PIN Code क्या है और कैसे पता करे?

दोस्तों क्या आप भी जानना चाहते हैं कि Pin Code क्या है? Pin Code का इस्तेमाल क्यों किया जाता है? Pin Code इतना जरूरी क्यों होता है? सबसे पहले हम आपको बताना चाहेंगे कि जब भी हम किसी को कोई चिट्ठी या कोई पार्सल भेजते हैं तब हमें Pin Code की बहुत ज्यादा जरूरत होती है क्योंकि बहुत बार ऐसा होता है कि दो जगह के नाम एक जैसे होते हैं परंतु उनकी पहचान करना मुश्किल हो जाता है| इसलिए अगर आपके पास उस व्यक्ति के नाम, एड्रेस के साथ उसका Pin Code भी है| तब आप आसानी से उसके एड्रेस पर अपनी चिट्ठी या पार्सल भेज सकते हैं| 

दोस्तों जब हमने देखा कि पिन कोड इतना ज्यादा जरूरी है| तब हमने पिन कोड के बारे में काफी ज्यादा रिसर्च करी है और रिसर्च करने के बाद हम आपके साथ पिन कोड के बारे में इस पोस्ट के जरिए जानकारी शेयर करने जा रहे हैं| जिसको पढ़ने के बाद आपके पिन कोड से संबंधित सारी डाउट क्लियर हो जाएंगे। 

पिन कोड ही एक ऐसा जरिया है जिसकी मदद से किसी भी समान को भेजना आसान हो जाता है और यह Postal Department के लिए भी काफी ज्यादा मददगार साबित होता है तो चलिए दोस्तों अब हम आपको पिन कोड क्या होता है उसके बारे में बताते हैं।

पिन कोड क्या होता है?

Pin code या zip code एक प्रकार का six digit unique number होता है| जिसका इस्तेमालIndian Post Office को ढूंढने के लिए किया जाता है| पिन कोड का सबसे पहली बार इस्तेमाल 15 अगस्त 1972 को किया गया था| तब यह पूरे देश में लागू हुआ था| वही पूरे देश में लगभग 9 PIN regions मौजूद है, जिनमें से पहले 8 geographical regions है और वही Army Postal Service के लिए 9th डिजिट को reserve किया गया है।

पिन कोड का फुल फॉर्म

पिन कोड का फुल फॉर्म Postal Index Number है| 

पिन कोड का इतिहास

पिन कोड को Shriram Bhikaji Velankar ने साल 1972 में 15 अगस्त को introduce किया था जो कि उस समय Union Ministry of Communications के additional secretary थे| यह इसलिए introduce किया गया था क्योंकि उस समय mail की डिलीवरी करना और manually sorting करने में काफी ज्यादा दिक्कत आ रही थी| इसलिए इस प्रकार के सिस्टम को लागू किया गया जिस से काफी तरह की कंफ्यूजन को दूर किया जा सकता था और जो बिल्कुल ऐसा ही हुआ है| इससे आप एक ही जगह के नाम, incorrect addresses इसके अलावा अलग-अलग भाषाओं जो कि public लोगों के द्वारा इस्तेमाल किए जाते हैं इनको ठीक किया गया है।

पिन कोड कैसे पता करें?

अगर आप पिन कोड के बारे में जानना चाहते हैं कि किस जगह का पिन कार्ड कौन सा है| तब आप हमारे द्वारा नीचे बताए गए स्टेप्स को फॉलो करके आसानी से पिनकोड का पता कर सकते हैं।

  • सबसे पहले आपको Pincode Search Website पर जाना होगा। 
  • उसके बाद आपको वहां पर Select a State की option को सिलेक्ट करना होगा। 
  • फिर आपको Select a District की ऑप्शन को सिलेक्ट करना होगा। 
  • उसके बाद आपको Select a Alphabet में सभी स्थानों के पिन कोड Alphabets order में दिखाई देंगे| आप जिस जगह का पिन कोड चाहते हैं उस Alphabet पर क्लिक करके लिस्ट को ओपन कर सकते हैं| 
  • अब आपके सामने सभी जगह के नाम दिखाई दे जाएंगे| अब आप को Select a Locality के ऑप्शन को चुनना है। 
  • इस ऑप्शन को चुनने के बाद आपके सामने वह पिन कोड आ जाएगा जिस पिनकोड को आप ढूंढ रहे हैं।

पिन कोड मतलब क्या होता है?

जैसे कि हमने आपको बताया था कि पिन कोड six digit unique number होता है तो उन डिजिट के हिसाब से पिन कोड को बनाया जाता है| जैसे कि पिन कोड की पहली डिजिट zone या किसी region के लिए होती है और वही दूसरी डिजिट sub-zone के लिए होती है| उसके बाद पिन कोड की 3rd डिजिट पहले 2 डिजिट के साथ sorting district की तरफ जो कि उस जॉन के अंदर है उसको indicate करती है। वही आखिर के 3 डिजिट individual post offices को उसी sorting district के अंदर assign की गई होते हैं| या हम यह भी कह सकते हैं यह Delivery Post Office को रेफर करते हैं।

भारत के Postal Zones क्या क्या है?

भारत में total 9 Postal Zones है| जिसमें से 8 regional zones हैं और 9th functional zone जॉन है जोकि इंडियन आर्मी के लिए है| नीचे टेबल में हम 9 Zones के विषय में जानकारी आपको देने जा रहे हैं जो कि इस प्रकार है:-

PIN की पहली digitZone
1Delhi, Haryana, Punjab, Himachal Pradesh, Jammu and Kashmir, Ladakh, Chandigarh
2Uttar Pradesh, Uttarakhand
3Rajasthan, Gujarat, Daman and Diu, Dadra and Nagar Haveli
4Maharashtra, Goa, Madhya Pradesh, Chhattisgarh
5Telangana, Andhra Pradesh, Karnataka
6Tamil Nadu, Kerala, Puducherry, Lakshadweep
7West Bengal, Odisha, Arunachal Pradesh, Nagaland, Manipur, Mizoram, Tripura, Meghalaya, Andaman and Nicobar Islands, Assam, Sikkim
8Bihar, Jharkhand
9Army Post Office (APO), Field Post Office (FPO)

Sorting District क्या है?

जब PIN की तीसरी digit डिजिट को पहली 2 डिजिट के साथ combine किया जाता है तब यह specific geographical region को दर्शाता है| जिसे कि Sorting District भी कहा जाता है| परंतु यह Army के functional zone के लिए लागू नहीं होती है।

हम आपको बताना चाहेंगे की Sorting District किसी बड़े शहर के Region की main post office की headquartered होती है और इसे Sorting Office भी कहा जाता है| साथ ही हम आपको यह भी बताना चाहेंगे कि किसी एक राज्य में एक से ज्यादा Sorting District भी हो सकते हैं परंतु यह निर्भर करता है कि उस राज्य में कितनी मात्रा में mail  पहुंच रहे हैं।

PIN prefixISO 3166-2: INRegion
11DLDelhi
12–13HRHaryana
14–15PBPunjab
16CHChandigarh
17HPHimachal Pradesh
18–19JK, LAJammu and Kashmir, Ladakh
20–28UP, UTUttar Pradesh, Uttarakhand
30–34RJRajasthan
396210DDDaman and Diu
396DNDadra and Nagar Haveli
36–39GJGujarat
403GAGoa
40–44MHMaharashtra
45–48MPMadhya Pradesh
49CTChhattisgarh
50TGTelangana
51–53APAndhra Pradesh
56–59KAKarnataka
605PYPuducherry
60–66TNTamil Nadu
682LDLakshadweep
67–69KLKerala
737SKSikkim
744ANAndaman and Nicobar Islands
70–74WBWest Bengal
75–77OROdisha
78ASAssam
790–792ARArunachal Pradesh
793–794MLMeghalaya
795MNManipur
796MZMizoram
797–798NLNagaland
799TRTripura
80–85BR, JHBihar, Jharkhand
90–99APSArmy Postal Service

Service Route क्या है?

पिन कोड का चौथा डिजिट Service Route को दर्शाता है| जिसमें एक sorting district में एक delivery office located होता है। जो ऑफिस sorting district के core area में स्थित होते हैं उनके लिए यह डिजिट जीरो होती है।

Delivery Office क्या है?

पिन कोड के आखिर के 2 डिजिट डिलीवरी ऑफिस को दर्शाते हैं जो कि एक sorting district के डिलीवरी ऑफिस होता है और इसकी शुरुआत 01 से होती है| इसके अलावा डिलीवरी ऑफिस की नंबरिंग numbering निर्धारित आर्डर में की जाती है| इसमें नए डिलीवरी ऑफिस को ऊंची संख्या असाइन assign की जाती है। 

जब किसी डिलीवरी ऑफिस में mail की संख्या बहुत ज्यादा बढ़ जाती है जो कि एक ऑफिस के लिए संभाल पाना मुश्किल हो जाता है तब एक New delivery office create की जाती है और अगली अवेलेबल पिन को उस डिलीवरी ऑफिस को assign कर दिया जाता है| परंतु वह दो ऑफिस जो आस पास में है उनके पहले 4 डिजिट common ही रहते हैं।

App से Pin Code कैसे देखे?

अगर आप App की मदद से pin code को देखना चाहते हैं तो सबसे पहले आपको अपने फोन में App को डाउनलोड करना होगा| जिसके बारे में हम आपको बताने जा रहे हैं। 

  • सबसे पहले आपको अपने फोन में pin code search app को डाउनलोड करके इंस्टॉल करना होगा। 
  • फिर इस ऐप को ओपन करने के बाद आप जानकारी को सेलेक्ट करें जहां पर आपको पिन कोड प्राप्त करना है| 
  • अब आपको जिस एरिया का पिन कोड चाहिए वह आपको दिखाई देगा| आप उसको कॉपी कर ले। 

इस प्रकार आप ऐप की मदद से घर बैठे ही आसानी से पिन कोड प्राप्त कर सकते।

पोस्ट ऑफिस पिन कोड पता करें?

आप  पोस्ट ऑफिस के जरिए भी किसी भी जगह का पिन कोड पता कर सकते हैं| उसके लिए आपको अपने नजदीकी पोस्ट ऑफिस में जाना है और उस जगह का नाम पोस्ट ऑफिस वालों को बताना है जिसका पिनकोड आपको चाहिए और इस प्रकार आप पोस्ट ऑफिस के जरिए उस जगह के पिनकोड को देख सकते हैं।

Pin Code की Example

अगर पिन कोड 500072 है| तब 5 दक्षिण region को दर्शाता है और 50 तेलगाना को दर्शाता है| वही 500 उस राज्य की Rangareddy/Hyderabad को दर्शाता है और आखिर के 3 डिजिट 072 KPHB colony post office को दर्शाता है| कुछ इस हिसाब से ही postal department सभी इनकमिंग मेल्स को sort करता है और उन्हें सही पोस्ट ऑफिस तक पहुंचाता है।

पिन कोड का महत्व क्या है?

  • हर एक पिनकोड unique होता है और यह इंIndian Post network की exclusive delivery post office को दर्शाती है| इससे यह होता है कि भेजी गई चीज उसी पोस्ट ऑफिस पर ही जाकर पहुंचती है।
  • किसी भी पोस्ट या पार्सल जिससे कि transport ऑफिस के द्वारा accept किया जाता है| वह उनके एड्रेस में लिखी गई पिन के आधार पर ही इन्हीं codes की मदद से वह पोस्ट को सभी जगह तक पहुंचा पाते हैं। 
  • भारत में पिन कोड, एड्रेस का एक बहुत ही जरूरी हिस्सा हो चुका है| हम यह भी कह सकते हैं कि पिनकोड एड्रेस की एक पहचान बन गई है। 
  • पिन कोड का इस्तेमाल करने से same name की जगह में जो confusion है वह दूर हो गई है| साथ ही भाषा में भी कोई तकलीफ नहीं आती है। 
  • पिन कोड की मदद से डाकिए के काम मैं भी बहुत ज्यादा सुविधा मिली है।

Conclusion

अब आप जान चुके हैं कि Pin Code क्या है, Pin Code कैसे कार्य करता है, Pin Code का महत्व क्या है, Pin Code के डिजिट का क्या महत्व है| उम्मीद करते हैं कि हमारे द्वारा शेयर करी गई जानकारी को पढ़ने के बाद पिन कोड से संबंधित आप के जितने भी सवाल थे उनके आपको सही जवाब मिल गए होंगे। अगर आपको हमारे द्वारा शेयर करी गई जानकारी से संबंधित कोई भी डाउट है या फिर आप हमें कोई राय देना चाहते हैं तो हमें नीचे कमेंट बॉक्स में कमेंट कर सकते हैं।

ये भी पढ़े:

Email क्या है?

UPI क्या है?

Google AMP क्या है?

NAT क्या है?

FAQ (Frequently Asked Questions)

किसने Pin Code की शुरुवात करी थी?

Pincode की शुरुवात Shriram Bhikaji Velankar जी के द्वारा की गयी थी|

पिन कोड का फुल फॉर्म क्या होता है?

पिन कोड का फुल फॉर्म Postal Index Number है|

क्या Pincode और Zipcode अलग अलग होते है?

नहीं ऐसा बिल्कुल भी नहीं है| Pin Code, Zip code, Postal Code यह सभी पिन कोड के समांतर है| यानी किncode और zipcode अलग अलग नहीं है।

यूपी का पिन कोड नंबर क्या है क्या है?

भारतीय Postal Code के पहले 2 अंकों के अनुसार 282001 पिन कोड उत्तर प्रदेश सर्कल के अंतर्गत आता है। क्यूंकि UP के PIN prefix 20–28 है|

दिल्ली का पिन कोड क्या है?

Delhi का PIN prefix 11 है| Delhi के pin code 110001 से शुरू होते है| 

मध्य प्रदेश पिन कोड क्या है?

मध्य प्रदेश के PIN prefix 45–48 है| मध्य प्रदेश के pin code 481445 से शुरू होते है|

राजस्थान पिन कोड नंबर क्या है?

राजस्थान के PIN prefix 30–34 है| राजस्थान के pin code 313801 और 313802 है|

Dehradun Ka Pin Code Kya Hai?

Dehradun का pin code 248198 है|

Haridwar Ka Pin Code Kya Hai?

Haridwar का पिन कोड 249401 है|

Sirsa Ka Pin Code Kya Hai?

Sirsa का पिन कोड 125055 है|

3 thoughts on “PIN Code क्या है और कैसे पता करे?”

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top