भारत में सबसे पहले आधार कार्ड किसका बना था?

आधार कार्ड भारत में पहचान के तौर पर इस्तेमाल किया जाता है, जिसकी वजह से आधार कार्ड एक महत्वपूर्ण दस्तावेज बन गया है| लेकिन मजे की बात यह है कि आज के इस लेख में हम आपको बताएंगे कि भारत में सबसे पहले आधार कार्ड किसका बना था और वह व्यक्ति किस राज्य का था| साथ ही हम आपको यह भी बताएंगे कि आधार कार्ड को लॉन्च किसने किया था| सारी जानकारी प्राप्त करने के लिए आप हमारे इस लेख को अंत तक जरूर पढ़े|

भारत में आधार कार्ड को लांच कब किया गया था?

भारत में आधार कार्ड प्रोजेक्ट को 28 जनवरी 2009 को लॉन्च किया गया था| यह प्रोजेक्ट महाराष्ट्र के नंदूरबा जिले के टेंभ्ली गांव में लांच किया गया था|

आधार कार्ड को लॉन्च किसने किया था?

आधार कार्ड भारत की योजनाओं में इतिहास की सबसे बड़ी योजना है, जिसको यूपीए चेयरपर्सन सोनिया गांधी और तत्कालीन प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह जी ने लॉन्च किया था| इस प्रोजेक्ट को उन्होंने महाराष्ट्र के नंदूरबा जिले में लॉन्च किया था| 

आधार कार्ड को लॉन्च करते समय उन्होंने बताया था कि आधार कार्ड बनाने से व्यक्ति की एक यूनिक आईडी बन जाएगी और इस आईडी को बायोमैट्रिक के साथ लिंक किया जाएगा| जिससे फायदा यह होगा कि व्यक्ति की एक विशेष पहचान बन जाएगी| 

भारत में आधार कार्ड की शुरुआत कब हुई थी?

भारत में आधार कार्ड की शुरुआत 29 सितंबर, 2010 में हुई थी और इसी दिन भारत के पहले नागरिक का आधार कार्ड बना था|

Also Read: मोबाइल नंबर से आधार कार्ड कैसे निकाले?

भारत में सबसे पहले आधार कार्ड किसका बना था?

जब आधार कार्ड प्रोजेक्ट को लांच किया गया था तो प्रोजेक्ट में पहला आधार कार्ड एक मराठी महिला जिसका नाम रंजना सोनवने हैं, उसको आधार कार्ड बना कर दिया गया था| रंजना सोनवने उत्तरी महाराष्ट्र के नंदूरबा जिले के टेंभ्ली गांव की रहने वाली है| 

जब रंजना को आधार कार्ड बना कर दिया गया था, तब उस समय के प्रकाशित मीडिया के अनुसार रंजना सोनवने का आधार कार्ड का नंबर 782474317884 दिया गया था| रंजना का नाम आधार कार्ड प्रोजेक्ट के इतिहास में भी दर्ज हो गया है, क्यूंकि रंजना सोनवने आधार प्रोजेक्ट के लांच समय पहली आधार बनवाने वाली महिला बनी है|

आधार कार्ड मिलते समय रंजना के मन में क्या चल रहा था?

उसे समय रंजना को मालूम नहीं था कि आधार कार्ड का उसे क्या फायदा होगा, लेकिन उसे यह जरूर मालूम था कि आने वाले समय में उसे आधार कार्ड से कुछ ना कुछ मदद जरूर मिलेगी| इसके अलावा रंजना ने यह भी बताया था कि उसका घर बहुत छोटा है और उसके घर में सरकारी कागजात संभाल कर रखना में उसे बहुत मुश्किल होती है| 

क्या आधार कार्ड बनवाते समय रंजना अकेली थी?

जी नहीं जब आधार कार्ड बनाया जा रहा था, उस समय सिर्फ रंजना का ही आधार कार्ड नहीं बना था, बल्कि उसके साथ 10 और लोग भी थे जिनका आधार कार्ड बनाया गया था| जब उनसे बात की गई तो उनसे बात करने पर पता चला कि आधार कार्ड बनवाते समय उनके मन में यह विचार आ रहा था कि आने वाले समय में आधार कार्ड भ्रष्टाचार पर लगाम लगाने में जरूर मददगार साबित होगा।

शुरुआत से लेकर अब तक आधार कार्ड का वेरवा

Bharat me sabse pehle aadhar card kiska bana tha

Conclusion

उम्मीद करते हैं कि हमारे द्वारा शेयर करी गई जानकारी भारत में सबसे पहले आधार कार्ड किसका बना था, आपके लिए लाभदायक सिद्ध होगी और इस जानकारी को पढ़ने के बाद आपको पता चल गया होगा कि भारत में आधार कार्ड कब और किसने लांच किया था और किसका आधार कार्ड सबसे पहले बना था| उम्मीद करते हैं कि हमारे द्वारा शेयर करी गई जानकारी आपको पसंद आई होगी| अगर आप हमें कोई राय देना चाहते हैं तो आप नीचे कमेंट बॉक्स में कमेंट कर सकते हैं।

FAQ (Frequently Asked Questions)

UP में आधार कार्ड कब लागू हुआ था?

भारत में आधार कार्ड प्रोजेक्ट 2009 में शुरू किया गया था और 2010 में आधार कार्ड बनाने का काम शुरू किया गया था| उसी समय साल 2010 में Up में आधार कार्ड लागु हुआ था|

बिहार में आधार कार्ड कब लागू हुआ था?

जब पुरे देश में साल 2010 में आधार कार्ड बनवाने के लिए प्रोजेक्ट को हर राज्य में पहुचांया गया था, उसी समय 2010 में बिहार में आधार कार्ड को लागू किया गया था|

Mp में आधार कार्ड कब लागू हुआ था?

साल 2010 में पहला आधार कार्ड प्रोजेक्ट महाराष्ट्र में शुरू किया गया था| इस समय भारत के अन्य राज्यों में भी आधार कार्ड प्रोजेक्ट शुरू कर दिया गया था| जिसकी बदौलत 2010 में Mp में भी आधार कार्ड लागू हो गया था|