Affiliate Marketing क्या है और इससे पैसे कैसे कमाए?

Affialiate Marketing का नाम तो आपने सुना ही होगा और अगर नही सुना तो आज हम अपने इस लेख में इसके बारे में विस्तार से जानकारी प्रदान करेंगे। आज का युग पूरी तरह से इंटरनेट का युग है और इंटरनेट से पैसे कमाने के बहुत से तरीके हैं परंतु उन सब में से सबसे लोकप्रिय और सबसे अधिक पैसे कमाने का जरिया है Affiliate Marketing।

Affiliate Marketing एक प्रकार का प्रदर्शन-आधारित मार्केटिंग है जिसमें एक व्यवसाय सहबद्ध के स्वयं के मार्केटिंग प्रयासों द्वारा लाए गए प्रत्येक आगंतुक या ग्राहक के लिए एक या अधिक सहयोगियों को पुरस्कृत करता है। Affiliate Marketing अन्य इंटरनेट मार्केटिंग विधियों के साथ ओवरलैप हो सकता है, जिसमें ऑर्गेनिक सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन (एसईओ), पेड सर्च इंजन मार्केटिंग (PPC – Pay Per Click), ई-मेल मार्केटिंग, कंटेंट मार्केटिंग और डिस्प्ले विज्ञापन शामिल हैं। Affiliate Marketing बहुत ही आसान है जिसे हर व्यक्ति कर सकते है जिसे इंटरनेट चलाना आता हो। affiliate marketing ख़ासकर उन blogger के लिए भी एक बेहतर विकल्प है जिनका ब्लॉग google adsense से approved नही हो पाता है। वह आसानी से इसका इस्तेमाल कर सकते है। यह डिजिटल मार्केटिंग का एक बेहतरीन तरीका है जो कि ऑनलाइन सेल जनरेट करने और निष्क्रिय कमाई करने की बहुत ही लोकप्रिय योजना है। आज हम Affiliate Marketing क्या है? Affiliate marketing कैसे काम करता है? Affiliate Marketing के क्या क्या फायदे हैं? के बारे में बात करने वाले हैं।

Affiliate Marketing क्या है?

Affiliate Marketing वह प्रक्रिया है जिसके द्वारा एक Affiliate किसी अन्य व्यक्ति या कंपनी के उत्पादों के विपणन के लिए एक कमीशन कमाता है। सहबद्ध केवल उस उत्पाद की खोज करता है जिसका वे आनंद लेते हैं, फिर उस उत्पाद का प्रचार करते हैं और उनके द्वारा की जाने वाली प्रत्येक बिक्री से लाभ का एक हिस्सा अर्जित करते हैं। बिक्री को एक वेबसाइट से दूसरी वेबसाइट पर संबद्ध लिंक के माध्यम से ट्रैक किया जाता है। यह commission अलग-अलग Product का अलग-अलग होता है। इसी Process को affiliate marketing कहते है। एफिलिएट मार्केटिंग करने के लिए आपके पास एक वेबसाइट या ब्लॉग होना आवश्यक है। अगर आपके पास इनमे से कोई भी चीज नहीं है, तो आपकी सोशल मीडिया प्रोफाइल का मजबूत होना आवश्यक है। जिसके जरिये आप अमेज़न, फ्लिपकार्ट या अन्य कई चीजों की एफिलिएट मार्केटिंग कर सकते है। Affiliate Marketing का सबसे बड़ा फायदा यह होता है, की इसमें कमाई बहुत अधिक होती है। अगर आपके पास कोई वेबसाइट या ब्लॉग है तो उस पर ज्यादा ट्रैफिक होना बहुत जरूरी है। इस बिजनस की सबसे अच्छी बात यह है कि आप पूरी तरह से आजाद होते हैं। आप किसी एक कंपनी के लिए काम नहीं करते। आप एक साथ अलग अलग प्रोडक्ट्स को प्रमोट कर सकते हो और सभी से कमीशन प्राप्त कर सकते हो। कमीशन सेल का कुछ प्रतिशत हिस्सा भी हो सकता है या कुछ निश्चित राशी भी। यह प्रोडक्ट्स कुछ भी हो सकते हैं, वेब होस्टिंग से लेकर कपड़ों या इलेक्ट्रॉनिक्स तक।

Affiliate Marketing कैसे काम करता है?

आज का दौर ऑनलाइन शॉपिंग का हो गया है इसलिए कई कंपनियों ने अपने विज्ञापन देने बंद कर दिए क्योंकि इससे उनको ज्यादा मुनाफा नही होता था। लेकिन जिस तरह से लोग डिजिटल युग में कदम रख रहे हैं उस हिसाब से सोशल मीडिया प्लेटफार्म का इस्तेमाल करने वाले लोगों की संख्या बढ़ती जा रही है। ऐसे में सभी Affiliate Marketer सोशल मीडिया प्लेटफार्म की मदद से ज्यादा कमाई कर रहे हैं। Affiliate marketing कार्यक्रम में भाग लेने के लिए, आपको ये पाँच सरल कदम उठाने होंगे:

  • एक Affiliate कार्यक्रम खोजें और उसमें शामिल हों।
  • चुनें कि किस ऑफ़र का प्रचार करना है।
  • प्रत्येक ऑफ़र के लिए एक अद्वितीय Affiliate लिंक प्राप्त करें।
  • उन लिंक को अपने ब्लॉग, सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म या वेबसाइट पर सांझा करें।
  • जब भी कोई व्यक्ति खरीदारी करने के लिए आपके लिंक का उपयोग करता है तो कमीशन प्राप्त करें।

कंपनी और ऑफ़र के आधार पर कमीशन की दरें नाटकीय रूप से भिन्न होती हैं। निचले स्तर पर, आप बिक्री का लगभग 5% अर्जित करेंगे, लेकिन कुछ व्यवस्थाओं के साथ, आप 50% तक कमा सकते हैं, आमतौर पर किसी वर्ग या घटना का प्रचार करते समय। सहबद्ध विपणन कार्यक्रम भी हैं जो प्रतिशत के बजाय प्रति बिक्री एक फ्लैट दर प्रदान करते हैं।

Affiliate Marketing से संबंधित कुछ महत्वपूर्ण परिभाषाएं

Affiliates

Affiliate उन्हे कहा जाता है, जो लोग किसी एफिलिएट प्रोग्राम को ज्वाइन करते हैं और उनके प्रोडक्ट्स को अपने ब्लॉग या वेबसाइट पर प्रमोट करते हैं।

Affiliate Marketplace

इसके अंतर्गत कुछ ऐसी कंपनियां आती हैं जो अलग अलग श्रेणियों में एफिलिएट प्रोग्राम ऑफर करती हैं उन्हें एफिलिएट मार्केटप्लेस कहा जाता है।

Affiliate ID

यह एक यूनिक आईडी होती है, जो एफिलिएट प्रोग्राम द्वारा हर एक एफिलिएट को प्रदान की जाती है। यह प्रत्येक अकाउंट के लिए अलग अलग होती है जो आपकी सभी सेल्स की जानकारियों को ट्रैक करती है।

Affiliate Link

एफिलिएट लिंक वो लिंक होता है जो आपको एफिलिएट प्रोग्राम द्वारा प्रदान किया जाता है। इसको आप आपने ब्लॉग या वेबसाइट पर डाल सकते है। इसको क्लिक करके ही विजिटर उस प्रोडक्ट की वेबसाइट पर पहुंचता है और जब विजिटर उस प्रोडक्ट को खरीदता है तो उसका कमीशन आपको मिलता है। इस लिंक के द्वारा ही एफिलिएट प्रोग्राम चलाने वाले आपकी सेल्स को ट्रैक करते हैं।

Commission

वह राशि जो एफिलिएट को प्रत्येक सेल के हिसाब से प्रदान की जाती है उसे कमीशन कहा जाता है। यह अलग अलग प्रोडक्ट्स पर अलग अलग होता है, कुछ प्रोडक्ट पर यह कुछ प्रतिशत होता है और कुछ प्रोडक्ट्स पर निश्चित राशि होती है।

Link Clocking

ज्यादातर लिंक बहुत बड़े और दिखने में अजीब होते है। उस लिंक को किसी भी URL Shortners की मदद से छोटा करके किसी ब्लॉग पर लगाना ही Link Clocking कहलाता है।

Affiliate Manager

प्रत्येक एफिलिएट प्रोग्राम द्वारा कुछ लोग नियुक्त किए जाते हैं जिन्हें एफिलिएट मैनेजर कहा जाता है। यह समय समय पर एफिलेट्स को सही सुझाव देते हैं और उनकी मदद करते हैं।

Payment Mode

इसका अर्थ है वह माध्यम जिसके द्वारा आपको आपका कमीशन दिया जाएगा। अलग अलग एफिलिएट प्रोग्राम अलग अलग साधन प्रदान करते हैं जैसे कि Cheque, Paypal, Wire Transfer इत्यादि।

Payment Threshold

वह न्यूनतम राशि जिसे आप पूरा कर लेंगे तब आपको आपका कमीशन दिया जाता है। इसे ही पेमेंट थ्रेशोल्ड कहा जाता है। अलग अलग एफिलिएट प्रोग्राम्स की पेमेंट थ्रेशोल्ड की अमाउंट भी अलग अलग होती है।

Affiliate Marketing से पैसे कैसे कमाए

आज के समय में एफिलिएट मार्केटिंग से बहुत से ब्लॉगर जुड़े हुए हैं और बढ़िया कमाई कर रहे हैं। आप अपनी website, Blog, YouTube channel या फिर facebook, instagram, twitter अकाउंट की मदद से ऑनलाइन किसी कंपनी के प्रोडक्ट एवं सर्विस को बेचकर पैसे कमा सकते हैं।

इसके लिए आपको सबसे पहले किसी एफिलिएट प्रोग्राम चलाने वाली कंपनी के साथ जुड़ना होगा। एफिलिएट मार्केटिंग से कमीशन कमाने की कोई भी सीमा नहीं है, क्योंकि यह काम ही एक ऐसा काम है जिसमें आप जितना ज्यादा प्रोडक्ट और सर्विसेस को बेचेंगे आपको उतनी ही ज्यादा कमीशन मिलेगी ।

इसमें सबसे अच्छी बात यह है आपको प्रोडक्ट को पहले खरीदना नहीं पड़ता है। आप बस उनकी Service or Product का प्रमोशन करते हैं और अगर आपके प्रमोशन के द्वारा उनके प्रोडक्ट्स ओर सर्विसेज बिकते हैं तो उस पर आपको कमीशन मिलता है। सबसे पहले एक बेहतर एफिलिएट प्रोग्राम चुने। इसके बाद एक अच्छा और हाई कमिशन देने वाला प्रोडक्ट चुने। समय समय पर चल रहे ऑफर वाले प्रोडक्ट का लिंक अपनी वेबसाइट पर शेयर करें। जब आपके लिंक से कोई व्यक्ति खरीददारी करेगा, तो आपको उसका कमीशन मिलेगा।

कौनसी कंपनी एफिलिएट प्रोग्राम की सर्विस देती है इसका पता आप गूगल में सर्च करके पता लगा सकते हैं। जैसे किसी एक कंपनी का नाम लिखिए जैसे मान लीजिये Flipkart और उस नाम के साथ affiliate लिखिए और google में search करिए, अगर वो कंपनी affiliate program ऑफर करती है तो आपको उसका link वहां से मिल जायेगा और आप आसानी से उस कंपनी के साथ जुड़ सकते हैं। लेकिन किसी भी कंपनी से जुड़ने से पहले उसके terms and conditions को जरुर पढ़ें।

Affiliate Program से Payment कैसे मिलती है?

वास्तव में किसी प्रोडक्ट को बेचने की परेशानी के बिना पैसा बनाने का एक तेज और सस्ता तरीका, एफिलिएट मार्केटिंग में उन लोगों के लिए एक निर्विवाद ड्रा है जो अपनी कमाई ऑनलाइन बढ़ाना चाहते हैं। लेकिन विक्रेता को उपभोक्ता से जोड़ने के बाद एक सहयोगी को भुगतान कैसे मिलता है?
उत्तर जटिल हो सकता है। कंज्यूमर को किकबैक पाने के लिए हमेशा एफिलिएट के लिए प्रोडक्ट खरीदने की जरूरत नहीं होती है। कार्यक्रम के आधार पर, विक्रेता की बिक्री में सहयोगी के योगदान को अलग तरह से मापा जाएगा।

Affiliate को विभिन्न तरीकों से भुगतान किया जा सकता है:-

Pay Per Sale

यह आदर्श एफिलिएट मार्केटिंग संरचना है। इस कार्यक्रम में, व्यापारी एफिलिएट की मार्केटिंग रणनीतियों के परिणामस्वरूप उपभोक्ता द्वारा उत्पाद खरीदने के बाद उत्पाद के बिक्री मूल्य का एक प्रतिशत सहयोगी को भुगतान करता है। दूसरे शब्दों में, एफिलिएट को वास्तव में निवेशक को मुआवजा दिए जाने से पहले उत्पाद में निवेश करने के लिए प्राप्त करना चाहिए।

Pay Per Lead

एक अधिक जटिल प्रणाली, प्रति लीड भुगतान एफिलिएट प्रोग्राम, लीड के रूपांतरण के आधार पर एफिलिएट को क्षतिपूर्ति करता है। एफिलिएट को उपभोक्ता को व्यापारी की वेबसाइट पर जाने और वांछित कार्रवाई पूरी करने के लिए राजी करना चाहिए – चाहे वह संपर्क फ़ॉर्म भरना हो, किसी उत्पाद के परीक्षण के लिए साइन अप करना हो, न्यूज़लेटर की सदस्यता लेना हो, या सॉफ़्टवेयर या फ़ाइलें डाउनलोड करना हो।

Pay Per Click

यह प्रोग्राम एफिलिएट को उपभोक्ताओं को उनके मार्केटिंग प्लेटफॉर्म से मर्चेंट की वेबसाइट पर रीडायरेक्ट करने के लिए प्रोत्साहित करने पर केंद्रित है। इसका मतलब यह है कि एफिलिएट को उपभोक्ता को इस हद तक संलग्न करना होगा कि वे एफिलिएट की साइट से व्यापारी की साइट पर चले जाएंगे। एफिलिएट को वेब ट्रैफ़िक में वृद्धि के आधार पर भुगतान किया जाता है।

क्या हम एफिलिएट मार्केटिंग और गूगल एडसेंस का इस्तेमाल एक साथ कर सकते हैं?

इसका जवाब है हां, एफिलिएट मार्केटिंग को कोई भी join कर सकता है, इसका Approval आसानी से मिल जाता है। जबकि गूगल एडसेंस का Approval लेना बहुत ही कठिन है और कभी कभी 1 महिना भी लगा देता है Approval देने में।


एफिलिएट मार्केटिंग में आप एडसेंस की तुलना मे कम ट्रैफिक में बहुत ही ज्यादा कमाई कर सकते हो। बस आपको एक बार सीखना है कि एफिलिएट मार्केटिंग काम कैसे करता है। एडसेंस का पेमेंट आपके बैंक खाते में सीधा आ जाता है जबकि ज्यादातर एफिलिएट मार्केटिंग कंपनी Paypal के द्वारा पेमेंट देती है। एडसेंस में यदि आपका अकाउंट disable हो जाता है तो आपके अकाउंट में मौजूद एक भी रुपया आपको नहीं दिया जाता है जबकि एफिलिएट मार्केटिंग में अकाउंट disable नहीं होता है, और अगर कभी disable हो जाता है तब भी वो आपको आपका पैसा दे देता है।

आप इन दोनों को एक साथ इस्तेमाल कर सकते हो. गूगल इनकी परमिशन देता है. अगर आप एफिलिएट मार्केटिंग के साथ एडसेंस का इस्तेमाल करेंगे तो आपका एडसेंस disable नहीं होगा.

लोकप्रिय एफिलिएट मार्केटिंग साइट्स कौन-कौन सी हैं?

भारत में कई स्वीकृत कार्यक्रम हैं जो आपको सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन और सर्वोत्तम मुद्रीकरण सुनिश्चित करेंगे। भारतीय बाजार में इनकी बड़ी हिस्सेदारी है। उनमें से शीर्ष श्रेणी के ई-मार्केटप्लेस अमेज़न और फ्लिपकार्ट हैं।


नीचे भारत में कुछ एफिलिएट मार्केटिंग प्लेटफार्म की सूची दी गई है, ये स्वीकृत एफिलिएट प्लेटफार्म आपकी कमाई को दोगुना करने में सक्षम हैं।इसलिए आपको अपनी कमाई को और बढ़ाने के लिए जल्द ही इन स्वीकृत कार्यक्रमों में शामिल होना चाहिए।

Best Affiliate Marketing Sites:

  • Amazon Affiliate
  • Snapdeal Affiliate
  • Clickbank
  • Commision Junction
  • eBay

Affiliate Marketing की साइट्स को ज्वाइन कैसे करें?

आप जिस भी Company के द्वारा Affiliate Marketing करना चाहते है उस Company को Join करे। इसके लिए आपको कुछ स्टेप्स का पालन करना होगा जिसका पालन करते ही आप आसानी से अपना एफिलिएट इनकम शुरू कर सकते हैं। यहाँ हम आपको Amazon पर Affiliate Account करने के बारे में बताएँगे। अब हम Step By Step जान लेते है इस पर Account बनाकर पैसे कमाए।

Step 1. Go To Website

सबसे पहले आप https://affiliate-program.amazon.in की Website पर जाएं यहाँ पर Join For Free के Option पर Click करें।

Step 2. Enter Your Details

यहाँ आपसे कुछ Details मांगी जाएगी उसे भरें।

•Email Or Mobile Phone Number – यहाँ पर अपना Email या Mobile Number डालें।
•Password – इसमें Password Enter करें।
•Create Your Amazon Account – अपनी Details भरने के बाद इस Option पर Click कर दीजिये।

Step 3. Fill The Form

अब आपके सामने एक Form आएगा। इसमें पूछी गई सभी जानकारी को सही-सही भरें।

•Payee Name – इसमें आपको अपना नाम भरना है जो आपके बैंक अकाउंट में है।
•Address Line – इस ऑप्शन में आपको अपना पूरा एड्रेस लिखना है।
•City – अब अपने शहर का नाम लिखें।
•State, Province Or Region – यहाँ राज्य का नाम लिखें।
•Postal Code – अब अपना Postal Code भरे।
•Phone Number – फोन नंबर भर कर Next पर क्लिक कर दीजिये।
•Blog/Website url- इसमें आपको अपने ब्लॉग या वेबसाइट के बारे में सारी जानकारी भरनी है।
•Payment details- इसमें आपको जिस भी साधन के द्वारा पेमेंट लेनी है उसकी सारी जानकारी भरनी है।

अब सारी जानकारी भरने के बाद जब आप रजिस्टर कर लेते हैं तो कंपनी आपके ब्लॉग या वेबसाइट को चेक करने के बाद आपको कन्फर्मेशन मेल भेजती है।

रजिस्टर के बाद जब आप लॉगिन करेंगे तो आपके सामने डैशबोर्ड आएगा जहां पर आपको कोई भी प्रोडक्ट सिलेक्ट करना होगा और उसके एफिलिएट लिंक को कॉपी करके अपने ब्लॉग या वेबसाइट पर या फिर अपने सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर शेयर कर देना होता है। जैसे जैसे लोग उस प्रोडक्ट को खरीदेंगे आपकी कमाई बढ़ती जायेगी।

Affiliate Program ज्वाइन करने से पहले इन चीजों का खास ख्याल रखें

जब भी आप कोई नए एफिलिएट मार्केटिंग प्रोग्राम के साथ जुड़ रहे हैं तो उससे पहले आपको कुछ खास बातों का ख्याल रखना बहुत जरूरी होता है। जिससे कि आपको आने वाले समय किसी प्रकार की समस्या का सामना न करना पड़े। तो आइए जानते हैं इसके बारे में:-

•उसमें क्या banners available हैं

•Promotional matter में क्या सुविधा उपलब्ध है

•Affiliate control panel है या नहीं

•Minimum payout कितनी है

•Payment method क्या क्या हैं

•Tax form की जरुरत होती है या नहीं

इन सभी फैक्टर के बारे में जान लेना ही आपके लिए अच्छा है। इससे आपको इसके बारे में पूरी जानकारी मिल जाती है।

Conclusion

मैं उम्मीद करता हूं कि मैं आपको Affiliate Marketing क्या है और इससे पैसे कैसे कमाएं के बारे में जानकारी देने में सफल रहा हूं। अगर आपके मन में इस लेख को लेकर कोई भी आशंका है तो हमें जरूर बताएं। अगर आपको हमारा लेख पसंद आया है तो इसे अपने दोस्तों, रिश्तेदारों और परिवार वालों के साथ जरूर सांझा करें और अपने विचार सांझा करने के लिए हमारे कमेंट बॉक्स में जाकर कमेंट अवश्य करें धन्यवाद।

FAQ’s (Frequently Asked Questions)

मैं Affiliate Marketer कैसे बन सकता हूं?

यह सवाल गूगल पर बहुत ही ज्यादा सर्च किया जाता है. इसके लिए आपके पास एफिलिएट मार्केटिंग की थोड़ी बहुत जानकारी होनी चाहिए। ऐसा नहीं है कि इसके बिना आप एफिलिएट मार्केटर नहीं बन सकते है, पर अगर आपको इसकी जानकारी ही नहीं होगी तो पैसा कैसे कमा पाएंगे?

हम Affiliate Marketing से कितने पैसे कमा सकते हैं?

इसका जवाब मैं Exactly नहीं बता सकता क्यूंकि इसका जवाब आपके सिवाय कोई और नहीं दे सकता। यह पूरी तरह से आपके ऊपर निर्भर होता है। आप जितनी अच्छी तरह से काम करते है उतना ज्यादा आप पैसा कमा सकते है।

क्या Affiliate Marketing के लिए ब्लॉग या वेबसाइट होना जरूरी है?

ऐसा कुछ fix नहीं है कि आपको एफिलिएट मार्केटर बनने के लिए ब्लॉग या वेबसाइट की जरूरत होगी। आप बिना ब्लॉग के भी एफिलिएट मार्केटिंग कर सकते है पर यदि आपके पास ब्लॉग होगा तो आप कम efforts में ज्यादा पैसा कमा सकते है। इसके लिए आप ब्लॉग या वेबसाइट के जरिए ही एफिलिएट मार्केटिंग करे तो अच्छा होगा।

क्या एफिलिएट प्रोग्राम ज्वाइन करने के लिए कोई फीस लगती है?

हां, आप बिना पैसे के एफिलिएट मार्केटिंग कर सकते है, इसके लिए आपको किसी को भी पैसा देने की जरूरत नहीं है. यदि कोई आपसे पैसों की डिमांड करता है ज्वाइन करने के लिए तब आप उसे कभी भी ज्वाइन करने की भूल न करें। क्यूंकि ये हमेशा फ्री होना चाहिए।

औसत एफिलिएट कमीशन कितना होता है?

सभी एफिलिएट मार्केटिंग कंपनी का कमीशन रेट अलग-अलग होता है फिर भी यदि हम सभी कंपनीज को मिलाकर इसका overall Ratio निकालें तो यह 30% होता है।

क्या एक ही वेबसाइट पर Affiliate Marketing और ad नेटवर्क जैसे कि एडसेंस को इस्तेमाल किया जा सकता है?

ऐसा बिलकुल कर सकते हैं, एफिलिएट मार्केटिंग और Ad नेटवर्क को एक साथ इस्तेमाल किया जा सकता है। कई लोगो के लिए एफिलिएट मार्केटिंग ad नेटवर्क के मुकाबले, कमाई का ज्यादा बढ़िया source है।

एफिलिएट प्रोडक्ट को हम कहां-कहां प्रमोट कर सकते हैं?

आप कई तरह से प्रोडक्ट का प्रचार कर सकते हैं जैसे कि वेबसाइट, ब्लॉग, लैंडिंग पेज, यूट्यूब, इंस्टाग्राम, व्हाट्सएप, Quora, फेसबुक आदि का उपयोग कर सकते हैं।

Affiliate Marketing से जुड़ने के लिए क्या कोई खास course इत्यादि करना पड़ता है?

जी नहीं, एफिलिएट मार्केटिंग करने के लिए आपके पास इससे सम्बंधित जानकारी होनी चाहिए। इसके लिए आप इंटरनेट की सहायता ले सकते है। कई ऐसी वेबसाइट और ब्लॉग है, जो आपको एफिलिएट मार्केटिंग करना सिखाते है।

1 thought on “Affiliate Marketing क्या है और इससे पैसे कैसे कमाए?”

Your Answer

Your email address will not be published.

Scroll to Top