पीएचडी का फुल फॉर्म क्या है?

दोस्तों क्या आप भी जानना चाहते हैं कि PhD का फुल फॉर्म क्या होता है? असल में PhD का फुल फॉर्म Doctor of Philosophy होता है| शायद आप लोगों ने सुना ही होगा कि PhD एक उच्च स्तरीय कोर्स है| ऐसे बहुत से लोग होते हैं उनके नाम के आगे डॉक्टर लिखा होता है| परंतु असल में वह डॉक्टर नहीं होते है| उन्होंने PhD कृ होती है इसलिए उनके नाम के साथ डॉक्टर लगता हैं| 

अगर आप भी जानना चाहते है कि PhD Full Form in Hindi क्या है? PhD क्या होता है और PhD के लिए तैयारी कैसे करें तो हमारे इस पोस्ट को अंत तक जरूर पढ़ें हम आपके साथ यह जानकारी इसलिए शेयर कर रहे हैं क्योंकि PhD एक सम्मानजनक डिग्री है| अगर आप PhD कर लेते हैं तो आपके पास भी अपने करियर growth के लिए बहुत सारे ऑप्शन आ जाते हैं| अगर आप किसी विश्वविद्यालय में प्रोफेसर की नौकरी करना चाहते हैं तो उसके लिए भी आपके पास PhD होना  जरूरी है| 

परंतु हम आपको बताना चाहेंगे PhD करना इतना आसान नहीं है| PhD को करने के लिए कठिन परिश्रम और अध्ययन की जरूरत होती है| अगर आप भी PhD के बारे में जानकारी चाहते हैं और PhD करने के बारे में सोच रहे हैं तो फिर हमारे इस पोस्ट को अंत तक जरूरत पड़े तो चलिए दोस्तों अब हम बताते हैं कि phd ka full form kya hota hai in Hindi.

PhD क्या है?

जैसे कि हमने आपको अभी बताया था कि PhD एक उच्च स्तरीय कोर्स है| अगर कोई व्यक्ति PhD कर लेता है तो उसके नाम के सामने डॉक्टर लग जाता है| जरूरी नहीं कि सिर्फ डॉक्टर की PhD कर सकते हैं कोई भी व्यक्ति जिसने किसी एक विषय में मास्टर करी हुई है वह PhD के कर सकता है| अगर आप किसी एक विषय पर PhD कर लेते हैं तो आपको उस विषय का ज्ञाता माना जाता है| 

वर्तमान समय में अगर आप किसी भी विश्वविद्यालय में प्रोफेसर के लिए या फिर शोधकर्ता के पद के लिए आवेदन करते हैं तो आपके पास PhD डिग्री होना अनिवार्य है क्योंकि अधिकतर देशों में PhD को उच्च डिग्री माना जाता है। इसका मतलब यह है कि अगर आप किसी विषय पर PhD कर लेते हैं तो आपको उसका पूरा ज्ञान हो जाता है| इसके बाद आप researcher या analysis भी बन सकते हैं।

पीएचडी का फुल फॉर्म हिंदी में – Full form of PHD in Hindi

PhD का Full form ‘Doctor of Philosophy‘ होता है| जिसे संछिप्त रूप में Ph.D, PhD और DPhil भी कहा जाता है| अगर कोई व्यक्ति PhD कर लेता है तो उसके नाम के आगे डॉक्टर लग जाता है| PhD को डॉक्टरेट डिग्री के नाम से भी जाना जाता है| PhD हिंदी में Full Form “डॉक्टर ऑफ़ फिलोसोफी“ होता है| PhD का कोर्स 4 से 5 साल का होता है| PhD की डिग्री पूरी होने के बाद Doctorate की degree हासिल हो जाती है|

PhD के लिए क्या योग्यताएं होना आवश्यक है?

PhD डिग्री करने के लिए मास्टर डिग्री का होना बहुत जरूरी है और मास्टर डिग्री में कम से कम 55% अंक होने चाहिए| वैसे इन अंकों की योगयता अलग-अलग विश्वविद्यालय में अलग-अलग होती हैं।

PhD करने के लिए कितनी फीस लगती है?

PhD डिग्री की फीस अलग-अलग विश्वविद्यालय में अलग-अलग होती है| अगर हम सरकारी विश्वविद्यालय की बात करें तो वहां पर PhD की फीस प्राइवेट विश्वविद्यालय से काफी कम होती है| इसके अलावा आप जिस विश्वविद्यालय में PhD करना चाहते हैं आप उस विश्वविद्यालय में जाकर पता कर सकते हैं या फिर उनकी वेबसाइट पर जाकर की PhD की फीस का पता कर सकते हैं|

PhD कैसे करें?

अगर आप PhD करने के बारे में सोच रहे हैं तो आपको शुरुआत से ही अपने subject पर फोकस करना होगा| हम आपके साथ जरूरी जानकारी शेयर करने जा रहे हैं ताकि आपको आगे जाकर मुश्किलों का सामना ना करना पड़े।

12वी कक्षा उत्तीर्ण करें

आपको दसवीं 12वीं करते समय उसी विषय को चुनना होगा जिस विषय में PhD करने के बारे में सोच रहे हैं क्योंकि PhD करने के लिए बहुत लंबे समय तक उसी विषय के बारे में पढ़ना पड़ता है| आपको विषय तभी चुनना चाहिए अगर आपको उस विषय में रुचि है। इसके अलावा जब आप 12वीं की पढ़ाई कर रहे हैं तो आपको हमेशा कोशिश करनी है कि आपके 12वीं में कम से कम 70% नंबर होने चाहिए।

Graduation Pass करें

12वीं पास करने के बाद आपको अपनी ग्रेजुएशन में उसी विषय को चुनना है जिस पर आप PhD करने जा रहे हैं| आपके ग्रेजुएशन में उस विषय में कम से कम 70% अंक जरूर होने चाहिए| अगर आप ग्रेजुएशन में अच्छे से तैयारी करते हैं तो आपका base अच्छा बन जाता है और आगे जाकर की PhD में आपको परेशानियों का सामना नहीं करना पड़ता है।

Post Graduation Pass करें

अच्छे अंको से ग्रेजुएशन करने के बाद आपको अपनी Post Graduation में भी उसी विषय पर पढ़ाई करनी है और पोस्ट ग्रेजुएशन में कम से कम आप के 55%  नंबर होने चाहिए क्योंकि पीएचडी में एडमिशन लेने के लिए कम से कम 55% नंबर का criteria लगभग हर यूनिवर्सिटी में रखा जाता है। यह criteria यूनिवर्सिटी के ऊपर भी निर्भर करता है कि वह अंको को कम या ज्यादा भी रख सकते हैं| इसलिए आपको पोस्ट ग्रेजुएशन में अच्छे से पढ़ाई करनी होगी ताकि आप PhD की योग्यता पर खरे उतर सकें।

UGC NET Exam Qualified

Post graduation पास करने के बाद आपको PhD की परीक्षा के लिए आवेदन करना होगा और उसे पास करना होगा| अगर आपके पोस्ट ग्रेजुएशन में कम से कम 55% अंक है इसके बाद ही आप UGC NET परीक्षा के लिए आवेदन कर सकते हैं। UGC NET परीक्षा साल में दो बार आयोजित की जाती है और इसे पास करने के बाद भी आप PhD में प्रवेश कर सकते हैं| अगर आप ने शुरुआत से ही PhD के लिए तैयारी अच्छे से करि है तो आप इस परीक्षा को पास कर सकते हैं।

PhD प्रवेश परीक्षा उत्तीर्ण करें

PhD की परीक्षा में प्रवेश करने के लिए हर विश्वविद्यालय के अपने-अपने नियम होते हैं| वह अपने अपने नियमों के साथ आयोजित करते हैं| आप जिस विश्वविद्यालय में पीएचडी में एडमिशन लेना चाहते हैं| आपको सबसे पहले उसके बारे में जानकारी लेनी होगी और उसके बाद आवेदन कर सकते हैं| आप जिस विश्वविद्यालय में PhD के लिए एडमिशन लेना चाहते हैं आपको सबसे पहले उस विश्वविद्यालय की परीक्षा को पास करना होगा और आपको यह परीक्षा अच्छे अंको से पास करनी होगी ताकि आपको PhD में आसानी से दाखिला मिल सके।

PhD के लिऐ पात्रता क्या है?

PhD में एडमिशन लेने के लिए कुछ जरूरी शर्ते हैं उसके बिना PhD के कोर्स को नहीं किया जा सकता है वह शर्ते कुछ इस प्रकार है:-

  • PhD करने के लिए ग्रेजुएशन के बाद पोस्ट ग्रेजुएशन में आपके कम से कम 60% अंक होने चाहिए| अगर कैंडिडेट रिजर्व कैटेगरी से है तो वह 55% होने चाहिए| उसके बाद ही वह PhD के लिए एलिजिबल माना जाता है। 
  • अगर किसी कॉलेज यूनिवर्सिटी में एडमिशन लेना चाहते हैं तो स्टूडेंट का UGC NET की परीक्षा पास होना जरूरी है। 
  • Entrance Exam पास होने के बाद स्टूडेंट PhD में एडमिशन लेकर पढ़ाई कर सकता है| 
  • PhD कैंडिडेट की उम्र 55 साल से कम होनी चाहिए फिर ही वह PhD में एडमिशन ले सकता है।

PhD में Admission कैसे ले इसकी प्रक्रिया क्या है?

PhD में एडमिशन लेने के लिए UGC NET का एग्जाम क्लियर होना बहुत जरूरी है| एग्जाम साल में दो बार होता है जून और दिसंबर के महीने में| इसके अलावा भी अन्य एग्जाम है जिसको पास करके आप PhD में एडमिशन ले सकते हैं।

  • JRF
  • DBI
  • NCBS
  • ICMR JRF
  • JNJ PHD

जैसे PhD करने के लिए अलग-अलग subjects होते हैं ठीक उसी तरह entrance exam को पास करने के लिए भी अलग-अलग exam होते हैं| मान लीजिए अगर आप engineering में PhD करना चाहते हैं तो आपको GATE (Graduate Aptitude Test in Engineering) के exam को पास करना होता है।

PhD Degree Course करने के लिए Documents?

अगर आपकी PhD में admission लेना चाहते हैं तो सबसे पहले आप PhD करने के लिए eligible होने चाहिए जो कि हमने आपको ऊपर बताया है कि eligibility criteria या योग्यता क्या है| उसके बाद आपके पास नीचे बताए Documents का होना बहुत जरूरी है।

  • आपको अपना Aadhaar card का एक xerox copy देना होगा| 
  • आपको अपनी तीन या चार photo की जरुरत होती है| 
  • आपके पास Intermediate Certificate होना चाहिए|| आपको इसकी xerox copy देनी होगी| 
  • आपके अपने graduation certificate की xerox copy को PHD में admission लेते समय देना होगा|
  • आपके अपने post graduation certificate की xerox copy को PHD में admission लेते समय देना होगा|

PhD की तैयारी कैंसे करे?

अगर आप पीएचडी करना चाहते हैं तो आपको जिस विषय में रुचि है यानी कि जिस विषय में आप पीएचडी करना चाहते हैं आपको 11वीं में ही आपको इस विषय को तय कर लेना है और उसी विषय पर ही आप ने 11वीं और 12वीं की पढ़ाई को करना है| उसके बाद उसी विषय से आप ने ग्रेजुएशन और पोस्ट ग्रेजुएशन को करना है। 11वीं से लेकर पोस्ट ग्रेजुएशन होते होते आपके 8 से 9 वर्ष लग जाएंगे। 

इस समय के दौरान आपको जब भी समय मिले आपको उस विषय के बारे में ज्यादा से ज्यादा जानकारी हासिल करनी है और हो सके तो पिछले 3 साल के UGC NET परीक्षा के प्रश्नपत्रों से भी तैयारी शुरू कर सकते हैं| इसके अलावा आपको इंटरनेट पर बहुत ही पढ़फ और eBook मिल जाएँगी जहां से आप PhD के लिए अच्छी खासी तैयारी शुरू कर सकते हैं नहीं तो आप शुरुआती में किसी इंस्टीट्यूट से कोचिंग भी ले सकते हैं।

PhD के बाद Job के क्या Chances है?

हम आपको बताते हैं कि PhD का कोर्स करने के बाद आप कौन-कौन सी जॉब कर सकते हैं| जैसे हम जानते हैं कि PhD एक उच्च स्तरीय कोर्स है| इसको करने वाले इंसान को उस सब्जेक्ट का ज्यादा ज्ञान हो जाता है| वह अपनी काबिलियत के दम पर इस बदलते हुए युग में किसी की सेक्टर में आसानी से जॉब कर सकता है। लोगों की PhD को लेकर यह धारणा बनी हुई है कि PhD करने वाला व्यक्ति सिर्फ यूनिवर्सिटी में professor की job ही कर सकता है परंतु ऐसा नहीं है| 

अगर आपके पास PhD की degree है तो आप किसी भी क्षेत्र में job कर सकते हैं| अगर आपके पास सिर्फ PhD की डिग्री है और आपके पास इतनी knowledge नहीं है तो आपके लिए job मिलना बहुत ही ज्यादा मुश्किल हो जाता है चलिए हम आपको बताते हैं कि PhD करने के बाद कौन-कौन सी जॉब कर सकते हैं।

  • Writing
  • Research
  • Investment Banking
  • Law
  • Journalist
  • Medical

भारत में PhD के लिऐ Best University कौन से है?

PhD करने के लिए उच्च स्तरीय यूनिवर्सिटी विश्वविद्यालय की जरूरत होती है जहां पर आपको सभी सुविधाएं मिल सकें जो कि आपको PhD करते समय जरूरी है| वैसे यह आम देखा जाता है कि स्टूडेंट PhD करने के लिए विदेशों में जाते हैं वहां जाकर पढ़ाई करते हैं यह एक बहुत ही खर्चीला होता है| भारत में भी अब ऐसे काफी यूनिवर्सिटी है जहाँ से आप PhD का कोर्स कर सकते हैं| उन यूनिवर्सिटी के नाम इस प्रकार हैं:

  • Indian Statistical Institute (ISI) 
  • Amity University Noida 
  • Chennai Mathematical Institute 
  • Jawaharlal Nehru University 
  • Institute of Genetic Engineering Badu – Kolkata 
  • Jamia Millia Islamia University, New Delhi 
  • Banaras Hindu University 
  • KCG College of Technology, Chennai 
  • Institute of Technical and Professional Studies, Kolkata 
  • Tata Institute of Fundamental Research 
  • Christ University Bangalore
  • Indian Institute of Science, Bangalore 
  • University of Calcutta 

लोग PhD Course करना क्योंकि पसन्द करते हैं?

  • PhD एक उच्चस्तरीय डिग्री है| इसे करने वाले व्यक्ति की value लोगों के बीच काफी बढ़ जाती है। 
  • PhD करने वाले व्यक्ति की उस विषय पर नॉलेज काफी ज्यादा बढ़ जाती है। 
  • PhD करने वाला व्यक्ति जिस subject में PhD कर रहा है उसे उस subject का expert माना जाता है और इस subject पर वह researcher और analysis  भी बन सकता है| 
  • बाहर के देशों में भी PhD को High Education Degree माना जाता है। 
  • PhD करने वाले व्यक्ति के नाम के साथ डॉक्टर लग जाता है।

PhD Course Subject

अगर आप PhD में admission लेते हैं तो वहां पर आपको काफी सारे subjects मिल जाएंगे| जिसमें से आप किसी एक subject को चुनकर उस subject में PhD में एडमिशन लेकर अच्छे से पढ़ सकते हैं| आप उस विषय में एक्सपर्ट बन सकते हैं| तो आइए अब हम आपको बताते हैं कि PhD में कौन-कौन से सब्जेक्ट होते हैं|

  • Chemistry
  • Mathematics 
  • Agricultural 
  • Psychology 
  • Business 
  • Mass communication 
  • Human Rights 
  • Population studies 
  • Geology
  • Biotechnology 
  • Finance 
  • Library science 
  • Botany 
  • Intellectual property rights 
  • Pomology
  • Fashion technology 
  • Geoinformatics 
  • Rural development 
  • Accounting 
  • Health care management 
  • Statistics 
  • Medical plant 
  • Hospitality 
  • Administration 
  • Engineering 
  • Horticulture 
  • Labor and social welfare 
  • Insurance 
  • Management 
  • Sports science 
  • Entrepreneurship 
  • Nanotechnology 
  • Bioinformatics 
  • Physics 
  • Economic 
  • Biochemistry 
  • Organizational Behavior 
  • Development 
  • Cosmetology 
  • Linguistic 
  • Physical education 
  • Home science 
  • Electric 
  • Fine arts
  • Women studies 
  • Microbiology 
  • Law 

PHD करने के बाद Job

  • Education Consultancies 
  • Newspapers and Magazines 
  • Coaching Centers 
  • College 
  • Education Department 
  • Home Tuitions, Museums 
  • Publishing House 
  • Human Services Industry 
  • Private Tuitions 
  • Publishing Houses 
  • Schools 
  • Law firms 
  • Educational Institutes 
  • Research and Development Agencies 
  • Consultancy 
  • Philosophical Journals 
  • Scientist 
  • Researcher 
  • Research Institutes 
  • Electrical Product Design Engineer 
  • Lecturer 
  • Development and Test Engineers 
  • Engineering Technologist 
  • Writer 
  • Novelist 
  • Critic 
  • Editors 
  • Independent Consultants 
  • Human Services Worker 
  • Professor 
  • Philosophical Journalist

PhD करने के फायदे क्या होता है?

  • PhD एक उच्चस्तरीय डिग्री है| अगर आप PhD कर लेते हैं तो आप उस सब्जेक्ट के एक्सपर्ट कहलाते हैं।
  • PhD कंप्लीट करने के बाद आपके नाम के साथ डॉक्टर लग जाता है जो कि एक प्रोफेशनल लगता है|
  • PhD करने के बाद आप जिस सब्जेक्ट में एक्सपर्ट हो गए हैं उसके ऊपर research या analysis कर सकते हैं। 
  • PhD का कोर्स करने के बाद आप किसी भी position के लिए job आवेदन कर सकते हैं। 
  • आप किसी भी अच्छी यूनिवर्सिटी में प्रोफेसर बन सकते हैं| 
  • अगर आपकी PhD 3 साल में नहीं कंप्लीट होती है आपके पास 7 साल तक का समय होता है| जिसमें आपको अपनी PhD कंप्लीट करने का चांस दिया जाता है।

Other Full Forms of PhD

Full FormCategory
Post Hole DiggerProducts
Pretty Hard To DoEducational
Pizza Home DeliveryBusiness Term
Pizza Hut DeliveryCompanies & Firms
Playa Hatin DegreeUniversities
Professional HairDresserOccupation & Positions
Port Hueneme DivisionMilitary
Personal Health DiaryPhysiology
Preparing His DisciplesChristianity
PolyHedra DatabaseExtensions
Player Hating DegreeJoke
Permanent Health DamagePhysiology
Patent Application Information RetrievalUS Government
Pretty Heavy DrinkerJoke
Professional Hardware DiagnosticsComputing

Conclusion

दोस्तों अब आप जान चुके हैं कि PhD क्या होता है, phd ka full form kya hai. PhD में एडमिशन कैसे होती है, PhD के लिए भारत में बेस्ट यूनिवर्सिटी कौन सी है, PhD करने के बाद जॉब कौन-कौन सी है। उम्मीद करते हैं कि हमारे द्वारा शेयर करी गई जानकारी आपके लिए लाभदायक सिद्ध होगी होगी| अगर आपको हमारे द्वारा शेयर करी गई जानकारी से संबंधित कोई भी डाउट हो तो आप हमें नीचे कमेंट बॉक्स में कमेंट कर सकते हैं।

ये भी पढ़े:

IPL ka Full Form Kya Hai?

GST का फुल फॉर्म क्या है?

OK का फुल फॉर्म क्या है?

MBA का फुल फॉर्म क्या है?

FAQ (Frequently Asked Questions)

पीएचडी की सैलरी कितनी है?

पीएचडी करके आप लगभग 5-10 लाख रुपये सालाना सैलरी कमा सकते हैं।

पीएचडी का मतलब क्या होता है हिंदी में?

PhD एक doctoral degree है। यह एक उच्चस्तरीय डिग्री है इसे doctorate of philosophy भी कहा जाता है।

PhD कितने वर्ष का कोर्स होता हैं (Duration time)

भारत में PhD का कोर्स 3 से 5 साल में पूरा होता है| परंतु ऐसे बहुत से लोग हैं जिनको PhD का कोर्स करने में 5 साल से भी अधिक समय लग जाता है| यह उनकी रिसर्च और गाइड पर निर्भर करता है कि PhD का कोर्स करने में कितना समय लगता है| परंतु कुछ देश ऐसे भी हैं जहां पर PhD का course 3 साल में पूरा हो जाता है जैसे कि UK, Japan. यहां पर 3 साल में आपका PhD का course पूरा हो जाता है।

पीएचडी का हिंदी में अर्थ क्या होता है?

पीएचडी का हिंदी में अर्थ Doctor of Philosophy होता है|

1 thought on “पीएचडी का फुल फॉर्म क्या है?”

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top