Aadhaar Card से होने वाले ऑनलाइन फ्रॉड पर लगेगी लगाम, लीक नहीं होगी केवाईसी की जानकारी; आ गया ये सॉफ्टवेयर

Aadhaar Card से होने वाले ऑनलाइन फ्रॉड पर लगेगी लगाम – हर रोज के बढ़ते हुए आधार ऑनलाइन फ्रॉड पर रोकथाम लगाने के लिए केंद्र सरकार ने डाटा प्राइवेसी डाटा प्रोटक्शन एक्ट 2023 में लागू किया था, ताकि आधार कार्ड में आवेदक की सारी जानकारी को गोपनीय रखा जा सके| ऐसा करने से कोई भी आवेदक की आधार कार्ड की जानकारी का इस्तेमाल करके कोई इसका दुरुपयोग नहीं कर सकेगा| इसके लिए सरकार UIDAI से मिलकर बहुत जल्द एक सॉफ्टवेयर लाने वाली है

Aadhaar Card से होने वाले ऑनलाइन फ्रॉड पर लगेगी लगाम, आ गया ये सॉफ्टवेयर

फिलहाल के आंकड़ों के मुताबिक हर महीने लगभग 200 करोड लोग आधार प्रमाणीकरण करते हैं, जिसको ध्यान में रखते हुए आवेदक की आधार जानकारी को सुरक्षित रखने का काम बहुत ही ज्यादा मुश्किल हो रहा है| लेकिन फिर भी यूआईडी की मदद से सॉफ्टवेयर को जल्द ही मार्केट में उतरने की कोशिश की जा रही है| जिससे आधार केवाईसी की जानकारी लीक नहीं होगी, , जो ऑनलाइन फ्रॉड पर लगाम लगाने में मददगार साबित होगा| 

आधार जानकारी पर बना रहता है खतरा

जब भी आप किसी होटल, रेस्टोरेंट, हॉस्पिटल, बैंक या अन्य जगहों पर अपने आधार कार्ड का इस्तेमाल करते हैं तो आप आधार कार्ड और पैन कार्ड की फोटो कॉपी देते हैं| जिसके कारण आपकी इनफॉरमेशन का दुरूपयोग होने का खतरा बना रहता है| इसी वजह से ऑनलाइन फ्रॉड के मामले पुलिस के सामने काफी ज्यादा आ रहे है, जिसे सुलझाने में पुलिस को भी काफी मशक्कत करनी पड़ रही है| 

Also Read: Last Date of Free Aadhar Card Update Online

सॉफ्टवेयर काम ऐसे करेगा काम

इस प्रोजेक्ट को स्टार्ट करने के लिए एक स्टार्टअप कंपनी सीडैक्स ने दुबई की कंपनी पालिगान टेक्नालाजी से MOU किया है, जिससे स्टार्टअप कंपनी 9 लाख के प्रोजेक्ट पर काम करने जा रही है| इस प्रोजेक्ट को IIT BHU के साथ मिलकर 2022 में शुरू किया गया था| लेकिन अब जल्द ही एक एप्लीकेशन को लांच किया जा रहा है, जिस पर साइन अप करते ही आपका डाटा इंक्रिप्ट हो जाएगा और डाटा कोड जनरेट होगा| जो आपके मोबाइल में अपने आप सुरक्षित हो जाएगा| 

क्यूआर स्कैन करने पर हो जाएगा काम

अब आधार धारक क्यूआर कोड स्कैन करके केवाईसी स्कैनिंग को शुरू कर सकता है और अपने डेटा को वेरीफाई कर सकता है| ऐसा करने से सबसे बड़ा काम यह  होगा आपकी जानकारी आपके मोबाइल में डिजिटल रूप में आ जाएगी| जिसमें आपका डेटा वेरीफाई करने का समय और डेट मोबाइल ऐप पर शो हो जाएगी| ऐसे होने से पेपर व्यवस्था को भी प्रभावित होगी।

Conclusion

उम्मीद करते हैं कि हमारे द्वारा शेयर करी गई जानकारी आपके लिए लाभदायक सिद्ध होगी और इस जानकारी को पढ़ने के बाद आप भी समझ चुके होंगे कि आने वाले समय में आप अपने आधार कार्ड की जानकारी को कैसे सुरक्षित रख सकते हैं| अगर आपको हमारे द्वारा शेयर करी गई जानकारी पसंद आई हो या आप हमें कोई राय देना चाहते हैं, तो नीचे कमेंट बॉक्स में कमेंट कर सकते हैं।