SMPS क्या है और कैसे काम करता है | SMPS की फुल फॉर्म क्या है?

SMPS क्या और कैसे काम करता है

दोस्तों क्या आप जानते हैं कि SMPS क्या और कैसे काम करता है? हम सभी जानते हैं कि आज के समय में हर कोई कंप्यूटर का इस्तेमाल करता है और काफी घरो में डेस्कटॉप या लैपटॉप का इस्तेमाल होता है|  कंप्यूटर का इस्तेमाल करने के लिए बिजली की जरूरत पड़ती है|  आपको यह भी पता होगा कि कंप्यूटर के अंदर बहुत सारे पार्ट्स का इस्तेमाल किया जाता है जो बिजली की मदद से काम करते हैं| 

क्या आप जानते कि दूसरे बिजली से चलने वाले उपकरन जैसे कि फ्रीज, टीवी, प्रेस यह हमारे घरों में आम होती है| इनको भी चलने के लिए बिजली की जरूरत होती है| यह सरे उपकरन काफी हाई वोल्टेज बिजली पर चलते हैं| लेकिन कंप्यूटर को चलने के लिए बहुत कम बिजली की जरूरत होती है| अगर कंप्यूटर भी इस वोल्टेज पर चलेगा तो कंप्यूटर के पार्ट्स जल जाएंगे। कंप्यूटर को कितनी बिजली चलने के लिए चाहिए होती है| कंप्यूटर में कौन सा पार्ट है जो इस बिजली को कंट्रोल करता है आज हम उसके बारे में आपको बताने जा रहे हैं।

SMPS की फुल फॉर्म क्या है?

SMPS की फुल फॉर्म Switch Mode Power Supply है|

SMPS क्या है?

SMPS की फुल फॉर्म Switch Mode Power Supply है| जो डेक्सटॉप में बिजली सप्लाई का काम करता है| यह एक इलेक्ट्रॉनिक पार्ट है| अगर आप मार्केट से इस पार्ट को लेने जाते हैं तो यह आपको एक square डब्बे की शेप में बना हुआ मिलता है| इस इलेक्ट्रॉनिक्स पार्ट्स का मुख्य काम कंप्यूटर के अलग-अलग पार्ट्स को बिजली सप्लाई करना है|  जैसे कि Motherboard, RAM, Fan आदि| इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस की मदद से ही Motherboard के अलग-अलग पार्ट में बिजली की सप्लाई होती है| 

अब आप थोड़ा बहुत SMPS के बारे में तो जान ही चुके हैं| जैसे कि घर के Main Board से बिजली की सप्लाई कंप्यूटर में आती है तो यह है AC Current करंट के फॉर्म में होती है| जैसे ही यह बिजली कंप्यूटर के SMPS के पास जाती है तो यह AC Current को DC (Direct Current) में बदल देता है| ऐसा करने के लिए इसे Capacitor और DIODE का इस्तेमाल करना पड़ता है| यह Regulator की मदद से कभी भी Switch को कभी भी ON या OFF भी कर सकता है| SMPS बिजली को AC से DC में कन्वर्ट कर देता है और कभी DC को AC में कन्वर्ट कर देता है|  इसलिए इसे Switch Mode Power Supply कहा जाता है।

SMPS क्यों जरुरी है?

SMPS हमारे सभी इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस के लिए बहुत ज्यादा जरूरी है|  क्योंकि SMPS का सबसे ज्यादा बड़ा फायदा यह है कि SMPS पावर की कमी को बहुत ही आसानी से पूरा कर देता है| इसके अलावा यह ट्रांसफार्मर की तरह आकार में बड़ा नहीं होता यह छोटा और हल्का होता है| SMPS गर्म भी बहुत कम होता है| SMPS पावर सप्लाई का ऐसा सिस्टम है जिसके द्वारा हम इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस की बिजली को पूरा कर सकते हैं| इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस को SMPS के द्वारा हम खराब होने से भी बचा सकते हैं और उन्हें सुरक्षा प्रदान कर सकते हैं| इसलिए SMPS का होना बहुत जरूरी है| 

SMPS के प्रमुख कार्य क्या है?

  • SMPS इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों को चालू करने के लिए इस्तेमाल किया जाता है| यह source से load तक पावर सप्लाई करने का काम करता है। 
  • SMPS wall-voltage AC power को lower voltage DC power में कन्वर्ट करता है। 
  • I/P voltage में भिन्नता के बावजूद यह इलेक्ट्रॉनिक पावर को रेगुलेट करके reliable output प्रदान करने में मदद करता है। 
  • कंप्यूटर के अंदर मौजूद अलग-अलग components को अलग-अलग मात्रा में इलेक्ट्रॉनिक पावर की जरूरत होती है| SMPS हर पार्ट्स को उसकी जरूरत के अनुसार उसको पावर प्रदान करता है।

SMPS कैसे काम करता है?

सबसे पहले करंट cable से कंप्यूटर में pass होता है| फिर वह करंट SMPS के अंदर जो छोटे डिवाइस है उनके अंदर होते हुए जाता है| सबसे पहले वह करंट AC Filter के पास जाता है और वहां AC Filter करने की प्रक्रिया में Nutral और Phase के बीच में NTC, Fuse, line Filter, PF Capacitor का इस्तेमाल होता है| इसके मिलने वाली Output को Rectifier और Filter को दिया जाता है, जो कि इसको AC से DC में Convert करता है| Rectifier और Filter वह दो capacitor की मदद से Smooth Direct Current में कन्वर्ट करता है और इस प्रक्रिया का output pure DC होता है| इसको switching transistor को दिया जाता है| यहाँ पर 2 NPN transistor का इस्तेमाल किया जाता है| जो कि switching Cycle की मदद से फिर एक AC Output देता है|

इसके बाद फिर एक बार Rectifier और Filter को दिया जाता है जो फिर AC Supply को एक बार फिर Smooth DC में Convert करता है| (हम आपको बताना चाहते है कि घरो में जो current transformer के पास आता है वो है AC और Battery में जो current आता है वो DC होता है|) इस प्रकिर्या के बाद जो Output निकलता है वह फिर 3 Form में होता है 3 VOLT, 5 VOLT, 12 VOLT यह SMPS की primary और Secondary circuit है| 

लेकिन primary circuit के Rectifier और Filter एक Output Starter transformer के साथ Connect होता है| ये Starter के साथ Connect होता जिसको और एक Amplifier IC के साथ Connect किया जाता है| इसके 3 Output WIRE होते हैं|  Amplifier IC, SMPS के ऐसे area है जहाँ पर पूरा management का काम किया जाता है| Amplifier IC से 3 Major Cable निकलते हैं| एक होती है green cable जो कि Power on केबल होता है| दूसरा Violet color का केबल होता है जो कि +5 volt का Standby current देता है|  तीसरा केबल Gray color का होता है, जिसको Power Bood cable कहते है|

इन तीनो Output Cable MotherBoard connect होते है| Switching Transister और amplifier IC एक Driver के साथ Connect रहता है| इसको amplifier IC के जरिये Control किया ज्याता है| इसके अलावा Secondary Switching Circuit से एक sensing wire आता है जो की Amplifier IC को load के बढ़ने के बारे में बताता है| उस लोड के मुताबिक DRIVER उसी समय  SWITCHING Transiter के ON OFF की प्रक्रिया को बढ़ा देता है| और जिस से एक Constant speed में Voltage मिलता रहता है| यह Voltage +12volt, +5volt और +3volt होता है| इसी प्रक्रिया को switching Mode Power Supply बोला जाता है| जब green cable का Power on होता है तब SMPS से MotherBoard को 12v, 5v, और 3v मिलता है| इस प्रकार SMPS काम करता है| 

Direct Current और Alternative Current क्या है?

Alternative Current में चार्ज का flow दोनों दिशाओं में होता है यह flow negative से positive और positive से negative दिशा में होता है| और अगर हम बात Direct Current की करें तो यह सिर्फ एक ही दिशा में काम करता है और यह दिशा negative से positive होती हैं। 

उदाहरण के तौर पर आपके घरों में जो बिजली आती है वह Alternative Current पास करती है| वही जो आपके टीवी जा AC का रिमोट होता है उसमें जो बैटरी का इस्तेमाल किया जाता है| उसमें Direct Current होता है। ठीक उसी तरह कंप्यूटर को चलने के लिए DC Current की जरूरत होती है| इसलिए हम AC करंट को DC में कन्वर्ट करने के लिए एक डिवाइस का इस्तेमाल करते हैं और इस डिवाइस को SMPS कहते हैं| 

SMPS के प्रकार (Types SMPS in Hindi)

  • DC से DC Converter
  • Forward Converter
  • Flyback Converter
  • Self-Oscillating Flyback Converter

DC से DC Converter

यह SMPS कनवर्टर का है टाइप है SMPS के पास जो करंट आता है वह AC Current होता है उसको DC में कन्वर्ट करने के लिए जो Current DC converter  के पास होता है| वह पहले step down transformer के primary side से गुजरता | यह step down transformer SMPS का ही एक हिस्सा है| जो कि 50Hz  का होता है| यहां Voltage filter और rectified होकर transformer के secondary हिस्से में जाता है| फिर यह Output Voltage पावर से बाहर निकल कर अलग-अलग हिस्सों में भेजा जाता है| इसकी Output को एक बार फिर वापस Switch के पास Voltage को कंट्रोल करने के लिए भेजा जाता है|

Forward Converter

यह भी एक कनवर्टर है जो Chock के जरिए current को लेकर जाता है चाहे उस समय Transistor अपना काम कर रहा हो या नहीं| फिर भी यह करंट को Chock के जरिए लेकर जाता है| जब Transistor पूरी तरह से बंद हो जाता है तब यह काम DIODE करता है| इसी वजह से जब Transistor On या Off होता है तो उस समय load के अंदर energy जाती है लेकिन चौक energy को On period के समय रखता है और कुछ energy को है Output load के पास भेजता है|

Flyback Converter

जब Flyback Converter में Switch on रहता है तब inductor का Magnetic Field Energy Store करता है| जब Switch on स्तिथि में होता है तो उर्जा निर्गम Voltage circuit में खाली होती है| उस समय Duty Cycle Output voltage को निर्धारित करता है|

Self-Oscillating Flyback Converter

ये सबसे आसन और Basic Converter है जो की Flyback के उपर काम करता है| Conduction के समय switching transistor, transfer से primary रूप से एक Slope के हिसाब से बढ़ता है जो की Vin/Lp.होता है| 

SMPS के प्रकार इस्तेमाल के हिसाब से

Power Supply के प्रकार उसके आकार और इस्तेमाल के उपर निर्भर करता है| उसके प्रकार है ATx SMPS, AT SMPS,और Baby SMPS. लेकिन ज्यदातर AT और ATx ज्यादा इस्तेमाल होता है.

हम आपको बताना चाहेंगे कि AT SMPS का पूरा नाम है Advance Technology SMPS है और ATx SMPS का पूरा नाम है Advance Technology Extended SMPS है| 

SMPS के Connectors

20+4 Pin ATX

यह एक MotherBoard Connector है| यह connector MotherBoard को +12 Volt का charge देता है| यह Connector AT SMPS 20 और ATX SMPS 24 Pin इस्तेमाल करता है|

CPU4+4 पिन Connector

ये Connector CPU के लिए इस्तेमाल होता यही है| यह Connector CPU के लिए 4 पिन का इस्तेमाल करता है|  जो 12 Volt का होता हैं|

SATA Power Connector

Computer में Hard Disk और DVD ROM होते हैं| इनको यह Power Connector Power देता है|

भविष्य में SMPS कैसे होंगे?

भविष्य में कुछ खास तरह के SMPS का इस्तेमाल किया जाएगा| जो अच्छे voltage को कन्वर्ट कर सकेंगे| 

  • ज्यादा output दे सकेंगे और ज्यादा output ले सकेंगे| 
  • कम voltage output कर सकेंगे। 
  • इन की मदद से power को भी बढ़ाया जा सकेगा। 
  • Switching mode और भी तेजी से काम कर सकेंगे।

SMPS के फायदे क्या है?

  • SMPS का सबसे बड़ा फायदा यह है कि यह transformer की तरह आकार में बड़ा और भारी नहीं होता| यह छोटा और हल्का होता है। 
  • Transformer की तुलना से बहुत कम गर्मी में उत्सर्जित करता है| मगर यह इसकी कार्य करने की क्षमता पर भी निर्भर करता है।

SMPS के नुक्सान क्या है?

  • SMPS का सबसे बड़ा नुकसान है कि इसकी कार्यप्रणाली बहुत ही ज्यादा जटिल है| जिसको समझना काफी मुश्किल है| अगर SMPS कभी खराब हो जाता है तो इसको बनाने में बहुत ज्यादा खर्च आता है|  उतने में आप 1 साल की गारंटी के साथ नया SMPS खरीद सकते है| 
  • हमारे स्वास्थ्य पर बहुत बुरा असर डालता है क्योंकि यह High Frequency पैदा करता है| जिस वजह से यह हार्मोनिक डिस्टॉरशन का भी कारन बन सकता है| 

अब आप जान चुके हैं कि SMPS क्या है और कैसे काम करता है? SMPS  क्यों जरूरी है? SMPS के प्रमुख कार्य क्या है? SMPS कितने प्रकार के होते हैं। Direct Current और Alternative Current क्या है? उम्मीद करते हैं कि हमारे द्वारा शेयर करें गई जानकारी को पढ़ने के बाद आपके इस जानकारी से संबंधित जितने भी सवाल थे आपको उनके जवाब मिल गए होंगे। अगर आपको इस जानकारी से संबंधित कोई भी डाउट हो तो आप हमें नीचे कमेंट बॉक्स में कमेंट कर सकते हैं| 

ये भी पढ़े:

Nominee क्या होता है?

Recurring Deposit क्या है?

EMI क्या है?

FAQ (Frequently Asked Questions)

Alternating Current और Direct Current में क्या अंतर है?

Alternative Current में चार्ज का flow दोनों दिशाओं में होता है यह flow negative से positive और positive से negative दिशा में होता है| और अगर हम बात Direct Current की करें तो यह सिर्फ एक ही दिशा में काम करता है और यह दिशा negative से positive होती हैं। 

उदाहरण के तौर पर आपके घरों में जो बिजली आती है वह Alternative Current पास करती है| वही जो आपके टीवी जा AC का रिमोट होता है उसमें जो बैटरी का इस्तेमाल किया जाता है| उसमें Direct Current होता है।

SMPS की फुल फॉर्म क्या है?

SMPS की फुल फॉर्म Switch Mode Power Supply है|

SMPS की फुल फॉर्म हिंदी में क्या है?

SMPS की फुल फॉर्म हिंदी में स्विच मोड बिजली की आपूर्ति होता है| 

Your Answer

Your email address will not be published.

Scroll to Top