल गलत है| आपको अपनी जरूरत के अनुसार ही AMP का इस्तेमाल करने के बारे में सोचना चाहिए| 

अगर आपको लगता है कि आपकी वेबसाइट के लिए AMP जरूरी है तो आप को AMP का इस्तेमाल करना चाहिए और अगर नहीं लगता है तो आपको  AMP का इस्तेमाल अपनी वेबसाइट वेबसाइट में नहीं करना चाहिए| क्यूंकि इस से वेबसाइट की ranking पर कोई भी फर्क नहीं पड़ता है|

गूगल AMP SEO के लिए कैसे महत्वपूर्ण है?

हमारे देश में ऐसे बहुत से एरिया ऐसे है जहां पर इंटरनेट की speed बहुत कम होती है और वहां पर इंटरनेट की speed कम होने की वजह से जब आप अपने सिस्टम में या मोबाइल में किसी वेबसाइट को open करते हैं तो वहां पर Low Connection Speed होने की वजह से आप की वेबसाइट जल्दी से ओपन नहीं हो पाती| 

गूगल के survey के मुताबिक यह पाया गया कि कोई भी यूजर किसी वेबसाइट के ओपन होने के लिए 2 -3 Seconds ही इंतज़ार करता है| अगर वेबसाइट ओपन होने के लिए उससे ज्यादा समय लेती है तो user वेबसाइट को बंद कर के दूसरी वेबसाइट पर चला जाता है| आपकी वेबसाइट पर High Quality Content होने के बावजूद भी users दूसरी वेबसाइट पर चले जाते है| अगर आप अपनी वेबसाइट में AMP का इस्तेमाल करते हैं तो आपकी वेबसाइट में loading time कम हो जाएगा और आपकी वेबसाइट 1 Second से पहले ही ओपन हो जाएगी| 

अगर आपकी वेबसाइट स्पीड फास्ट होगी तो उस पर अच्छा traffic भी आएगा और इससे यूजर का Browsing experience भी अच्छा हो जाएगा और इस चीज का सीधा signal गूगल हो जाता है| गूगल को लगता है कि किसी वेबसाइट पर बहुत ज्यादा traffic आ रहा है गूगल वेबसाइट की SEO को भी सपोर्ट करता है क्योंकि गूगल User experience के ऊपर ही काम करता है इसलिए हम कह सकते हैं कि गूगल का वेबसाइट की SEO पर असर पड़ता है| 

Small Businesses में AMP का उपयोग

अभी तक आप समझ गए हैं कि Google Accelerated Mobile Page (AMP) क्या है| अगर आप एक Developer है तो आपके लिए गूगल AMP को अपनी वेबसाइट में implement करना बहुत ही ज्यादा आसान है| लेकिन अगर आप एक Businesses Owner है तो आप के लिए गूगल AMP  को अपनी वेबसाइट में इस्तेमाल करना उतना ही ज्यादा मुश्किल है क्योंकि गूगल AMP को वेबसाइट में implement करने के लिए आपको technical knowledge होनी चाहिए| तो आज हम आपको कुछ ऐसे method mention करने जा रहे हैं जिस से आप गूगल AMP को अपनी वेबसाइट में implementation कर सकते हैं| 

Coding It Directly

यह method सबसे ज्यादा कठिन है क्योंकि coding को अपनी वेबसाइट में implement करने के लिए आपको अपनी वेबसाइट की coding को edit करना होगा| आप अपनी वेबसाइट में coding को तब ही edit कर सकते हैं अगर आपको HTML, CSS और JavaScript के बारे में अच्छी knowledge होगी।

Using a Content Management System

हम आपको बताना चाहेंगे कि अब मार्केट में कुछ CMS platform आ गए हैं जो कि गूगल AMP को support करते हैं जैसे कि wordpress अगर wordpress का इस्तेमाल करते हैं तो उसमें AMP को इस्तेमाल करना बहुत ही ज्यादा आसान है| इसके अलावा Joomla, Drupal platform में भी AMP इंप्लीमेंटेशन आसानी से कर सकते हैं।

WordPress, Drupal, & Joomla

अगर आपकी वेबसाइट WordPress में है तो AMP Plugin का इस्तेमाल कर के अपनी वेबसाइट के post को AMP में translate कर सकते हैं और अगर आपकी वेबसाइट Drupal में है तो आप Drupal AMP module का इस्तेमाल कर सकते हैं और अगर आपकी वेबसाइट Joomla में बनी हुई है तो आप wbAMP का इस्तेमाल कर सकते हैं।

यह बात तो बिल्कुल सही है की speed हर website के लिए बहुत ही important factor होता है चाहे वह वेबसाइट छोटी हो या बड़ी| अगर उस वेबसाइट की speed fast नहीं है तो उस पर users भी बार बार आना पसंद नहीं करता है| इसलिए Google Amp को launch किया गया है ताकि website की speed को fast किया जा सके और वेबसाइट को मोबाइल यूजर के लिए fast किया जा सके| इसलिए हमें ऊपर बताए गए सभी बातों को ध्यान में रखते हुए यह सोचना चाहिए कि हमें अपनी वेबसाइट के लिए Google Amp का इस्तेमाल करना चाहिए या नहीं।

Conclusion

अब आप जान चुके होंगे कि Google AMP क्या है, Google AMP कैसे काम करता है, Google AMP को setup कैसे करना चाहिए, Google AMP को किन वेबसाइट पर इस्तेमाल करना चाहिए, Google AMP के फायदे क्या है, Google AMP के नुकसान क्या है| उम्मीद करते हैं कि हमारे द्वारा शेयर करी गई जानकारी आपके लाभदायक सिद्ध होगी| अगर आपको हमारे द्वारा शेयर करी गई जानकारी से संबंधित कोई भी डाउट हो तो आप हमें नीचे कमेंट बॉक्स में कमेंट कर सकते हैं|

यह भी पढ़े:

One Time Password (OTP) क्या है?

नेटवर्क क्या है और नेटवर्क कितने प्रकार के होते है?

Airtel Sim का Number कैसे पता करे?

Social Media क्या है? 

FAQ (Frequently Asked Questions)

क्या AMP का प्रयोग करने से वेबसाइट की रैंकिंग में बढती है?

अगर हम सीधे तौर पर बात करें तो AMP का इस्तेमाल करने से directly वेबसाइट की रैंकिंग improve नहीं होती है| परंतु वेबसाइट की page speed improve हो जाती हैं| जिस से वेबसाइट पर ट्रैफिक बढ़ जाता है तो हम कह सकते हैं कि indirectly वेबसाइट की रैंकिंग improve होती है।

किस प्रकार की वेबसाइट के लिए AMP सही है?

जिन वेबसाइट पर सिर्फ information प्रदान की जाती है उन पर AMP का इस्तेमाल करना सही होता है| जैसे की news website या blogging website. क्योंकि इन पर ज्यादा से ज्यादा text का इस्तेमाल किया जाता है।

किस प्रकार की वेबसाइट में AMP का प्रयोग नहीं करना चाहिए?

जिन वेबसाइट पर images और अच्छा look का इस्तेमाल किया जाता है उन पर AMP का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए क्योंकि ऐसी बड़ी वेबसाइटों को AMP स्माल size साइज में convert कर देता है| Affiliate वेबसाइट, E-Comers वेबसाइट, या बिज़नस वेबसाइट पर AMP का इस्तेमाल बिल्कुल भी नहीं करना चाहिए क्योंकि ऐसी वेबसाइट की Advance Customization show होना बंद हो जाती है जिससे Conversation रेट कम हो जाता है|

AMP क्या करता है?

AMP वेबसाइट के web pages को Mobile Version में बदल देता है|

AMP की Full Form क्या है?

AMP का Full Form Accelerated Mobile Pages होता है|

Leave a Comment

Your email address will not be published.

Scroll to Top