मात्र 5 मिनट में घर बैठे ITR कैसे भरे?

दोस्तों क्या आप भी जानना चाहते हैं Income Tax Return (ITR) कैसे भरते हैं| Income Tax Return का मतलब क्या होता है| आज हम आपको अपनी पोस्ट के जरिए इनकम टैक्स 2021-22 कैसे भरते हैं उसके बारे में बताने जा रहे हैं। ITR का मतलब होता है Income Tax Return. Income Tax Return हर एक व्यक्ति को भरना होता है और यह पैसा सीधा सरकार के पास जाता है| Income Tax Return के नाम से यह तो पता चल गया होगा कि इसका सम्बन्ध पैसे से होता है और यह सारा पैसा सरकार के पास चला जाता है जिससे देश का विकास होता है| 

परंतु देश में ऐसे अभी भी बहुत सारे लोग हैं जो इनकम टैक्स रिटर्न नहीं भरते हैं जो कि बिल्कुल गलत बात है| हम सब लोगों को इनकम टैक्स रिटर्न भरना चाहिए और देश के विकास में अपना योगदान डालना चाहिए। अगर आप इनकम टैक्स रिटर्न भरते हैं तो बहुत ही अच्छी बात है परंतु अगर आप इनकम टैक्स नहीं भरते हैं तो आपको जरूर भरना चाहिए और आज के इस पोस्ट में हम आपको बताएंगे की ITR कैसे भरे जाता है और आपको बताएंगे कि ITR रजिस्ट्रेशन कैसे करें?

ITR File कौन लोग कर सकते हैं?

सबसे पहले हम आपको बताना चाहेंगे कि इनकम टैक्स रिटर्न आप ऑफलाइन और ऑनलाइन दोनों तरीके से भर सकते हैं| परंतु इसमें भी कुछ कंडीशन लगाई गई हैं अगर आपकी इनकम 5 लाख से ज्यादा है तो आप को इनकम टैक्स ऑनलाइन फाइल करना जरूरी है और अगर आपकी इनकम 5 लाख से कम  है आप इनकम टैक्स ऑफिस में जाकर आईटीआई फॉर्म भर सकते हैं| हम आपको बताना चाहेंगे कि अगर आपकी annual income 2.5 lakh से ज्यादा है तो आपको income tax भरना होता है और अगर आपको income 2.5 lakh से कम है तो आपको टैक्स भरना होता| परंतु अगर आप चाहे तो आप zero बैलेंस के साथ इनकम टैक्स रिटर्न भर सकते हैं इससे आपको यह फायदा होगा कि आप अपनी इनकम के बारे में सरकार को जानकारी दे रहे हैं| 

Income Tax Return कब भरी जाती है?

आपको बताना चाहेंगे कि इनकम टैक्स रिटर्न आपकी सालाना Income के हिसाब से ही भरी जाती है और यह साल में एक बार भरी जाती है| आपको अपनी इनकम टैक्स रिटर्न 31 जुलाई तक भरनी होती है| अगर आप चाहे तो उस से पहले भी भर सकते हैं परंतु उसके बाद भर नहीं सकते हैं।

ITR भरने की प्रकिया

सरकार ने इस साल इनकम टैक्स रिटर्न भरने की प्रक्रिया में कुछ बदलाव किए हैं। सरकार ने इस साल महिला और पुरुष के लिए इनकम टैक्स रिटर्न उम्र 60 वर्ष है और उनकी सालाना इनकम 2.5 लाख से कम है| उनके लिए उनको उन्हें कोई भी टैक्स नहीं लगता है और वही अगर उनकी उम्र 60 वर्षीय से ज्यादा है और इनकम 3 लाख है तो कोई भी टैक्स नहीं लगता और वहीं अगर उम्र 80 साल से ज्यादा है तो उनको 5 लाख की इनकम तक कोई भी टैक्स नहीं लगता है।

Income Tax Return भरने के लिए कौन कौन से Documents जरुरी है?

  • PAN Card
  • Aadhaar Card
  • Bank Account details: इसमें बैंक का IFSC नंबर दिया जाता है इसी से refund का पैसा आपके account में आता है.
  • TDS certificates ( Form 16, 16A, 26AS इत्यादि.)
  • Bank और Post office का interest certificate
  • Salary Income Slip
  • ये तो थे documents जो आपको ITR कैसे फाइल करें के लिए जरुरी हैं।

Form 16, 16A, 26AS की जानकारी

यह एक TDS सर्टिफिकेट होता है| जो कंपनी अपने कर्मचारियों को जारी करती है| यह फॉर्म सिर्फ उन्हीं कर्मचारियों को दिया जाता है जिन्हें हर महीने कंपनी से सैलरी मिलती है| इस फॉर्म में आपकी सैलरी से जो TDS पिछले financial year में काटा गया होता है वह इसमें दर्ज हो जाता है|  सैलरी पाने वाले कर्मचारी को हर साल यह फॉर्म भरना जरूरी होता है|

इस फॉर्म को दो भागों में बांटा गया है Part A और Part B. Part A में आपकी सैलरी से जो TDS काटा गया है उसकी डिटेल रहती है और Part B में आपकी सैलरी का break-up details मौजूद रहता है। मान लीजिए अगर आप ने अपना घर या जमीन किसी को बेचा है तो खरीदार यह form 16 B जारी करवाएगा जिसमें बताया गया होगा कि जब उसने आपको भुगतान किया था तो उसने कितना TDS कटवाया था|

Form 26AS

इस Form की मदद से आप यह पता लगा सकते हैं कि company या बैंक ने आपका जो TDS काटा है वह सरकार के पास जमा करवा दिया गया है या नहीं| इसकी जानकारी लेने के लिए incometaxindiaefiling.gov.in वेबसाइट में जा कर पता कर सकते हैं वहां आपको View Form 26AS की ऑप्शन पर क्लिक करना होगा अगर आप उस में registered है यह तभी मुमकिन है| 

ITR Form के प्रकार

ITR 1

इस फार्म को SAHAJ form भी कहा जाता है। यह फॉर्म उन व्यक्तियों के लिए है जिनकी सैलरी, पेंशन, कैपिटल गेन, जैसे कि म्यूच्यूअल फंड, शेयर मार्केट, ज्वेलरी, या मकान के किराए से सालाना इनकम 5 lac तक की होती है।

ITR 2

यह फॉर्म उन व्यक्तियों और हिंदू अविभाजित परिवार (HUF) के लिए होता है| जिनकी सैलरी ₹5000000 से ज्यादा होती है| इसके अलावा जिनकी income  हाउस प्रॉपर्टी या विदेश से कोई कमाई हो रही है तो उसके लिए भी उन्हें यह फॉर्म भरना होता है| 

ITR 3

यह फॉर्म उन व्यक्तियों के लिए होता है जो बिजनेस कर रहे हैं या फिर किसी दुसरे Profession से पैसा कमा रहे हैं| इसके अलावा जो लोग लॉटरी से पैसा जीते हैं उनको भी यह फोन करना जरूरी होता है।

ITR 4

यह फॉर्म सभी प्रोफेशन जैसे कि डॉक्टर, वकील, CA के लिए होता है| इसके अलावा अन्य व्यक्ति जो व्यापार में पार्टनर के साथ प्रोफेशनल income करता है उसे भी फॉर्म भरना जरूरी होता है| 

ITR 4S

यह फॉर्म उन व्यक्तियों के लिए होता है जिनकी सालाना इनकम 60 lakh से ज्यादा होती है उन्हें यह फॉर्म भरना होता है।

2021-22 Income Tax Return कैसे भरे?

जैसे कि अभी तक हमने ITR भरने के सभी तरीकों के बारे में बता दिया है| जैसे कि हमने बताया था कि ITR दो तरीके से भर सकते हैं Offline और Online.  अगर आप Offline तरीके से ITR भरना चाहते हैं तो उसके लिए आपको ITR का फॉर्म या तो इंटरनेट से डाउनलोड करना होगा नहीं तो आप बाजार से इस फॉर्म को खरीद कर इसमें पूछी गई जानकारी को भरकर इनकम टैक्स के ऑफिस में जाकर जमा करा सकते हैं| याद रहे Offline ITR सिर्फ उन्हीं व्यक्तियों के लिए है जिनकी इनकम 2.5 लाख से कम है यहां वह senior citizens है|

Online ITR कैसे भरते हैं? (ITR फाइल करने के आसान तरीके)

अब हम आपको Online ITR कैसे भरते हैं उसके बारे में जानकारी शेयर करने जा रहे हैं

Registration कराएं

  • सबसे पहले आपको इनकम टैक्स डिपार्टमेंट की आधिकारिक वेबसाइट incometaxindiaefiling.gov.in पर जा कर रजिस्ट्रेशन करना होगा| अगर आपका पहले से ही रजिस्ट्रेशन हो चुका है तो आपको दोबारा जेस्टेशन करने की जरूरत नहीं होगी। 
  • वेबसाइट पर जाने के बाद आपको दाहिने side में ऊपर की तरफ “New to e-Filing की ऑप्शन दिखाई देगी और उस के बिलकुल ठीक नीचे Register Yourself की ऑप्शन पर क्लिक करना होगा| 
  • उसके बाद आपको अपनी सारी डिटेल जैसे कि PAN card नंबर, नाम, जन्मतिथि, residential status इत्यादि  भरना होगा| अगर आप अपनी गलत इंफॉर्मेशन भर देते हैं तो आपको आगे जाकर काफी मुश्किलों का सामना करना पड़ सकता है| 
  • सारी जानकारी भरने के बाद आपका अकाउंट create हो जाएगा और आप के मोबाइल नंबर, ईमेल आईडी पर एक code भेजा जाएगा| फिर आपके ईमेल में एक लिंक भेजा जाएगा आपको उस लिंक पर क्लिक करना होगा और वहां पर code देना होगा जिससे आपको अपने अकाउंट को वेरीफाई कर देना होगा| 
  • अपने अकाउंट को verify करने के बाद आपको screen पर यूजर आईडी और पासवर्ड दिखाई देगा जो कि आप के मोबाइल नंबर और ईमेल आईडी पर पहले से ही भेज दिया गया होगा| 
  • इसके बाद आप Online ITR फाइल करने की प्रक्रिया शुरू कर सकते हैं| उसके लिए आपको वेबसाइट में login करना होगा| वहां पर आपका user id आपका PAN नंबर होता है और पासवर्ड PAN Card में मौजूद Date of Birth होता है|

Form 26AS डाउनलोड करें

  • यह जैसे ही आप वेबसाइट पर रजिस्ट्रेशन कर लेते हैं तो सबसे पहले आपको Form 26AS को डाउनलोड करना होगा| यह वही फॉर्म होता है जिस से कंपनी द्वारा काटे गए TDS की जानकारी प्राप्त की जा सकती है। 
  • Form 26AS को डाउनलोड करने के लिए सबसे पहले आपको वेबसाइट में लॉग इन करना होगा| जहां पर पैन कार्ड का नंबर आपका यूजर आईडी होगा और डेट ऑफ बर्थ आपका पासवर्ड होगा। 
  • उसके बाद आपको माय Account की ऑप्शन पर क्लिक करना होगा| उसको और वहां पर आपको View Form 26AS की ऑप्शन पर क्लिक करना होगा। जैसे ही आप View Form 26AS पर क्लिक करते हैं आपके सामने एक नया भेज ओपन हो जाएगा जहां पर आपको View Tax Credit की ऑप्शन दिखाई देगी जिस पर आपको क्लिक करना है| क्लिक करने के बाद आपको form 26AS दिखाई दे जाएगा। 
  • आपको जिस assessment year के TDS के बारे में जानकारी चाहिए उसे क्लिक करें और View as HTML की ऑप्शन को सिलेक्ट करें| जैसे ही आप ऑप्शन को सिलेक्ट करते हैं तो आपको नीचे की ओर view/download का ऑप्शन दिखाई देगा| जिस पर आपको क्लिक करना होगा। क्लिक करते ही आपका form डाउनलोड हो जाएगा| जहां से आप अपने TDS की जानकारी को देख सकते हैं| 

ITR फ़ार्म कैसे डाउनलोड करें?

  • ITR form download करने के लिए आपको वेबसाइट की left side में Quick Menu ऑप्शन दिखाई दे रही होगी| उस ऑप्शन पर क्लिक करने के बाद आपको जिस assessment year का ITR File चाहिए होगा उसके Download ITR link पर क्लिक करना होगा| अगर आप नौकरी करते हैं तो आपको form ITR 1 सेलेक्ट करना होगा और अगर आप रोजगार करते हैं तो आपको ITR 4 form को भरना होगा। 
  • फॉर्म में पूछी हुई सारी जानकारी को आप को पहले से ही इकट्ठा करके रख लेना है और सभी instruction को अच्छे से पढ़ लेना है। 
  • फिर आप अपनी सारी डिटेल को भरना होगा जैसे कि नाम, Address, Date of Birth, मोबाइल नंबर, ईमेल आईडी और Residential Address. इसके साथ ही आपका TDS कटा गया है वह दिखाना होगा| अगर आप कोई एडवांस tax भर रहे है तो आपको वह भी दिखाना होता है| साथ ही आपको अपने बैंक अकाउंट डिटेल को भी भरना होता है जैसे कि account नंबर, account type, IFSC code इत्यादि।

अपनी डिटेल को Validate करें

आप की डिटेल्स को validate करने का मतलब होता है कि आपने जो भी डिटेल शेयर करी है वह सही है या नहीं| उसे सबमिट करने से पहले आपको एक बार चेक कर लेना जरूरी होता है| इससे आपको यह पता चल जाता है कि आपकी कोई जानकारी छुट तो नहीं गई है| अगर आपकी कोई जानकारी छूट गई है तो आप वैलिडेट वाले ऑप्शन पर क्लिक करने पर आपको पता चल जाएगा कि आपकी कोनसी इनफार्मेशन छूट गई है तो आप उसे भर सकते हैं।

अपनी Tax Liability Calculate कर लें

अपने सारी डिटेल भरने के बाद आपको Calculate tax के बटन पर क्लिक करना होता है| जहां पर आप अपनी आमदनी की डिटेल भर सकते हैं और यह चेक कर सकते हैं कि आप को इस साल कितना टैक्स भरना है| यहां पर सबसे पहले आपको assessment year को चुनना होगा और अपनी डिटेल्स को भरना होगा और पांचवें स्थान पर Income from salary की ऑप्शन को भरे जो आपके income slip में दिया गया रहता है या आपके form 16 में भी मौजूद रहता है| 

आपकी income source salary के अलावा अगर आपको कहीं और से भी इनकम होती है तो उसके बारे में भी डिटेल को भरना होता है| यह सारी डिटेल भरने के बाद आपकी Net Taxable income आपको पता चल जाएगी और आपको कितनी राशि जमा करनी होती है और चालान डिटेल return form में भरना होता है|

XML File Generate करें

जैसे ही आप अपना आइटीआर फॉर्म और टैक्स भर देते हैं तो आपको Generate XML के बटन पर क्लिक करना होता है और यह फाइल आपके कंप्यूटर में save करना होता है| जिसमें आप के द्वारा भरे हुए टैक्स की जानकारी आपके पास proof के तौर पर रहती है| 

ITR Submit करें

  • आपको अपना आइटीआर सबमिट करने के लिए इनकम टैक्स की वेबसाइट पर जाना होगा| वहां पर आपको e-file की ऑप्शन पर क्लिक करना होगा और फिर आपको Income Tax Return की option पर क्लिक करना होगा। 
  • इसके बाद आपको assessment year का ऑप्शन चुनना होगा और ITR form भरना होगा| फिर आपको आइटीआर फॉर्म का नाम सेलेक्ट करना होगा जो कि आपकी सैलरी पर के अनुसार आपको चुनना होगा| अगर आप सैलरी पाने वाले व्यक्ति हैं तो आपको ITR 1 चुनना होगा। 
  • उसके बाद आपको Submission Mode चुनना होगा यहां पर आपको Upload XML और Prepare and Submit online का ऑप्शन मिलेगा| आपको Submission Mode को चुनना होगा क्योंकि आप ने पहले ही आईटीआई फॉर्म भरने के बाद Generate XML कर लिया है तो आपको फाइल को Submission Mode में XML File को अपलोड करना होगा। 
  • अपलोड करते ही आपको आइटीआर को वेरीफाई करना होगा। आइटीआर वेरीफाई करने के लिए आपको ITR-V generate होता है जो कि आपके ईमेल आईडी में भेज दिया गया होता है।

ITR-V Income Tax Department को भेजें

  • आपको अपने ITR-V के फॉर्म का प्रिंट आउट निकालना होगा और उस प्रिंटआउट पर आप ने साइन नीले रंग के पेन के साथ sign करने होंगे और उसे सिंपल पोस्ट यहां स्पीड पोस्ट से Centralised Processing Centre, Income Tax department Bengaluru, 560500 पर भेजना होगा। 
  • एक बात का ध्यान रहे कि आपको अपना ITR फॉर्म 120 दिन के अंदर अंदर कार्यालय में पहुंचा देना होगा ताकि है आपके टैक्स फीलिंग की प्रक्रिया को पूरी कर सके। 
  • जैसे ही इनकम टैक्स डिपार्टमेंट को आपके द्वारा भेजा हुआ फॉर्म मिल जाता है तो वे उसे वेरीफाई करके आपके मेल में इन्फॉर्म कर देते हैं कि आपका ITR-V verify हो गया है|

क्या ITR ऑनलाइन फाइल करना अनिवार्य है?

  • यह जिस व्यक्ति की सालाना इनकम 500000 या उससे अधिक है या HUF (हिंदू अविभाजित परिवारों) हो या वह लोग जो टैक्स रिफंड का दावा करते हैं उन्हें ऑनलाइन ही आईटीआर फाइल करना होता है| इसके अलावा जिनकी उम्र 80 वर्ष या उस से अधिक है वह ITR 1 और ITR 4  फाइल करने के लिए मैन्युअल यहां इलेक्ट्रॉनिक तरीके से ITR भरने के विकल्प का चुनाव कर सकते हैं। 
  • हर एक कंपनी को डिजिटल सिग्नेचर इलेक्ट्रॉनिक्स रूप में ITR फाइल करना जरूरी होता है। 
  • किसी भी व्यक्ति या एचयूएफ जिसका धारा 420 के तहत ऑडिट होना है उसको ITR फाइल करना जरूरी होता है। 
  • जिस व्यक्ति ने इनकम टैक्स एक्ट 1961 की धारा 90 90 91 के तहत टैक्स में छूट का दावा किया है उसे ऑनलाइन ITR करना जरूरी होता है। 
  • जिन भारतीयों की देश से बाहर प्रॉपर्टी है उन्हें इलेक्ट्रॉनिक रूप से ITR रिटर्न जमा करना होता है।

ITR स्टेटस को ऑनलाइन कैसे चेक करें

अपना ITR File करने के बाद आप अपने ITR status को track कर सकते हैं| इसके लिए 2 तरीके  हैं। 

Acknowledgement नंबर का उपयोग करके (Login Credentials के बिना)

  • सबसे पहले आपको Income Tax Deptt की अधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा और वहां होम पेज पर Services Tab के अंदर ITR status के ऑप्शन पर क्लिक करना होगा। 
  • जैसे ही आप ITR status के ऑप्शन पर क्लिक करते हैं| आप एक नए पेज पर चले जाते हैं जहां पर आपको अपना पैन नंबर, ITR Acknowledgement नंबर और कैप्चा कोड को भरना होगा। 
  • सारी जानकारी सबमिट करने के बाद आपके डिवाइस की स्क्रीन पर ITR status दिखाई दे जाएगा।

Username और Password का उपयोग करके

  • सबसे पहले आपको ITR e-फाइलिंग के पोर्टल पर लॉग इन करना होगा। 
  • लोगिन करने के बाद आपको Dashboard पर View Returns/Forms का ऑप्शन दिखाई देगा उस पर आपको क्लिक करना होगा। 
  • क्लिक करने के बाद आपको drop down-menu में ITR का विकल्प और एसेसमेंट ईयर की ऑप्शन को चुनना होगा और सबमिट करना होगा। 
  • सारी जानकारी सबमिट करने के बाद आपको ITR status स्क्रीन पर दिखाई दे जाएगा| 

आयकर रिटर्न भरने के फायदे

कुछ समय पहले ITR File करना एक बहुत ही मुश्किल काम होता था परंतु जब से ITR ई फाइलिंग शुरू हुई है तब से यह काम बहुत आसान हो गया है| अब आप ऑनलाइन भी अपना ITR File कर सकते हैं| इसके लिए आपको सबसे पहले अपने अकाउंट में लॉग इन करना होगा और login करने के बाद आपको e-File तब पर क्लिक करना होगा और Income Tax Return के ऑप्शन को चुनना होगा। 

  • आपको अपना ITR File हर साल 31 मार्च तक भर देना चाहिए| आपको अपना आइटीआर फाइल एक दो महीने पहले ही भर देना चाहिए| इसका फायदा यह होगा कि एक से एक तो आपका काम पूरा हो जाता है और साथ ही अगर आप अंत के दिनों में फाइल करते हैं तो उस समय वेबसाइट के busy होने की संभावना भी बनी रहती है। 
  • अगर आप अपना ITR File समय पर नहीं करते हैं तो आपको हर दिन का जुर्माना पड़ता रहता है जब तक आप अपना ITR File नहीं करते हैं| Online ITR File होने से आप समय पर और कहीं से भी अपना आईटीआर फाइल कर सकते हैं। 
  • Online ITR करने का फायदा यह भी है कि आप अच्छे ढंग से इनकम टैक्स विभाग के साथ अपनी ट्रांजैक्शन की जानकारी शेयर कर रहे हैं| आपको जब भी किसी बैंक से अगर loan की जरूरत पड़ती है तो आप अपनी Online ITR की मदद से बड़ी ही आसानी से उस loan को approve करवा सकते हैं।

समय पर ITR File ना करने से क्या होगा?

  • अपना ITR File भरने की आखिरी तारीख 31 जुलाई होती है| आपको 31 जुलाई से पहले अपना ITR file भरना चाहिए| 
  • अगर आप किसी वजह से अपना ITR File भरने में देरी कर देते हैं तो आपको जुर्माना पड़ सकता है| अगर आप ITR 1 अगस्त से 31 दिसंबर के अंदर फाइल करते हैं तो आपको 5000 तक का जुर्माना पड़ सकता है| 
  • अगर आपकी सालाना इनकम 5 lakh से कम है तो आपको 1000 रुपये तक का जमाना पड़ सकता है। अगर आप 1 जनवरी से 31 जनवरी तक का रिटर्न फाइल करते हैं तो आपको 10000 रुपये तक का जुर्माना भरना होता है| 

यह भी पढ़े:

What is Finance in Hindi?

बिटकॉइन में कैसे निवेश करें?

High Earning Business ideas in Hindi

EMI क्या है?

FAQ (Frequently Asked Questions)

क्या पैन कार्ड के बिना आयकर रिटर्न फाइल कर सकते है?

जी हाँ, बिलकुल आप पैन कार्ड के बिना अपने आधार का उपयोग करके अपना आयकर रिटर्न फाइल कर सकते है| 

Leave a Comment

Your email address will not be published.

Scroll to Top