Email क्या है और ईमेल का इतिहास क्या है?

दोस्तों क्या आप जानते हैं कि Email क्या है और ईमेल का इस्तेमाल क्यों किया जाता है? जैसे कि हमने देखा ही है आज के समय में ईमेल का इस्तेमाल अपने personal और official use के लिए किया जाता है| आप में से ऐसे बहुत से लोग होंगे जिन को यह मालूम होगा कि ईमेल क्या होता है। 

आज के समय में बहुत से लोग अपनी रोजाना जिंदगी में ईमेल का इस्तेमाल करते हैं| लोग अब ईमेल का इस्तेमाल अपने दोस्तों के साथ, फैमिली मेंबर के साथ में सेमैसेज भेजने के लिए करते हैं और इसमें से ऐसे बहुत से लोग होते हैं जो कि सारा दिन अपना ईमेल अकाउंट चेक करते रहते हैं। 

इसके अलावा ईमेल का इस्तेमाल official use के लिए किया जाता है| ऑफिस में लोग आपस में बात करने और कुछ मैसेज भेजने के लिए ईमेल का इस्तेमाल करते हैं| इसके अलावा किसी नई वेबसाइट पर अकाउंट बनाने के लिए यहां अकाउंट sign up करने के लिए भी ईमेल का इस्तेमाल किया जाता है| 

हम आपको यह भी बताना चाहेंगे कि ईमेल address हम सभी का एक virtual address होता है| किसी भी दो इंसान का ईमेल एड्रेस same नहीं हो सकता। 

जैसे कि हमने आपको बताया था कि ईमेल का इस्तेमाल official use के लिए किया जाता है| इसी वजह से ईमेल का इस्तेमाल official Communication के लिए किया जाता है और पोस्ट किया जाता है| इसलिए हमने सोचा कि क्यों ना आपके साथ आज ईमेल के बारे में जानकारी शेयर करी जाए| जिससे आपको ईमेल क्या होता है? और इसका इस्तेमाल किया जाता है इससे संबंधित सारे doubts दूर हो जाए तो चलो अब हम बात करते हैं कि क्या होता है| 

ईमेल क्या है (What is Email in Hindi)

यह ईमेल का फुल फॉर्म Electronic mail होता है| इसे लोग e-mail, email, Electronic Mail भी कहते हैं| ई-मेल का इस्तेमाल असल में एक यूजर से दूसरे यूजर तक communicate करने के लिए किया जाता है| ईमेल एक प्रकार का digital message होता है| इस ईमेल की मदद से हम किसी एक यूजर या यूजर्स के ग्रुप को अपने ईमेल में text, files, images को attachments से attach करके इंटरनेट के माध्यम से भेज सकते हैं| 

ई-मेल को लिखने के लिए आपको किसी भी प्रकार के pen या paper की जरूरत नहीं होती क्योंकि यह एक digital message होता है| इसलिए इसे लिखने के लिए आपको keyboards से type करना होता है और उसके बाद आप जिस यूजर को यह ईमेल भेजना चाहते हैं उस यूजर की ईमेल वहां डालकर उसे send कर सकते हैं| ईमेल एड्रेस में एक custom username होता है और उसके बाद service provider का domain name होता है जिसमें एक @ sign भी होता है जिससे कि दोनों को अलग किया जाता है उदाहरण के लिए welovewrite@gmail.com

ईमेल का इतिहास

क्या आप जानते हैं कि ईमेल का आविष्कार किसने किया था? हम आपको बताना चाहेंगे कि दुनिया में सबसे पहली बार email Ray Tomlinson ने 1971 में किया था| 1971 में Ray Tomlinson ने पहली बार ईमेल भेजा था और ईमेल उन्होंने खुद को ही भेजा था| यह ईमेल एक test ईमेल मैसेज के तौर पर भेजा गया था| जिसमें उन्होंने QWERTYUIOP text लिखा था| उन्होंने यह ईमेल ARPANET के माध्यम से transmit किया था| इसी वजह से उन्हें ईमेल का जन्मदाता भी कहा जाता है| वही 1996 तक postal mail की जगह electronic mail भेजे जाने लग गए थे| 

ईमेल के बारे में बेसिक जानकारी

अब हम आपको बताना चाहेंगे कि ईमेल के कुछ बेसिक function होते हैं जिसके बारे में आपको मालूम होना जरूरी है| अगर आप किसी को ईमेल भेजना चाहते हैं तो वह ईमेल कैसे भेजी जाएगी| कैसे उस ईमेल में Text, Images लिखा जाएगा और कैसे ईमेल जिसको ईमेल भेजनी है| उसका ईमेल एड्रेस कैसे सिलेक्ट किया जाएगा जैसी महत्वपूर्ण जानकारी के बारे में हम आपको आगे बताने जा रहे हैं|

Sending the Email

जब आप किसी यूजर को ईमेल send करना चाहते हैं तो सबसे पहले आपको उसके ईमेल एड्रेस को लिखना होता है| जैसी ही आप उसकी ईमेल एड्रेस को लिख लेते हैं उसके बाद आप ईमेल को send कर देते हैं| जब ईमेल आप की ओर से send हो जाती है तो उसी समय दूसरे यूजर को आपकी मेल प्राप्त हो जाती है|

Email Transport

Email servers sender से recipient तक मैसेज को transmit करने के लिए किया जाता है| इस ईमेल मैसेज को send करने के लिए SMTP नाम के protocol का इस्तेमाल किया जाता है और इसके लिए POP, IMAP servers की जरूरत होती है| 

Fetching New Email

जब भी आपके mailbox में कोई नया ईमेल आता है तो आपको उस ईमेल के ऊपर tap करना होता है या फिर उसको क्लिक करना होता है| जैसे ही आप उस पर क्लिक करते हैं mail आपके सामने open हो जाती है और आप उस मैसेज को read कर सकते हैं| साथ ही उस मैसेज के साथ attached files को भी देख सकते हैं| 

Email Program

क्या आप भी ईमेल भेजना और प्राप्त करना चाहते हैं किसी भी ईमेल को send और receive करने के लिए आपको एक e-mail program का इस्तेमाल करना होता है और इस ईमेल प्रोग्राम को e-mail client भी कहा जाता है| उदाहरण के तौर पर Microsoft Outlook और Mozilla Thunderbird e-mail client है| 

अगर आप भी ईमेल क्लाइंट का इस्तेमाल करना चाहते हैं तो उसके लिए आपके पास एक server होना चाहिए जो कि आपके मैसेज को store और deliver करता है और यह सब ISP के द्वारा प्रदान किया जाता है| कुछ ऐसे cases भी होते हैं जिसमें यह सर्वर दूसरी कंपनी के द्वारा प्रदान किए जाते हैं| किसी भी नए ईमेल को download करने के लिए ईमेल क्लाइंट को सर्वर के साथ कनेक्ट होना पड़ता है| जब भी आप अपने ईमेल में विजिट करते हैं तो यह ईमेल जो कि online stored होते हैं अपने आप update हो जाते हैं| 

Email Online

यह एक ईमेल को सेंड और रिसीव करने का alternative होता है जिसे हम online e-mail service या webmail भी कहते हैं| उदाहरण के लिए outlook.com Gmail और Yahoo यह सभी ऑनलाइन ईमेल सर्विस है| आम तौर पर ऑनलाइन ईमेल सर्विस फ्री होते हैं और इन्हें इस्तेमाल करने के लिए आपको बस एक फ्री अकाउंट बनाना पड़ता है| 

ईमेल में क्या लिखा जाता है? इसमें इस्तेमाल Parameter क्या है?

  • जब बी कोई ईमेल मैसेज लिखा जाता है तो उसमें कुछ criteria होते हैं| साथ मैं ईमेल में बहुत से technical terms का भी इस्तेमाल किया जाता है| जिसके बारे में आपको जानकारी होना बहुत जरूरी है और technical terms में कौन-कौन से parameters का इस्तेमाल किया जाता है वह कुछ इस प्रकार है:-
  • सबसे पहला parameters होता है To field. यह वही जगह होती है जहां पर आपको जिस व्यक्ति को ईमेल सेंड करना है उस व्यक्ति का ईमेल एड्रेस टाइप करना होता है। 
  • दूसरा From field होता है जिसमें आपका ईमेल एड्रेस होना चाहिए। अगर आप किसी व्यक्ति को को reply भेज रहे हैं तो उस स्थिति में To और From fields अपने आप ही भर जाते हैं| अगर आप किसी इंसान को नया मैसेज भेज रहे हैं तब आपको यह दोनों चीजें अपने आप भर नहीं होती हैं। 
  • इसके बाद Subject फील्ड होता है जहां पर आपको ईमेल के कंटेंट के बारे में कुछ लिखना होता है जो आपके ई-मेल में लिखे गए मैसेज को describe कर सके क्योंकि इस सब्जेक्ट को पढ़कर ही रिसीवर को है आइडिया मिल जाता है कि यह ईमेल किस विषय के बारे में है और वह ईमेल को ओपन करें बिना ही इसके अंदर के विषय के बारे में थोड़ा बहुत समझ जाता है|  वैसे यह फील्ड optional होता है| 
  • यह एक फील्ड CC (“Carbon Copy”) होता है| जो उन यूजर के लिए होता है जिनको आप direct मेल send नहीं करना चाहते हैं+ इस स्थिति में जिस जिस यूजर का ईमेल एड्रेस आप CC में डालते हैं उनको आपके द्वारा भेजी गई मेल की कॉपी पहुंच जाती है और यह फील्ड ऑप्शनल होता है| परंतु इस फील्ड का इस्तेमाल करने से आप जिस व्यक्ति को डायरेक्ट मेल भेज रहे हैं उनको भी यह मालूम हो जाता है कि आपने कॉपी मेल किस किसको भेजी है|
  • एक फील्ड BCC होता है यह भी CC की तरह ही इस्तेमाल किया जाता है| लेकिन इसमें जिस व्यक्ति का ईमेल एड्रेस BCC में डालते हैं उसे डायरेक्ट मेल रिसीव करने वाला देख नहीं पाता है| क्यूंकि यह सीक्रेट मेल होती है
  • आखिर में Message Body फील्ड आती है| जहां पर आपने अपना मैसेज को टाइप करना होता है और इस फील्ड में bottom में signature भी स्थित होता है|  जहां पर आप अपना नाम, मोबाइल नंबर और अन्य जानकारी signature के तौर पर इस्तेमाल कर सकते हैं| 

एक ईमेल एड्रेस कब Valid होती है?

  • जैसे कि हमने आपको पहले भी बताया था कि ईमेल में एक username होना बहुत जरूरी है और उसके बाद @ होना चाहिए| उसके बाद ही आप domain name का इस्तेमाल कर सकते हैं। 
  • यूजर नेम 64 characters तक ही इस्तेमाल कर सकते हैं और आपका डोमेन नेम 254 characters तक का ही होना चाहिए। 
  • आपके ईमेल एड्रेस में एक @ साइन होना चाहिए। 
  • ई-मेल में space और special characters  इस्तेमाल किया जाता है जिसमें आप space, backslash, और quotation mark भी इस्तेमाल कर सकते हैं| लेकिन इससे पहले forward slash का होना जरूरी है| परंतु कुछ ऐसे ईमेल प्रोवाइडर भी है जो इन characters को allow नहीं करते हैं। 
  • इसके अलावा ई-मेल में 2 या उससे ज्यादा consecutive periods नहीं होने चाहिए|

Alternate Email क्या है?

आपको यह तो समझ आ गया होगा कि ईमेल आईडी क्या होती है लेकिन अक्सर जब भी हम form भरते हैं तो वहां पर आपको Alternate Email का ऑप्शन दिखाई देता है| Alternate Email का मतलब यह होता है कि आप अपनी ईमेल के साथ अगर आपके पास कोई दूसरा ईमेल आईडी है तो आप उसे mention कर  सकते हैं| जैसे Alternate Phone number होता है ठीक उसी तरह Alternate Email Address होता है| 

ई-मेल के लाभ

ई-मेल भेजने और उसे receive करने के काफी ज्यादा लाभ होते हैं जैसे कि अगर कोई यूजर हमें Online Contact करना चाहता है तो वह हमें ईमेल के द्वारा मैसेज भेज सकता है| वह ईमेल उसी समय हम तक पहुंच जाती है| यही वजह है कि आजकल सभी ईमेल सर्विस का इस्तेमाल करते हैं| ईमेल के और क्या क्या लाभ है उसके बारे हमें हम आपको बताने जा रहे हैं| 

Speed होती है

ई-मेल की डिलीवरी स्पीड बहुत ही ज्यादा फास्ट होती है| इसमें लोगों को इंफॉर्मेशन उसी समय प्राप्त हो जाती है और साथ ही लोग एक दूसरे के साथ आसानी से communicate कर सकते हैं|

Convenience प्रदान करती है

ईमेल बहुत ही ज्यादा Convenience और क्विक कम्युनिकेशन करने का तरीका है| ई-मेल के जरिए आप अपनी पूरी बात ईमेल में लिखकर यूजर को सेंड कर सकते हैं और अपना पूरा मुद्दा उसको समझा सकते हैं और साथ ही रिप्लाई भी कर सकते हैं| 

Attachment भेज सकते हैं

ईमेल में मैसेज करने के साथ-साथ Attachment का भी फीचर होता है जिसके जरिए आप किसी भी फाइल को अटैच कर सकते हैं| आप image भेज सकते हैं इसके लिए आपको अलग से कोई image या file भेजने की जरूरत नहीं होती यह आपका इस ईमेल में अटैचमेंट की ऑप्शन के साथ हो जाता है| 

Accessibility होती है

जैसे कि हम जानते हैं की ईमेल अकाउंट एक large folders की तरह होते हैं| ईमेल का इस्तेमाल सिर्फ प्राइवेट मैसेज के लिए ही नहीं किया जाता है बल्कि यह फाइल और दूसरे important information के लिए भी किया जाता है| आप ईमेल अकाउंट की मदद से अपनी ईमेल को organize, archive, और search बड़ी आसानी से कर सकते हैं| इसके अलावा आपकी ईमेल में जो भी इंफॉर्मेशन पहले से बड़ी होती है वह हमेशा readily accessible होती है| 

A Record

ईमेल आपके अकाउंट में हो रहे सभी प्रकार के conversation को रिकॉर्ड करती है| इसलिए आप उन conversation को रिकॉर्ड की तरह भी देख सकते हैं और आप उनका print out भी निकाल सकते हैं| इसके साथ ही वह तब तक आप की इमेल अकाउंट में ऑनलाइन रहते हैं जब तक आप उन्हें खुद से डिलीट नहीं कर देते हैं| 

Unlimited Space Time

ईमेल अकाउंट में आपको Texting के लिए अनलिमिटेड स्पेस भी दिया जाता है| आप जितना बड़ा चाहे उतना बड़ा ईमेल में मैसेज लिख सकते हैं और उसके लिए जितना समय चाहे उतना ले सकते हैं और उस ईमेल को भेजने से पहले revise भी कर सकते हैं| 

Free Communication होती है|

ईमेल प्रोवाइडर यूजर को फ्री में ईमेल अकाउंट से मैसेज भेजने और रिसीव करने की सर्विस प्रदान करते हैं| इसके अलावा दूसरे communication forms जैसे कि long-distance calling और physical mail messages में आपको Free में सर्विस प्रोवाइड नहीं की जाती है| आपको इस सर्विस का इस्तेमाल करने के लिए एक ईमेल एड्रेस पिक करना होता है और ईमेल आईडी से आप किसी को भी मैसेज send और receive कर सकते हैं और इस सर्विस के लिए आपको कोई भी पैसा खर्च नहीं करना पड़ता है| 

Security

Physical Mails की बजाए email services काफी हद तक safe होती है| ईमेल सर्विस को privacy और security के लिए ही बनाया गया है| इस ईमेल को आप login id और password की मदद से access कर सकते हैं| जो कि आपके पास बिल्कुल correct email password होना चाहिए उसके बाद ही आप ईमेल को access कर सकते हैं| 

ईमेल के हानि

जैसे कि हमने अभी तक आपके साथ ईमेल के बहुत सारे लाभ शेयर करी है लेकिन इसकी कुछ हानि भी है जो इस प्रकार है:-

  • ईमेल भेजने या रिसीव करने के लिए इंटरनेट कनेक्शन की जरूरत होती है। 
  • ईमेल अकाउंट के जरिए हम अपने ईमेल में ज्यादा बड़ी फाइल को अटैच करके भेज नहीं सकते हैं| क्योंकि इसकी भी एक लिमिट होती है। 
  • ई-मेल के जरिए हम सभी प्रकार के फाइल फॉर्मेट को भेज नहीं सकते हैं जैसे कि .exe इस फॉर्म को हम अपनी ईमेल के जरिए भेज नहीं सकते हैं। 
  • ई-मेल में Spam mail भी होती है| अगर हमारे ईमेल अकाउंट में Spam mail बहुत ज्यादा हो जाती है तो हमारे ईमेल के Inbox में ईमेल को खोज पाना मुश्किल हो जाता है| 

Email मैं क्या भेजा जा सकता है?

वैसे तो ईमेल का इस्तेमाल सिर्फ text messages को भेजने के लिए ही हुआ था| लेकिन आज के समय में ईमेल में बहुत सी फाइल को अटैच करके भेज सकते हैं| ई-मेल के जरिए हम video, program, picture, PDF या अन्य फाइल को भी भेज सकते हैं| लेकिन इसमें हर प्रकार की फाइल को नहीं भेजा जा सकता है|  जैसे कि .exe files क्यूंकि इसे कुछ कंपनियां block करती है| जिसके कारण फाइल को अपने ईमेल के जरिए भेज नहीं सकते हैं| अगर आप ईमेल के जरिए भेजना चाहते हैं तो उसके लिए आपको इस फाइल को .zip file में convert करना होगा तभी आप अपनी फाइल को भेज सकते हैं| इसके अलावा फाइल साइज के ऊपर भी होती है| जैसे कि Gmail में आप 25 Mb से ज्यादा बड़ी फाइल को नहीं भेज सकते है| 

ईमेल कितने प्रकार के होते हैं?

वैसे तो काफी प्रकार के ईमेल का इस्तेमाल किया जाता है लेकिन हम आपके साथ उनमें से Top 10 ईमेल के बारे में जानकारी शेयर करने जा रहे हैं|

  • न्यूज़लेटर ईमेल
  • नए उत्पाद घोषणा ईमेल
  • स्वागत ईमेल
  • विशेष पेशकश ईमेल
  • परित्यक्त कार्ट ईमेल
  • समीक्षा अनुरोध ईमेल
  • माइलस्टोन ईमेल
  • क्यूरेटेड सामग्री ईमेल

ईमेल आईडी कहां बना सकते हैं

Gmail

यह गूगल द्वारा दी जाने वाली सर्विस है और इसका इस्तेमाल दुनिया भर में ज्यादातर लोग करते हैं| Gmail का इस्तेमाल आज के समय में बड़े बिजनेसमैन और बड़ी कंपनियां भी करती हैं| इसके बाद Yahoo भी एक ईमेल प्रोवाइडर है लेकिन आज के समय इसका इस्तेमाल बहुत ज्यादा कम किया जा रहा है| लेकिन Yahoo से भी आप ई-मेल की सारी सुविधाएं ले सकते है| 

Outlook

यह Microsoft द्वारा प्रदान की गई email providing service है| जिसका इस्तेमाल आप भी अपने बिज़नेस या client के लिए कर सकते हैं| इसके अलावा Outlook में आपको अपना personal ईमेल आईडी बनाने का ऑप्शन भी दिया जाता है| 

Rediffmail

आज के समय में Rediffmail इस्तेमाल भी किया जाता है| यह अन्य ईमेल प्रोवाइडर से थोड़ा अलग है जिसकी वजह से लोग इसका इस्तेमाल करते हैं| 

Zoho Mail

यह भी एक ईमेल प्रोवाइडर है जिसमें आप अपनी आईडी बनाकर उसका इस्तेमाल कर सकते हैं| 

Email और Gmail में क्या अंतर होता है?

Email का मतलब इलेक्ट्रॉनिक मेल होता है| इस इलेक्ट्रॉनिक माध्यम से कर सकते हैं| जबकि gmail-google का एक मेल फॉर्म है| जिसके माध्यम से हम कोई भी ईमेल किसी भी mailing platform पर भेज सकते हैं और रिसीव कर सकते हैं| 

ईमेल एक तरीका है जिससे हम आपस में conversation कर सकते हैं आपस में मैसेज कर सकते हैं| जबकि gmail-google का एक ईमेल भेजने और रिसीव करने का ओपन प्लेटफार्म है| इसे कोई भी फ्री में इस्तेमाल कर सकता है| इसी प्रकार Gmail की तरह Yahoo, Outlook भी open platform है| 

 

Your Answer

Your email address will not be published.

Scroll to Top