मिनटों में आधार वर्चुअल आईडी जेनरेट कैसे करें या निकाले?

How to Generate Virtual id for Aadhar – अगर आप भी अपने आधार कार्ड की जानकारी को सुरक्षित रखना चाहते हैं, तो आपको जल्द से जल्द आधार वर्चुअल आईडी जेनरेट कर लेनी चाहिए, क्योंकि आधार वर्चुअल आईडी का इस्तेमाल आप सरकारी, गैर सरकारी जगह पर ई केवाईसी करने, आधार कार्ड की वेरिफिकेशन करने जैसे काम के लिए कर सकते हैं| अगर आपको मालूम नहीं है कि आधार वर्चुअल आईडी जेनरेट कैसे करें? तो आपको घबराने की जरूरत नहीं है| आप इस लेख में बताए गए तरीकों का इस्तेमाल करके आधार कार्ड वर्चुअल आईडी जनरेट कर सकते हैं| 

आधार वर्चुअल आईडी जेनरेट कैसे करें?

जब आप अपने आधार कार्ड की जानकारी को सुरक्षित रखने के लिए 16 अंकों की आधार वर्चुअल आईडी जेनरेट करते हैं तो आपके पास 3 तरीके हैं| पहले तरीके में आप UIDAI की आधिकारिक वेबसाइट पर जाकर आधार कार्ड वर्चुअल आईडी जेनरेट कर सकते हैं| दूसरे तरीके में आप अपने मोबाइल फोन में mAadhaar ऐप डाउनलोड करके वर्चुअल आईडी जेनरेट कर सकते हैं|

तीसरे तरीक़े में आप अपने मोबाइल नंबर से मैसेज भेज कर आधार वर्चुअल आईडी जेनरेट कर सकते है| इस लेख में हम आपके साथ सभी तरीकों से वर्चुअल आईडी जेनरेट करने की प्रक्रिया के बारे में जनकारी शेयर करने जा रहे है|

आधार वर्चुअल आईडी ऑनलाइन कैसे बनाएं?

  • सबसे पहले आप ने uidai की myaadhaar.uidai.gov.in वेबसाइट पर जाना है| 
  • फिर आप ने अपने आधार कार्ड और मोबाइल नंबर की मदद से वेबसाइट में लॉगिन करना है| 
  • फिर आप ने डैशबोर्ड में जाकर Generate Virtual ID के विकल्प पर क्लिक करना है| 
आधार वर्चुअल आईडी जेनरेट कैसे करें या निकाले
आधार वर्चुअल आईडी जेनरेट कैसे करें या निकाले

  • फिर आप ने Generate VID के सामने टिक करना है और NEXT बटन पर क्लिक करना है| 
आधार वर्चुअल आईडी जेनरेट कैसे करें या निकाले
आधार वर्चुअल आईडी जेनरेट कैसे करें या निकाले

  • फिर आपके रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर आधार कार्ड के आखरी 4 नंबर के साथ 16 नंबर का वर्चुअल आईडी नंबर जनरेट करके भेज दिया जाएगा| 
  • फिर आपको Congratulation का मैसेज भी आ जाएगा|

आप ने इस बात का खास ध्यान रखना है कि जब आप आधार वर्चुअल आईडी जेनरेट करते हैं तो आपके पास आधार कार्ड से लिंक मोबाइल नंबर होना चाहिए, क्योंकि आधार कार्ड से लिंक मोबाइल नंबर पर ही मैसेज भेजा जाता है| उसके बाद ही आपको आधार वर्चुअल आईडी जेनरेट होकर मिलती है। अगर आपके आधार कार्ड के साथ मोबाइल नंबर लिंक नहीं होगा तो आप आधार वर्चुअल आईडी जनरेट नहीं कर सकते है| फिर आपको सबसे पहले आधार कार्ड से मोबाइल नंबर लिंक करना है और उसके बाद वर्चुअल आईडी जनरेट करनी है|

Also Read: Aadhar Card VID Full Form in Hindi

mAadhaar App के जरिए आधार वर्चुअल आईडी कैसे निकाले?

  • सबसे पहले अप ने अपने मोबाइल फोन में mAadhaar App को डाउनलोड करना है| 
  • फिर आप ने ऐप को इंस्टॉल करना है और ओपन करना है| 
  • फिर आप ने ऐप के डैशबोर्ड में जाकर Generate Virtual ID के विकल्प पर क्लिक करना है| 
  • फिर आप ने अपना आधार नंबर, कैप्चा कोड भरकर Send OTP के विकल्प पर क्लिक करना है| 
  • फिर आपके मोबाइल पर ओटीपी आएगा, उस ओटीपी को वेबसाइट में सबमिट करना है| 
  • फिर आप ने Generate VID के विकल्प पर क्लिक करना है और आपकी 16 अंकों की वर्चुअल आईडी जेनरेट हो जाएगी| 
  • फिर आपके मोबाइल नंबर पर आधार नंबर के साथ 16 अंकों का वर्चुअल आईडी नंबर भेज दिया जाएगा|

SMS से आधार वर्चुअल आईडी जेनरेट कैसे करें

सबसे पहले आप ने अपने मोबाइल नंबर से GVID और आधार कार्ड के आखिरी 4 नंबर लिखकर 1947 पर मैसेज सेंड करना है| फिर आपके मोबाइल नंबर पर एक मैसेज प्राप्त होगा, जिसमें आपको 16 अंकों की आधार वर्चुअल आईडी प्राप्त हो जाएगी| 

उदाहरण के तौर पर GVID 1234 >> send to >> 1947 

अपने इस बात का खास ध्यान रखना है कि जिस मोबाइल नंबर से आप मैसेज सेंड करने लगे हैं, वह मोबाइल नंबर आपके आधार कार्ड के साथ लिंक होना चाहिए| अगर आप अन्य मोबाइल नंबर से sms भेजते हैं तो आपको आधार कार्ड वर्चुअल आईडी प्राप्त नहीं होगी।

आधार वर्चुअल आईडी क्या है?

आधार वर्चुअल आईडी, आधार कार्ड के साथ मैप किया गया 16 अंकों का एक नंबर होता है| जिसका इस्तेमाल आप आधार कार्ड की वेरिफिकेशन, ई केवाईसी प्रोसेस के लिए कर सकते हैं| आप आधार कार्ड का इस्तेमाल किए बिना वर्चुअल आईडी को आधार कार्ड की जगह इस्तेमाल कर सकते है और आधार कार्ड से होने वाले सभी काम पूरे कर सकते हैं| 

आधार वर्चुअल आईडी की आवश्यकता क्यों होती है? 

पिछले कुछ समय से आधार कार्ड से होने वाले फ्रॉड के काफी मामले सामने आ रहे हैं| इस बात को ध्यान में रखते हुए UIDAI ने आधार वर्चुअल आईडी की सुविधा को लॉन्च किया है, ताकि आधार कार्ड से होने वाले ऑनलाइन फ्रॉड पर रोकथाम लगाई जा सके| आधार वर्चुअल आईडी जेनरेट करने से आधार धारक अपने आधार कार्ड की जानकारी को सुरक्षित रख सकता है और आधार वर्चुअल आईडी से आधार कार्ड की वेरिफिकेशन जैसे काम को भी कर सकता है| 

जब आधार धारक किसी फर्म या कंपनी को अपनी आधार वर्चुअल आईडी देता है, तो कोई भी फर्म या कंपनी आधार धारक के आधार नंबर और अन्य जानकारी को प्राप्त नहीं कर सकते है और आधार कार्ड की जानकारी भी सुरक्षित रहती है| इसलिए आधार वर्चुअल आईडी हर एक आधार धारक के लिए आवशयक है।

आधार कार्ड वर्चुअल आईडी का इस्तेमाल कहां कर सकते हैं?

आप अपने आधार कार्ड वर्चुअल आईडी का इस्तेमाल आधार कार्ड की जगह कहीं भी कर सकते हैं| 

  • आप बैंकिंग क्षेत्र में आधार वर्चुअल आईडी का इस्तेमाल कर सकते हैं| 
  • आप सरकारी, गैर सरकारी योजना, पेंशन योजना का लाभ उठाने के लिए आधार वर्चुअल आईडी का इस्तेमाल कर सकते हैं| 
  • आप अपने आधार कार्ड की वेरिफिकेशन करने के लिए भी आधार वर्चुअल आईडी का इस्तेमाल कर सकते हैं।

आधार वर्चुअल आईडी के फायदे

  • आधार कार्ड वर्चुअल आईडी जेनरेट करने के आपको काफी फायदे हैं जैसे कि:-
  • आप अपने आधार कार्ड की जानकारी को सुरक्षित रख सकते हैं| 
  • आप अपने आधार कार्ड की जानकारी को लीक होने से बचा सकते हैं| 
  • आप अपने आधार कार्ड की जानकारी का दुरुपयोग होने से बचा सकते हैं| 
  • अगर आप किसी एजेंसी या फर्म को आधार वर्चुअल आईडी देते हैं, तो वह आपके आधार नंबर को प्राप्त नहीं कर सकते हैं| 
  • किसी भी सरकारी, गैर सरकारी संस्था पर वर्चुअल आईडी देने से आपके आधार कार्ड की जानकारी सुरक्षित रहती है|

Conclusion

उम्मीद करते हैं कि हमारे द्वारा शेयर करी गई जानकारी आधार कार्ड से वर्चुअल आईडी जेनरेट कैसे करें, वर्चुअल आईडी क्यों जरूरी है, वर्चुअल आईडी के फायदे क्या है? आपके लिए लाभदायक सिद्ध होगी| आप इस जानकारी को पढ़ने के बाद भी जल्द से जल्द आधार कार्ड को सुरक्षित रखने के लिए वर्चुअल आईडी जेनरेट जरूर करेंगे| अगर आपको हमारे द्वारा शेयर करी गई जानकारी पसंद आई हो या फिर आप हमें कोई राय देना चाहते हैं, तो नीचे कमेंट बॉक्स में कमेंट कर सकते हैं।

FAQ (Frequently Asked Questions)

आधार वर्चुअल आईडी कब तक वैध रहती है?

जब आप आधार कार्ड से 16 अंकों की वर्चुअल आईडी जेनरेट करते हैं तो आपकी वर्चुअल आईडी लाइफ टाइम के लिए वैध रहती है| लेकिन अगर आप अपने आधार कार्ड के लिए दोबारा से वर्चुअल आईडी जेनरेट करते हैं तब आपकी पहले वाली वर्चुअल आईडी वैध नहीं रहती है, यानी की नई वर्चुअल आईडी जेनरेट करने तक आपकी पहले वाली वर्चुअल आईडी वैलिड रहती है|