Aadhaar Card: इस उम्र तक बच्चों का 2 बार आधार अपडेट करना हुआ जरुरी, नहीं तो हो जायेगा आधार रद्द

बच्चों का 2 बार आधार अपडेट करना हुआ जरुरी – बच्चों के आधार कार्ड को 2 बार अपडेट करने के लिए UIDAI ने कहा गया है| अगर आप बच्चों का आधार कार्ड दो बार अपडेट नहीं करवाते हैं तो आधार कार्ड रद्द हो जाएगा| आज के समय में आधार कार्ड एक महत्वपूर्ण दस्तावेज है, जिसकी वजह से नवजात बच्चों के भी आधार कार्ड बनाए जा रहे हैं| लेकिन लोग अपने आधार कार्ड को किसी ना किसी वजह से अपडेट करवा लेते हैं, पर नवजात बच्चों के आधार कार्ड पर ध्यान नहीं देते हैं, क्योंकि उनको बच्चों के आधार कार्ड इतनी जरूरत नहीं पड़ती है| 

लेकिन जब कभी बच्चे के आधार कार्ड की जरूरत पड़ती है तो ऐसे में अगर आप ने बच्चे का आधार कार्ड अपडेट नहीं करवाया है तो बच्चे का आधार कार्ड इनएक्टिव हो जाता है| इसलिए छोटे बच्चों का आधार कार्ड 2 बार अपडेट करवाना जरूरी है| 

बच्चों का आधार कार्ड 2 बार कब अपडेट करवाया जाता है?

जब बच्चा नवजात पैदा होता है, तब उसका आधार कार्ड बनाया जाता है, लेकिन उस समय बच्चे का आधार कार्ड बनाते समय बच्चे के माता-पिता के आधार कार्ड की इनफार्मेशन को जोड़ा जाता है| फिर ही बच्चे का आधार कार्ड बनता है| जब बच्चा 5 साल का हो जाता है, तब उसके आधार कार्ड को अपडेट करवाना पड़ता है, क्योंकि उस समय बच्चे का बायोमैट्रिक अपडेट किया जाता है और दूसरी बार बच्चे का आधार कार्ड 15 साल की उम्र में अपडेट करवाना होता है| 

जब आप 15 साल की उम्र में बच्चे का आधार कार्ड अपडेट करवाते हैं तो आपको कोई भी फीस नहीं देनी होती| अगर आप ने 5 साल के बाद बायोमैट्रिक अपडेट नहीं करवाया तो बच्चे का आधार कार्ड इनएक्टिव हो जाता है| ठीक उसी तरह 15 साल तक की उम्र में भी बच्चे का बायोमैट्रिक अपडेट करवाना जरूरी है| वरना बच्चे का आधार कार्ड इनएक्टिव हो जाता है| 

Also Read: आधार कार्ड में मोबाइल नंबर कौनसा है कैसे चेक करें?

कैसे करवाए बच्चों का आधार कार्ड अपडेट?

आपके बच्चे का आधार कार्ड अपडेट करवाने के लिए आप ने नजदीकी नामांकन केंद्र पर जाना है और वहां जाकर आप बच्चे का आधार कार्ड अपडेट करवा सकते हैं| अगर आप किसी वजह से अपने शहर से दूर कहीं रह रहे हैं, तो आप वहां उस शहर में नामांकन केंद्र पर जाकर बच्चे का आधार कार्ड अपडेट करवा सकते हैं| अगर आप आधार कार्ड में पता चेंज करवाना चाहते तो आप बच्चे के माता-पिता के पुराने पते वाला प्रूफ लगाकर बच्चे का आधार कार्ड अपडेट करवा सकते हैं।

बच्चे का आधार कार्ड दो बार अपडेट करवाना क्यों जरूरी है?

जब नवजात बच्चे का आधार कार्ड बनाया जाता है और उसके बाद बच्चे का आधार कार्ड 5 साल की उम्र में अपडेट करवाया जाता है, ताकि उसकी बायोमैट्रिक अपडेट की जा सके| दूसरी बार बच्चे का आधार कार्ड 15 साल की उम्र में अपडेट करवाया जाता है और उस समय भी बायोमैट्रिक अपडेट करी जाती है| 

अगर ऐसे में आप बच्चे का आधार कार्ड अपडेट नहीं करते हैं तो बच्चे का आधार कार्ड इनएक्टिव हो जाता है और जब कभी आपको अपने बच्चे का आधार कार्ड की जरूरत पड़ जाती है और आप उसका इस्तेमाल करते है, तो बच्चे का आधार कार्ड काम नहीं करता| इसलिए बच्चे का आधार कार्ड अपडेट करवाना जरूरी है।

Also Read: मोबाइल नंबर से आधार कार्ड कैसे निकाले?

Conclusion

बच्चों का आधार कार्ड 2 बार अपडेट कैसे किया जाता है और क्यों बच्चे का आधार का 2 बार अपडेट करना जरूरी है| इसके बारे में हमने आपको डिटेल में जानकारी शेयर करी है| उम्मीद करते हैं कि हमारे द्वारा शेयर करी गई जानकारी आपके लिए लाभदायक सिद्ध होगी और इस जानकारी को पढ़ने के बाद आप भी अपने बच्चे का आधार का 2 बार अपडेट जरूर करवाएंगे| अगर आपको हमारे द्वारा शेयर करी गई जानकारी पसंद आई हो या फिर आप हमें कोई राय देना चाहते हैं, तो नीचे कमेंट बॉक्स में कमेंट कर सकते हैं।

FAQ (Frequently Asked Questions)

क्या बच्चे का आधार कार्ड ऑनलाइन अपडेट किया जा सकता है?

जी नहीं, जब आप नवजात बच्चे का आधार कार्ड 5 साल की उम्र में अपडेट करवाते हैं तो आपको बायोमैट्रिक अपडेट करवाना होता है और इसके लिए आपको नजदीकी नामांकन केंद्र पर जाकर ही बच्चे का आधार कार्ड अपडेट करवाना होता है, क्योंकि वहां पर irs स्कैन, उंगलियों के स्कैन किए जाते हैं| जिसके लिए बायोमेट्रिक मशीन और irs मशीन की जरूरत होती है जो नामांकन केंद्र पर ही मौजूद होती है।