इंटरनेट की खोज किसने की और कब?

दोस्तों क्या आप जानते हैं कि इंटरनेट की खोज किसने की और इंटरनेट की खोज कब हुई थी? अगर आपको इसके बारे में बिल्कुल भी जानकारी नहीं है तो आज हम आपके साथ यह जानकारी शेयर करने जा रहे हैं। हम आपको बताना चाहेंगे कि पहली बार इंटरनेट की खोज Vint Cerf और Bob Khan द्वारा की गई थी| यही वजह है कि इन दोनों को इंटरनेट के जनक के नाम से भी जाना जाता है| इन दोनों ने ही इस नेटवर्क पर सबसे पहले काम करना शुरू किया था जिसे आज के समय में हम इंटरनेट कहते हैं| 

साल 1978 में इन दोनों के प्रयासों की बदौलत ही Transmission Control Protocol और Internet Protocol की संरचना हुई थी| जिसे हम TCP/IP के नाम से भी जानते हैं| अगर आपके मन में इंटरनेट की खोज से संबंधित अभी भी प्रश्न है तो आप हमारे इस पोस्ट को अंत तक जरूर पढ़ें क्योंकि हम आपके साथ इस पोस्ट में इंटरनेट से जुड़ी हुई महत्वपूर्ण जानकारी शेयर करने जा रहे हैं|

इंटरनेट क्या है?

अभी भी लोगों के मन में इंटरनेट को लेकर गलत जानकारी मौजूद है| इसलिए हम सबसे पहले आपके सामने इंटरनेट के बारे में बताना चाहेंगे क्यूंकि अभी भी कुछ लोगों का मानना है कि इंटरनेट एक Web है और कुछ का कहना है कि इंटरनेट एक cloud है और परंतु ऐसा बिल्कुल भी नहीं है तो अब आप सोच रहे होंगे कि इंटरनेट आखिर में है क्या?

इंटरनेट के अविष्कार ने दुनिया में क्रांति ला कर रख दी है| जैसे कि हम जानते हैं कि आज के समय में अगर इंटरनेट कुछ समय के लिए भी चलना बंद हो जाए तो दुनिया भर में 1 मिनट में लाखों करोड़ों का नुकसान हो जाता है क्योंकि आज बहुत से बिजनेस इंटरनेट के ऊपर निर्भर हो गए हैं| वैसे इंटरनेट एक इंफॉर्मेशन लेने की टेक्नोलॉजी है जिस से हम बहुत सारी जानकारी इकट्ठा कर सकते हैं और लोगों तक पहुंचा सकते हैं क्योंकि इंटरनेट दुनिया भर में लाखों-करोड़ों लोगों के कंप्यूटर के साथ जुड़ा हुआ है| जिसकी वजह से लोग आपस में जुड़े रहते हैं और जानकारी भी आसानी से शेयर कर पाते हैं|

आज के समय में इंटरनेट का इस्तेमाल करना बहुत ही ज्यादा आसान हो गया है| जैसे कि पहले इंटरनेट का इस्तेमाल सिर्फ Desktop में किया जाता था| उसके बाद इसका इस्तेमाल Laptop में भी किया जाने लगा और आज के समय इसका इंटरनेट का इस्तेमाल smartphone में होने लग गया है| तो यही वजह है कि हमें लगता है कि जैसे इंटरनेट का कोई ज्यादा महत्व नहीं है लेकिन हम आपको बताना चाहेंगे कि इंटरनेट के चलने के पीछे बहुत सारी प्रक्रिया चलती है| तभी जाकर हम इंटरनेट को अपने लैपटॉप मोबाइल में डेक्सटॉप पर चला पाते हैं।

असल में इंटरनेट को हम एक infrastructure भी कह सकते हैं| इंटरनेट global network है जो कंप्यूटर्स को एक दूसरे के साथ interconnected करता है और एक दूसरे के साथ communicate करने में मदद करता है और यह सारी प्रक्रिया कुछ protocols के मुताबिक एक standardised तरीके से होती है| 

इंटरनेट की खोज कब हुई थी?

इंटरनेट एक ऐसी तकनीक है जो हमेशा बदलती रहती है और जो बहुत ही ज्यादा कीमती है| यही वजह है कि इंटरनेट को खोज पाना किसी एक व्यक्ति के लिए संभव नहीं है| इंटरनेट की खोज में असल में कई लोगों का हाथ है जिन्होंने इस खोज में अपना समय लगाया है| इसलिए हमें आज के समय में जो इंटरनेट की सेवा मिल रही है वह सेवा लगभग 40 से भी अधिक सालों की मेहनत का नतीजा है| 

इंटरनेट की तरक्की में काफी सारे इंजीनियर और वैज्ञानिकों का भी हाथ है| जैसे कि हम जानते हैं कि इंटरनेट हमेशा बदलता रहता है और इसे और भी बेहतर बनाने के लिए इसमें नए फीचर लाने के लिए लोग जुटे रहते हैं| आज के समय हम इंटरनेट का इस्तेमाल तो कर रहे हैं लेकिन जिस इंटरनेट का हम इस्तेमाल कर रहे हैं वह एक प्रयोग का परिणाम था| ARPANET इंटरनेट का अग्रदूत नेटवर्क था और ऐसा कुछ एक समस्या की वजह से शुरू हुआ था| 

इंटरनेट का आविष्कार किसने किया और कब?

जैसे कि हम जानते हैं कि इंटरनेट कोई मामूली सी चीज नहीं है या इंटरनेट का आविष्कार करना कोई आसान बात नहीं है| लेकिन यह बात भी बिल्कुल सही है कि मिलिट्री ने बहुत ही शुरुआती समय में अपने लिए कंप्यूटर  बना लिया था और उन्होंने विशालकाय कंप्यूटर बनाने के लिए और पहली कनेक्शन के लिए काफी फंडिंग भी की थी| 

मिलिट्री ने अपना पहला विशालकाय कंप्यूटर सन 1960 में बनाया था लेकिन अगर आप इंटरनेट के सही अविष्कारों के बारे में जानना चाहते हैं तो इंटरनेट का आविष्कार Kahn और Cerf ने किया था क्योंकि उन्होंने इंटरनेट के उस फ्रेमवर्क का अविष्कार किया था जिसका लोग आज के समय में भी इस्तेमाल कर रहे हैं और जिस पर लोग अपना भरोसा भी दिखा रहे हैं| 

यह इसके बाद Berners-Lee ने साल 1989 में World Wide Web की खोज की थी| यह वही प्लेटफार्म है जिसका इस्तेमाल आज के समय में हम इंटरनेट को चलाने के लिए कर रहे हैं परंतु यह बात मानना बिल्कुल भी गलत नहीं होगा कि ARPANET और Vinton Cerf जैसे लोगों की वजह से ही आज हम इंटरनेट चला रहे हैं| अगर यह लोग उस समय इसका अविष्कार ना करते तो शायद आज हम जो इंटरनेट चला रहे हैं वह कुछ और ही होना था| इसलिए हम कह सकते हैं कि इंटरनेट का आविष्कार का पूरा श्रेय किसी एक इंसान को देना बिल्कुल गलत होगा बल्कि हमे उन सभी लोगों के श्रेय  देना चाहिए जिन्होंने अपना श्रम और समय इंटरनेट के आविष्कारों की खोज में लगाया है| उनको इंटरनेट के आविष्कारक के रूप में मान सकते हैं| आज हम जो भी इंटरनेट का इस्तेमाल कर रहे हैं यह सब उन महान लोगों की मेहनत की वजह से ही संभव हो पाया है| 

Vint Cerf और Bob Kahn ने इंटरनेट के Global Decentralized का एक सपना देखा था| 

Vint Cerf और Bob Kahn का मानना था कि लोगों तक जानकारी हमेशा मुफ्त में पहुंचनी चाहिए| इसलिए वह इंटरनेट के इस्तेमाल से पूरी दुनिया में एक बेहतर स्थान बनाना चाहते थे| वह किसी एक देश की सरकार या देश को इंटरनेट प्रदान करने के बिलकुल खिलाफ थे| उनका मानना था कि इंटरनेट जैसी तकनीक का इस्तेमाल पूरी दुनिया के सभी लोगों को करना चाहिए और सुविधा का इस्तेमाल का लाभ दुनिया भर के सभी लोगों को उठाना चाहिए| 

Internet के अनुप्रयोग क्या है?

जब इंटरनेट का आविष्कार हुआ था तब उस समय इंटरनेट का दायरा इतना ज्यादा नहीं था| उस समय इंटरनेट का इस्तेमाल सिर्फ वैज्ञानिकों और रक्षा संबंधी कारण से संबंधित सूचनाओं के आदान-प्रदान के लिए किया जाता था| लेकिन आज के समय में इंटरनेट के उपयोग का दायरा बहुत असीमित हो गया है क्योंकि  जब से इंटरनेट आम लोगों की पहुंच में आया है वैसे वैसे इसके उपयोग का दायरा भी बढ़ता जा रहा है| आज इंटरनेट का इस्तेमाल कई चीजों में होने लगा है जैसे कि:-

  • बैंकिंग के लिए
  • ऑनलाइन पढ़ाई कर सकते हैं
  • समाचार पढ़ सकते हैं
  • किसी भी दस्तावेज़ को मेल द्वारा स्थानांतरित करने के लिए
  • मनोरंजन हेतु
  • नए दोस्त बना सकते हैं
  • एक दूसरे से बात करने के लिए
  • विज्ञापन के लिए
  • व्यापार को बढ़ावा देने के लिए।
  • आप घर बैठे शॉपिंग कर सकते हैं
  • मोबाइल, बिजली, फोन के बिल जमा किए जा सकते हैं।
  • किसी भी प्रकार की जानकारी आदि के लिए

अब आप जान चुके हैं कि इंटरनेट क्या है इंटरनेट की खोज कब हुई थी और इंटरनेट के क्या फायदे हैं? भारत में इंटरनेट की शुरआत कब हुई थी। उम्मीद करते हैं कि आपको इंटरनेट से संबंधित सारी जानकारी मिल गई होगी| अगर आपको हमारे द्वारा शेयर करी गई जानकारी से संबंधित कोई भी डाउट है तो आप हमें नीचे कमेंट बॉक्स में कमेंट कर सकते हैं|

यह भी पढ़े:

Google क्या है?

WhatsApp के डिलीट मैसेज को कैसे देखे?

Jio Phone में Play Store कैसे चलाये?

 

FAQ (Frequently Asked Question)

इंटरनेट का आविष्कार किस देश में हुआ

इंटरनेट का आविष्कार अमेरिका देश में हुआ था|

भारत में इंटरनेट की शुरुआत कब हुई थी?

भारत में इंटरनेट सेवाओं की शुरुआत 15 अगस्त 1995 को विदेश संचार निगम लिमिटेड द्वारा शुरू की गई थी|

भारत में इंटरनेट की शुरुआत कहां हुई थी?

भारत में इंटरनेट की सबसे पहले शुरुआत कोलकाता में हुई थी| यहां पर सबसे पहले इंटरनेट का इस्तेमाल किया गया था| 

Internet का फुल फॉर्म क्या है?

Internet का फुल फार्म “Interconnected Network” है।

भारत में इंटरनेट का इस्तेमाल कब आरंभ किया गया था?

भारत में इंटरनेट पहली बार 15 अगस्त 1995 में इस्तेमाल किया गया था| 

भारत में इंटरनेट पत्रकारिता का प्रारंभ कब से माना जाता है?

भारत में इंटरनेट से पत्रकारिता करने का प्रारम्भ 1993 से माना जाता है| इसी वर्ष भरता देश में इंटरनेट की शुरुआत हुई थी| इसका दूसरा चरण 2003 से हुआ था| 

 

Your Answer

Your email address will not be published.

Scroll to Top