PAN Card क्या है, क्यों जरुरी है और कैसे बनाये?

दोस्तों क्या आप जानते हैं कि PAN Card क्या है? PAN Card कैसे बनाया जाता है और PAN Card क्यों जरूरी है? सबसे पहले हम आपको बताना चाहेंगे कि पैन कार्ड एक बहुत ही जरूरी पहचान पत्र है| जिसके द्वारा किसी भी व्यक्ति की पहचान की जाती है कि वह किस देश का वासी है। 

अगर आपको पैन कार्ड के बारे में बिल्कुल भी जानकारी नहीं है तो आप घबराइए मत क्योंकि आज के इस पोस्ट में हम आपके साथ PAN Card के बारे में पूरी जानकारी शेयर करने जा रहे हैं। 

जैसे कि हमने अभी आपको बताया था कि PAN Card हर एक व्यक्ति के लिए बहुत ज्यादा जरूरी है| इसलिए हमने इसके बारे में काफी सारी रिसर्च की है और रिसर्च करने के बाद हम आपके साथ पैन कार्ड क्या है उसके बारे में जानकारी शेयर करने जा रहे हैं। 

सबसे पहले हम आपको बताना चाहेंगे कि हर एक व्यक्ति के पास अलग-अलग तरह के पहचान पत्र होते हैं जैसे कि Aadhar Card, Voter Card, Driving Licence etc. वैसे ही पैन कार्ड का भी किसी भी व्यक्ति के पास होना बहुत जरूरी है| सिर्फ भारत देश में ही इस प्रकार के पहचान पत्र नहीं बनाए जाते हैं बल्कि दूसरे देशों में भी पहचान पत्र बनाए जाते हैं| जिससे किसी भी व्यक्ति का पता लगाया जा सकता है कि वह किस देश का है| 

हर देश में अपने अलग-अलग तरह के पहचान पत्र का इस्तेमाल किया जाता है जैसे हमारे देश में पैन कार्ड का इस्तेमाल किया जाता है| इसके अलावा PAN Card का इस्तेमाल Bank संबंधित कामों के लिए भी किया जाता है| तो चलिए दोस्तों अब हम आपको बताते हैं कि PAN Card क्या होता है और पैन कार्ड कैसे बनाया जाता है? इस जानकारी को जानने के लिए हमारे इस पोस्ट को अंत तक जरूर पढ़ें।

पैन कार्ड क्या है – What is a PAN Card in Hindi

पैन कार्ड का फुल फॉर्म Permanent Account Number होता है| यह 10 अंको का unique नंबर होता है जिसका इस्तेमाल किसी भी प्रकार की Financial Transaction के लिए किया जाता है| पैन कार्ड हमें इनकम टैक्स डिपार्टमेंट की तरफ से मिलता है| PAN Card Income Tax Act,1961 के तहत भारत में laminated Card के रूप में बनता है जिसे income tax department Central Board for Direct Taxes(CBDT) की देख रेख में जारी करता है|

PAN card का इस्तेमाल income tax भरने के लिए भी किया जाता है| इसके अलावा पैन कार्ड का इस्तेमाल फाइनैंशल ट्रांजैक्शन के लिए भी होता है जैसे कि बैंक में खाता खुलवाने के लिए, धन-संपत्ति और गहने खरीदने के लिए, टैक्सेबल सैलरी पाने के लिए, इन सभी चीजों के लिए पैन कार्ड का इस्तेमाल किया जाता है| जब किसी भी आदमी के बैंक अकाउंट के साथ पैन कार्ड attach कर दिया जाता है तब उस कार्ड में अकाउंट होल्डर की सारी जानकारी मौजूद रहती है। पैन कार्ड देखने में बिल्कुल डेबिट कार्ड और क्रेडिट कार्ड के जैसा ही होता है परंतु इसमें आपके नाम, पिता का नाम, आपके signature, date of birth और आपका photo इस card के ऊपर छपे होते हैं।

PAN Card का Full Form क्या है?

PAN Card का Full Form Permanent Account Number है|

पैन कार्ड को हिंदी में क्या कहते हैं?

पैन कार्ड को हिंदी में स्थाई खाता संख्या कहा जाता है।

PAN Card में 10 Digit का Alphanumeric Number का क्या मतलब होता है?

जैसे कि हमने आपको अभी बताया था कि पैन कार्ड में 10 डिजिट का alphanumeric नंबर होता है| जैसे कि RRAPK9109B इसमें पहले पांच अक्षर English के होते हैं और उसके 4 अगले अक्षर numerical होते हैं और फिर आखिर में एक alphabet होता है| इन सभी का क्या मतलब है इसके बारे में हम अब आपको बताने जा रहे हैं।

पैन कार्ड में पहले 3rd अक्षर alphabet सीरीज के होते हैं जो कि A से लेकर Z तक होते हैं| यह 3rd अक्षर कुछ भी हो सकते हैं| 

उसके बाद 4th अक्षर जो कार्ड पर छपा होता है वह सबसे ज्यादा महत्वपूर्ण होता है जो कि व्यक्ति की स्थिति की पहचान बताता है| ज्यादातर पैन कार्ड पर 4th अक्षर P रहता है| जिसका मतलब person होता है और दूसरे 9 अक्षर जो पैन कार्ड पर 4th character का वर्णन करते हैं वह इस प्रकार है।

  • A – Association of Persons
  • B – Body of Individuals
  • C – Company
  • F – Firm
  • G – Government
  • H – Hindu Undivided Family
  • L – Local Authority
  • J – Artificial Juridical Person
  • T – Trust

अगर पैन कार्ड personal है तो 5th अक्षर पर्सन का या तो last name या surname का पहला letter होता है| जैसे कि अगर आपका नाम Rohit Kumar है तो पैन कार्ड का 5th अक्षर K होगा और वही अगर पैन कार्ड किसीtrust, organization, company, government के लिए है तो उसके नाम का पहला letter 5th अक्षर होता है।

पैन कार्ड पर 6th अक्षर 0001 से लेकर 9999 तक रेंडम नंबर्स होते हैं जो कि कोई भी चार नंबर हो सकते हैं। 

दसवां अक्षर पैन कार्ड पर 9 करैक्टर को लेकर एक फार्मूला के द्वारा उत्पन्न किया जाता है।

PAN Card क्यों जरुरी है?

  • पैन कार्ड का इस्तेमाल व्यक्ति के पहचान पत्र के रूप में भी किया जाता है क्योंकि उस पर व्यक्ति की photo, नाम और signature बने होते हैं। 
  • पैन कार्ड का इस्तेमाल tax का भुगतान करने के लिए किया जाता है। 
  • पैन कार्ड पर एक unique नंबर होता है जिसकी मदद से इनकम टैक्स डिपार्टमेंट हर एक व्यक्ति द्वारा किए गए transaction पर नजर रखता है ताकि वह टैक्स की चोरी को रोक सके। 
  • किसी भी प्रकार की ज्यादा मूल्य की ट्रांजैक्शन के लिए भी पैन कार्ड का इस्तेमाल किया जाता है। 
  • जॉब करने वाले हर एक व्यक्ति के पास पैन कार्ड का होना बहुत जरूरी है क्योंकि इससे उन्हें भुगतान करने में आसानी होती है। 
  • बैंक में अकाउंट खुलवाने के लिए पैन कार्ड की जरूरत पड़ती है। 
  • पैन कार्ड इनकम में किसी भी प्रकार की गड़बड़ी या दिक्कत से बचाता है। 
  • घर बनाने के लिए, प्रॉपर्टी खरीदने के लिए, गाड़ी खरीदने के लिए, इन सभी के लिए पैन कार्ड की जरूरत होती है। 
  • अगर आप NRI हैं और आपके पास पैन कार्ड है तो आप आसानी से प्रॉपर्टी खरीद सकते हैं और देश में अपना बिजनेस शुरू कर सकते हैं।

PAN Card कैसे बनाये?

पहले समय में पैन कार्ड सिर्फ सरकारी कर्मचारी ही बनवा सकते थे लेकिन अब ऐसा बिल्कुल भी नहीं है| अब कोई भी व्यक्ति जो किसी कंपनी, ऑर्गेनाइजेशन में काम कर रहा है या खुद का कोई बिजनेस कर रहा है, वह पैन कार्ड के लिए अप्लाई कर सकते हैं। आज के समय में कोई भी व्यक्ति पैन कार्ड के लिए अप्लाई कर सकते हैं| उसके लिए आपको इनकम टैक्स डिपार्टमेंट की वेबसाइट incometaxindia.gov.in या tin-nsdl.com या utiitsl.com में जाकर पैन कार्ड के लिए फॉर्म भर सकते हैं या फिर आप सेवा केंद्र में जाकर पैन कार्ड बनवा सकते हैं।

अगर आप ऑनलाइन पैन कार्ड अप्लाई कर रहे हैं तब आपको डेबिट कार्ड या क्रेडिट कार्ड की जरूरत पढ़ सकती है| इसके अलावा आप Net banking की मदद से भी पेमेंट कर सकते हैं और अगर आप अपने शहर में मौजूद सेवा केंद्र पर जाकर पैन कार्ड के लिए अप्लाई कर रहे हैं तब आपको पेमेंट cash में देनी होती है। जब आप पैन कार्ड के लिए आवेदन कर देते हैं तब आपको एक नंबर दिया जाता है जिस से आप यह पता कर सकते हैं कि आपका पैन कार्ड बनाने की प्रक्रिया का status क्या है और आपके पास वह कितने दिनों में पहुंच जाएगा।

पैन कार्ड के फायदे – Benefits of PAN Card in Hindi

  • पैन कार्ड का इस्तेमाल किसी भी प्राइवेट या गवर्नमेंट संस्था में ID proof के तौर पर कर सकते हैं। 
  • पैन कार्ड का इस्तेमाल बैंक अकाउंट में बड़ी ट्रांजैक्शन करने के लिए भी किया जाता है। 
  • पैन कार्ड का इस्तेमाल घर खरीदने के लिए, प्रॉपर्टी खरीदने के लिए, गहने खरीदने या बेचने के लिए भी किया जाता है। 
  • पैन कार्ड का इस्तेमाल करने से टैक्स में किसी भी प्रकार की प्रॉब्लम या गड़बड़ी से बचा जा सकता है। 
  • पैन कार्ड का इस्तेमाल सरकारी ऑफिस, बस, ट्रेन हर जगह पर किया जाता है। 
  • अगर आप Part Time Job कर रहे हैं तो उसमें भी आप पैन कार्ड को दिखाकर आसानी से भुगतान कर सकते हैं। 
  • 50,000 से ज्यादा की ट्रांजैक्शन करने के लिए आपको पैन कार्ड की जरूरत पड़ती है। 
  • शेयर मार्केट में भी 50,000 से ज्यादा की अमाउंट ट्रांजैक्शन के लिए पैन कार्ड की जरूरत पड़ती है। 
  • किसी भी होटल में 25000 से ज्यादा की पेमेंट करने के लिए भी पैन कार्ड का इस्तेमाल किया जाता है।

पैन कार्ड के नुकसान 

  • अगर कोई आपके पैन कार्ड को हैक कर लेता है तो आपकी फाइनेंस डिटेल की जानकारी आसानी से ले सकता है। 
  • एक से ज्यादा पैन कार्ड रखने पर आपको जुर्माना और पेनलिटी के साथ-साथ जेल भी हो सकती है। 
  • पैन कार्ड बनवाते समय आपको अपनी जानकारी सही देनी होती है नहीं तो आपको के ऊपर कानूनी कार्रवाई की जा सकती है। 
  • पैन कार्ड खो जाने की स्थिति में उसका गलत प्रयोग किया जा सकता है। 
  • पैन कार्ड का गलत उपयोग करके आप के डाटा को लीक किया जा सकता है। 
  • अगर आपका पैन कार्ड आधार के साथ लिंक नहीं है तो आपके पैन कार्ड को बंद किया जा सकता है। 
  • अगर आपका पैन कार्ड किसी और व्यक्ति के हाथ लग जाता है तो आपके पैन कार्ड का इस्तेमाल करके पैसों का लेनदेन कर सकता है और यह भी हो सकता है कि Income Tax डिपार्टमेंट को आपके ज्यादा पैसे के लेनदेन की जानकारी मिल जाए तो आपको उस स्थिति में जेल भी जाना पड़ सकता है| 
  • अगर आपके पास दो पैन कार्ड है तो आपका लोन कैंसिल हो सकता है।

PAN Card बनवाने के लिए कौन कौन से दस्तावेज की जरुरत होती है?

  • आपके पास पासपोर्ट साइज 2 recent photo होनी चाहिए| 
  • आपके पास जन्म का प्रमाण पत्र होना चाहिए| इसके लिए आप अपना birth certificate, marriage certificate, matric certificate, passport, driving license ऐसे किसी भी document की फोटो कॉपी का इस्तेमाल कर सकते हैं। 
  • आपके पास Identity proof के लिए Voter Card/ passport/ driving license/ pension Card/ Aadhar Card/ ration Card इनमें से किसी भी दस्तावेज का होना बहुत जरूरी है। 
  • आपके पास Address proof के लिए electricity bill/ driving license/ passport/ aadhar Card/ telephone bill इनमें से किसी भी दस्तावेज का होना बहुत जरूरी है। 
  • इसके अलावा जब आप अपने डॉक्यूमेंट की फोटो कॉपी करवाते हैं तो आपके पास A4 size फोटो कॉपी होना जरूरी है और यह सारे डॉक्यूमेंट आपके फोटो के साथ self attested करना जरूरी है|  यानी कि आपको इन सभी डॉक्यूमेंट पर खुद के signature करने जरूरी है| 

यह हम आपको इसलिए बता रहे हैं क्योंकि बहुत ही जल्द भारत सरकार PAN Card को भी आधार कार्ड की तरह सभी सरकारी कामों के लिए जरूरी कर देगी| इसलिए आपके पास पैन कार्ड का होना बहुत जरूरी है।

PAN Card Status कैसे Track करें?

आप ऑनलाइन PAN application status, processing status, delivery status को चेक कर सकते हैं| अगर आप ने UTI के जरिए पैन कार्ड को अप्लाई किया है तब आपको एक UTI coupon number दिया जाता है जो कि 10 डिजिट का नंबर होता है| जिसकी मदद से आप पैन कार्ड के स्टेटस को ट्रैक कर सकते हैं| अगर आपने इस एप्लीकेशन को एनएसडीएल और यूटीआई के द्वारा भरा हुआ है तब आप अप्लाई करने के केवल 7 दिनों के बाद ही स्टेटस को ट्रैक कर सकते हैं| 

PAN Card Acknowledgement Number क्या होता है, इसे कैसे प्राप्त करें?

जब आपका पैन कार्ड एप्लीकेशन सबमिट हो जाता है तब आपको एक 15 डिजिट का unique code जनरेट होता है और इसी number को PAN card acknowledgement number कहा जाता है| इस PAN card acknowledgement number की मदद से आप PAN card generation/update की status को track कर सकते हैं| 

इसके अलावा आप इस acknowledgement number का इस्तेमाल ePAN card को download करने के लिए भी कर सकते हैं| यह आप पैन कार्ड issue होने के 1 महीने के उपरांत ही ट्रैक कर सकते हैं| इसके अलावा आप NSDL और UTIITSL website का इस्तेमाल करके भी ट्रैक कर सकते हैं।

पैन कार्ड चेक करने की विधि

पैन कार्ड को ट्रैक करना बहुत ही ज्यादा आसान है| जब आप पैन कार्ड के लिए अप्लाई करते हैं तो आपको एक acknowledgement number दिया जाता है| इस नंबर की मदद से आप अपने PAN application status या PAN card या update/correct misinformation स्टेटस को चेक कर सकते हैं| इसके अलावा कुछ वेबसाइट भी है जिनकी मदद से आप अपने पैन कार्ड के स्टेटस को चेक कर सकते हैं जो कि इस प्रकार है

UTI Portal

(www.trackpan.utiitsl.com/PANONLINE/#forward) 

NSDL Portal

(www.tin.tin.nsdl.com/pantan/StatusTrack.html)

कैसे PAN Card Status चेक करें PAN या Coupon Number के माध्यम से वो भी UTI Website पर

अगर आप अपने पैन कार्ड एप्लीकेशन स्टेटस को चेक करना चाहते हैं तो आपको हमारे द्वारा बताए गए स्टेप्स को फॉलो करके आसानी से checke कर सकते है| जो कि इस प्रकार है

  • पैन कार्ड को ट्रैक करने के लिए UTI site के ट्रैकिंग पेज पर क्लिक करें। 
  • (www.trackpan.utiitsl.com/PANONLINE)
  • फिर वहां पर आप अपने Existing PAN या फिर Application Coupon Number को एंटर करें। 
  • फिर आप कैप्चा कोड को भरें और सबमिट पर क्लिक करें। 
  • सबमिट बटन पर क्लिक करने के बाद आप अपने पैन स्टेटस को जान सकते हैं।

कैसे PAN Card Application Status को चेक करें Acknowledgement Number से वो भी NSDL Portal पर

  • सबसे पहले आपको NSDL वेबसाइट परTrack PAN Status page को ओपन करना है| 
  • फिर आपको “PAN – New/Change Request” Application Type section को चुनना है। 
  • फिर आपको 15 डिजिट का acknowledgement number को भरना है। 
  • फिर आपको कैप्चा कोड enter करना है। 
  • फिर आपको सबमिट के बटन पर क्लिक करना है| 
  • बटन पर क्लिक करते ही आपकी स्क्रीन पर PAN का Status दिखाई दे जाएगा।

बिना Acknowledgement Number के PAN card status कैसे चेक करें?

अगर आपके पास acknowledgement number नहीं है तो आप भी TIN-NSDL की मदद से पैन कार्ड स्टेटस आसानी से ऑनलाइन चेक कर सकते हैं| यह ऐसी वेबसाइट है जो कि आपको बिना acknowledgement number के भी स्टेटस चेक करने के लिए मदद करती हैं| आपको सिर्फ अपना नाम और डेट ऑफ बर्थ डालना है| जिससे आपको आपके पैन कार्ड स्टेटस चेक करने में मदद मिलेगी| परंतु उसके लिए भी आपको नीचे बताये गए स्टेप्स को फॉलो करना होगा

  • सबसे पहले आपको TIN-NSDL portal पर जाना है। 
  • फिर आपको “PAN – New/Change Request” की ऑप्शन पर क्लिक करना है। 
  • फिर आपको Name section के ऑप्शन पर क्लिक करना है| जिसमें आपको PAN card status without acknowledgement number के ऑप्शन पर क्लिक करना है। 
  • फिर आपको अपना First Name, Last Name, Middle Name और Date of Birth को भरना है और सबमिट के बटन पर क्लिक करना है। 
  • बटन पर क्लिक करते ही आपको पैन स्टेटस दिखाई दे जाएगा।

Conclusion

अब आप जान चुके हैं कि PAN Card क्या है, PAN Card फुल फॉर्म क्या है, पैन कार्ड का इस्तेमाल कहां किया जाता है, PAN Card अप्लाई कैसे होता है, पैन कार्ड के फायदे क्या है| उम्मीद करते हैं कि हमारे द्वारा शेयर करी गई जानकारी को पढ़ने के बाद पैन कार्ड से संबंधित आपके जितने भी डाउट थे वह दूर हो गए होंगे। अगर आपको हमारे द्वारा शेयर करी गई जानकारी से संबंधित कोई भी डाउट है या फिर आप हमें कोई राय देना चाहते हैं तो हमें नीचे कमेंट बॉक्स में कमेंट कर सकते हैं।

ये भी पढ़े:

मात्र 5 मिनट में घर बैठे ITR कैसे भरे?

शेयर मार्किट क्या है?

आधार कार्ड में मोबाइल नंबर कौन सा है कैसे चेक करें?

UPI क्या है?

पैन कार्ड कितने दिनों में आता है?

पैन कार्ड अप्लाई करने के बाद 3 से 4 दिनों में आपको प्राप्त हो जाता है। 

पैन कार्ड कितने रुपए में बनता है?

अगर आप किसी लोकल केंद्र में पैन कार्ड के लिए अप्लाई कर रहे हैं तो अब आपको ₹110 का भुगतान करना पड़ता है| जिसमें से ₹93 processing fees और 18% GST भरना होता है| 

अगर आप किसी दुकान पर जाकर पैन कार्ड के लिए अप्लाई करते हैं तो आपको 250 रुपये का भुगतान करना होता है। 

पैन कार्ड कितने उम्र तक बनता है?

पैन कार्ड बनाने के लिए अधिकतम आयु 7 साल की है क्योंकि इसके बाद आपको किसी भी प्रकार का इनकम टैक्स नहीं लगता है| परंतु आप अपनी identity proof के लिए पैन कार्ड का इस्तेमाल कर सकते हैं।

पैन कार्ड के लिए कौन से डॉक्यूमेंट चाहिए?

  • ड्राइविंग लाइसेंस
  • शस्त्र लाइसेंस
  • आधार कार्ड
  • पहचानपत्र
  • राशन कार्ड
  • पासपोर्ट
  • पेंशनर कार्ड

पैन कार्ड कितने दिन में अपडेट होता है? 

अगर आप अपने पैन कार्ड में कुछ अपडेशन करवाई है तो उसे अपडेट होने में 7 से 10 दिन का समय लग जाता है।

क्या आयकर रिटर्न पर पैन लिखना अनिवार्य है?

हाँ आयकर रिटर्न पर पैन लिखना अनिवार्य है।

1 thought on “PAN Card क्या है, क्यों जरुरी है और कैसे बनाये?”

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top