वेबसाइट क्या है | वेबसाइट की परिभाषा क्या है | What is Website in Hindi

दोस्तों क्या आप भी जानना चाहते हैं कि Website क्या है? (What is website in Hindi) आपके पास डेक्सटॉप, लैपटॉप या मोबाइल इनमें से कोई एक डिवाइस तो होगा ही जिस पर आप इंटरनेट का इस्तेमाल करते हैं| अगर आप अपने मोबाइल पर game खेलना, movie देखना जैसे कार्य करते हैं तो इसके लिए आपको इंटरनेट की जरुरत नहीं होती है| 

अगर आप अपने मोबाइल या दूसरे डिवाइस से email भेजना, इंफॉर्मेशन सर्च करना, online shopping करते हैं या online business करते हैं, online movie  ticket, होटल बुकिंग, ट्रेन टिकट इन सभी कार्य के लिए आपको इंटरनेट की जरूरत पड़ती है| यह सब कार्य करने के लिए आपको किसी न किसी वेबसाइट की जरुरत पड़ती है| तो चलिए अब हम आपको बताते हैं कि वेबसाइट क्या हैं।

वेबसाइट क्या है – Website in Hindi

यह वेबसाइट सारे webpages का collection होता है| हम यह भी कह सकते हैं कि वेबसाइट एक ऐसी लोकेशन है जहां पर काफी सारे web pages होते हैं जहां पर हर एक web page पर कोई ना कोई इंफॉर्मेशन दी होती है| जैसे अब आप हमारा यह blog पढ़ रहे हैं कि Website kya hai? यह हमारी वेबसाइट का web page है| अगर आप हमारी वेबसाइट के होम पेज पर जाते हैं तो आपको वहां पर बहुत सारे पोस्ट दिखाई देंगे| यह सारे पोस्ट अलग-अलग webpage है| 

अगर आप इनमें से किसी भी पोस्ट पर क्लिक करते हैं तो आप एक अलग वेब पेज पर चले जाएंगे और इन सभी वेब पेज पर अलग-अलग टॉपिक्स के अनुसार उन पर अलग-अलग इंफॉर्मेशन दी गई है। अगर आप अपने लैपटॉप, मोबाइल में किसी भी वेबसाइट को ओपन करना चाहते हैं तो उसके लिए आपको एक web browser की जरूरत पड़ती है जैसे कि Google chrome, Firefox, Opera Mini, UC Browser में वेबसाइट का लिंक डाल कर उस वेबसाइट को open कर सकते है| जब आप हमारी वेबसाइट को open करते हैं तो आपको वहां पर लगभग 200 के करीब blogs देखने को मिल जाएंगे तो इसलिए हम कह सकते हैं कि collections of web pages को वेबसाइट कहा जाता है।

वेबसाइट का इतिहास – History of Website in Hindi

इंटरनेट पर पहली वेबसाइट 6 अगस्त 1991 में CERN में Tim Berners-Lee द्वारा लांच की गई थी| Tim Berners-Lee एक ब्रिटिश साइंटिस्ट है उन्होंने ही साल 1994 में WWW यानि वर्ल्ड वाइड वेब का आविष्कार किया था।

वेबसाइट की परिभाषा

Website, Collection of Web Page होता है| जिन्हें एक ही साथ group किया जाता है और सारे पेज आपस में connect होते हैं जिस से यूजर एक पेज से दूसरे पेज तक आसानी से जा सकता है। आपको इन निचे दिए गए सब्दों के बारे में जानकारी होनी चाहिए आज के विषय को अच्छे से समझने के लिए.

Static Web Page

यह आपको नाम से ही समझ आ गया होगा कि Static Web Page क्या होता है| वह Web Page जिन पर कंटेंट कभी भी नहीं बदलता है| जिन पर कंटेंट हमेशा एक जैसा ही रहता है चाहे वह कोई यूजर नया हो या पुराना हो| जब भी आप वेबसाइट को ओपन करते हैं तो उसके कंटेंट में आपको बिल्कुल भी बदलाव देखने को नहीं मिलता है| ऐसे Web Page को Static Web Page कहा जाता है| जैसे कि किसी वेबसाइट का about us page पर कंटेंट हमेशा एक जैसा ही रहता है| तो ऐसे pages को हम Static Web Page कहते हैं| वेबसाइट जैसे facebook.com इसके पेज पर कंटेंट हमेशा बदलता रहता है और हर यूजर के लिए इसका कंटेंट भी अलग अलग होता है।

Dynamic Web Page

वह वेब पेज जिन पर कंटेंट हमेशा बदलता रहता है ऐसे पेज को Dynamic Web Page कहा जाता है| इन पर जब भी कोई यूज़र आता है तो हर यूजर के लिए कंटेंट अलग अलग रहता है जैसे कि मान लीजिए अगर आप facebook.com को ओपन करते हैं तो आपकी फेसबुक के पेज पर कंटेंट कुछ होगा और मेरे फेसबुक के कंटेंट पेज पर कंटेंट कुछ अलग होगा|

इसके अलावा अगर हम shopping website की बात करें तो जब भी आप shopping website को ओपन करेंगे तो आप उस वेबसाइट पर अलग प्रोडक्ट को सर्च कर रहे होंगे और में किसी अलग प्रोडक्ट को सर्च कर रहा होंगे| तो इस प्रकार उनके Web Page कंटेंट भी हमारे लिए अलग अलग ही होंगे तो ऐसे web page को dynamic web page कहा जाता है।

Home Page

जब भी हम किसी वेबसाइट को direct browser में डालकर उसको ओपन करते हैं तो वह उस वेबसाइट का Home Page होता है| मान लीजिए आप हमारी वेबसाइट welovewrite को ओपन करना चाहते हैं तो उसके लिए आप browser में welovewrite.com को टाइप करके सर्च करेंगे तो आपके सामने जो पेज ओपन होगा वह हमारी वेबसाइट का Home Page ही होगा। Home Page वेबसाइट के root directory में रहता है और इस पेज में यह सारी फाइल्स भी रहते हैं। index.html, index.shtml, index.htm, default.html, index.php और home.html

Search Engine

एक ऐसा प्रोग्राम जो हमें इंटरनेट से असीमित database में से यूजर को इंफॉर्मेशन निकाल कर देता है| उसे Search Engine कहा जाता है| उदाहरण के तौर पर Google, Yahoo यह सारे सर्च इंजन है| जब भी यूजर इनमें से किसी भी सर्च इंजन पर अपनी query को डालता है तो यह सर्च इंजन अपने database में से उसके query के संबंधित results अपने सर्च पेज पर दिखाते हैं और इनको ढूंढने के लिए www या world wide web में सर्च करते हैं।

Web Address/URL

URL का फुल फॉर्म  Uniform Resource Locator होता है| यह एक formatted text string होता है जिसका इस्तेमाल Network Resource को ढूंढने के लिए Web Browser, software, email clients का इस्तेमाल किया जाता है। Network Resource कोई भी फाइल हो सकती है जैसे कि Web Pages, Text Document, Graphics या Programs.

Domain

Domain Name किसी भी वेबसाइट की पहचान होती है और आपकी वेबसाइट का नाम भी डोमेन नेम से ही होता है| जब भी कोई व्यक्ति आपकी वेबसाइट को सर्च करता है तो आपके डोमेन नेम से ही आपकी वेबसाइट को open करता है| डोमेन नेम Number और Letter से ही बनता है और इसका इस्तेमाल एक से अधिक IP Address की पहचान करने के लिए किया जाता है| जैसे कि welovewrite.com यह एक Domain है| अगर आप हमारे इस डोमेन को ओपन करना चाहते हैं तो इस डोमेन नेम को url में लिखा जाता है।

मान लीजिए आप url में welovewrite.com/contact-us लिखकर सर्च करते हैं तो आपके सामने हमारी वेबसाइट का contact us का पेज ओपन हो जाएगा| पर यहां पर देखने वाली बात यह है कि इसमें welovewrite.com हमारा डोमेन नेम है और आप ने यह भी देखा होगा कि हर किसी वेबसाइट के आखिर में .net, .com, .in, .org इन सभी Top Level Domain लगे होते हैं उदाहरण के लिए समझते हैं।

  • .Gov – Government agencies
  • .Edu – Educational institutions
  • .Org – Organizations (nonprofit)
  • .Mil – Military
  • .Com – commercial business
  • .Net – Network organizations
  • .In – India
  • .Ca – Canada
  • .Th – Thailand

Web Page क्या है?

Webpage किसी भी वेबसाइट का एक सिंगल पेज होता है| अब आप हमारी वेबसाइट पर “वेबसाइट क्या है?” वाले कंटेंट को पढ़ रहे हैं तो यह हमारी वेबसाइट का एक सिंगल Webpage है| Web Page एक document होता है जिसे html, php और दूसरी programming language के द्वारा बनाया जाता है| यह दो प्रकार के होते है| 

1. Static Web Page

2. Dynamic Web Page

वेबसाइट के प्रकार – Types of website in Hindi

आप किसी भी प्रकार की इंफॉर्मेशन को ढूंढने के लिए या किसी ब्लॉग या वेबसाइट को ओपन करने के लिए इंटरनेट का इस्तेमाल करते हैं तो इंटरनेट पर आपको अलग-अलग वेबसाइट देखने को मिलती है| अगर देखा जाए तो इन वेबसाइट को दो हिस्सों में बांट सकते हैं।

1. Static website

2. Dynamic website

Static Website

Static Website एक ऐसी वेबसाइट होती है जिसमें web page को store करने के लिए client web browser को फॉर्मेट भेजा जाता है| आसान शब्दों में कहें तो Static Website बहुत ही सिंपल और बेसिक वेबसाइट होती है| इसको डिजाइन करने के लिए आपको कोई advance level की programming या coding और database डिजाइन करने की जरूरत नहीं होती है। आप आसानी से ऐसी वेबसाइट को डिजाइन कर सकते हैं| वेबसाइट ऐसी को डिजाइन करने के लिए इसके पेज की coding को HTMLमें डिजाइन किया जाता है और इनकी coding भी फिक्स रहती है| जिसकी वजह से पेज पर मौजूद कंटेंट बदलता नहीं है यह एक तरह से printed page की तरह ही होती है।

Dynamic Website

Dynamic Website ऐसी वेबसाइट होती हैं जो customized होती है यानी कि अपने कंटेंट को खुद ही बदलती रहती हैं| ऐसी वेबसाइट को Dynamic Website कहा जाता है| इन वेबसाइट के पेज पर कंटेंट dynamically बदलता रहता है| यह वेबसाइट अपने पेज के content के database यहां Content Management System से access करती हैं| जब भी इनके डेटाबेस में कंटेंट में कोई बदलाव किया जाता है तो वह बदलाव उनकी वेबसाइट के कंटेंट में देखने को मिलते हैं| हम कह सकते हैं कि वेबसाइट अपडेट हो जाती हैं| Website में dynamic content generate करने के लिए server-side scripting या client-side scripting दोनों का इस्तेमाल किया जाता है।

Webpage, Website, Web Server और Search Engine में क्या अंतर होता है?

यह 4 Technical terms है और इसके बारे में आपको हो सकता है कि ज्यादा ना पता हो क्योंकि यह अपने आप में ही एक confusing विषय है चलो अब हम जानते हैं कि इन में क्या अंतर है।

Web Page

यह एक तरह के document होते हैं| इन document को पेज भी कहा जाता है और इनको ओपन करने के लिए आपको वेब ब्राउज़र की जरूरत पड़ती है| वेब ब्राउज़र जैसे कि Google Chrome, Firefox, Opera, Apple’s Safari या Microsoft Internet Explorer आदि ।

Website

Collection of Web page को वेबसाइट कहा जाता है या हम यह भी कह सकते हैं कि यह सारे पेज किसी एक डोमेन के अंदर आपस में connect होते हैं।

Web Server

वेबसाइट जो इंटरनेट पर होस्ट करता है ऐसे कंप्यूटर को Web Server कहा जाता है।

Search Engine

Search Engine एक ऐसा Web page होता है जहां पर user अपनी query को सर्च करता है और बदले में सर्च इंजन अपने database से उस query से रिलेटेड सर्च रिजल्ट ढूंढ कर हमें दिखाता है उसे Web page को Search Engine कहा जाता है| उदाहरण के तौर पर google और yahoo सर्च इंजन है।

Website की Categories कौन कौन सी है? (Website Categories in Hindi)

अगर हम इंटरनेट पर चेक करते हैं तो वहां पर आपको करोड़ों वेबसाइट देखने को मिल जाएगी| वह सारी वेबसाइट अलग-अलग Categories में काम करती हैं और यह भी संभव है कि एक वेबसाइट एक से अधिक Category में भी काम कर सकती है। तो चलिए अब हम आपको बताते हैं कि वेबसाइट की कैटेगरी कौन-कौन सी है।

Blog

Blog एक ऐसी वेबसाइट है जिस में अपने विचारों को लोगों तक पहुंचाने के लिए बनाया जाता है| यह एक अकेले व्यक्ति के द्वारा भी बनाई जा सकती है| ठीक Blog की तरह ही microblog भी Blog का ही एक रूप है| उदाहरण के तौर पर twitter एक सोशल नेटवर्किंग वेबसाइट है जो कि एक microblog वेबसाइट है।

Community Website

Community Website ऐसी वेबसाइट होती है जहां पर काफी सारे visitors आते हैं और वेबसाइट पर बनी हुई Community या group में अपना अपना contribution भी करते हैं| ऐसी वेबसाइट पर visitors chat या forum के जरिए आते हैं।

Content and Information Website

Content and Information Website ऐसी वेबसाइट होती है जहां पर एक या एक से ज्यादा category के विषयों के बारे में इंफॉर्मेशन शेयर करी जाती है| जैसे कि हमारी वेबसाइट Welovewrite एक इंफॉर्मेशन वेबसाइट है| जहां पर आपको Technical, Earn Money, Finance जैसी की अलग-अलग कैटेगरी से संबंधित कंटेंट पढ़ने को मिल जाएगा| ऐसी वेबसाइट को Content and Information Website कहा जाता है।

Dating Website

ऐसी वेबसाइट जो लोगों को आपस में कनेक्ट करती है और आपस में मिलते है और डेट करने में मदद करती है| ऐसी वेबसाइट को dating website कहा जाता है| ऐसी इंटरनेट पर आपको बहुत सारी वेबसाइट मिल जाएगी जहां पर आपके बारे में information show करने के लिए कुछ वेबसाइट आपसे पैसा भी ले सकती हैं और कुछ आप की information फ्री में भी show कर देती हैं| वहां पर काफी सारे सवालों की एक श्रृंखला होती है जो आपको अपने पसंदीदा इंसान को ढूंढने में आपकी मदद करती है।

Business and Corporation Website

जो वेबसाइट ग्राहकों को अकाउंट की जानकारी लेने और अकाउंट एक्सेस करने के लिए बनाई जाती है| उन वेबसाइट को Business and Corporation Website कहा जाता है।

E-Commerce Website

E-Commerce Website वह वेबसाइट होती हैं जिनके जरिए products ओर services को ऑनलाइन बेचा जाता है| जैसे कि Amazon, Flipkart, Snapdeal. यह सारी E-Commerce Website है| E-Commerce Website को अलग-अलग भागों में भी बांटा जाता है जैसे कि:-

  • Classified Ads Website
  • Affiliate Website
  • Auction Website
  • Crowdfunding Website

Gaming Website

ऐसी वेबसाइट जिनका इस्तेमाल ऑनलाइन Game खेलने के लिए किया जाता है| उन वेबसाइट को Gaming Website कहा जाता है| इन वेबसाइट पर games को java, flash, html के द्वारा बनाया जाता है।

Government Website

ऐसी वेबसाइट जहां पर सरकारी विभाग स्थानीय, या राज्य सरकार के द्वारा सरकारी सूचना को अपडेट किया जाता है| ऐसी वेबसाइट को Government Website कहा जाता है| ऐसी वेबसाइट पर आपको सरकारी सेवाओं तथा उनमें आवेदन करने की जानकारी दी जाती है, सरकारी एग्जाम की और उनके नतीजों की जानकारी भी दी जाती है।

Help and QnA Website

ऐसी वेबसाइट जहां पर आपको आपके सवालों के जवाब दिए जाते हैं इन वेबसाइट को Help and QnA Website कहा जाता है। आपके मन में अगर कोई ऐसा सवाल है जिसका आपको जवाब नहीं मिल रहा है तो आप इन वेबसाइट पर अपना सवाल डाल सकते हैं और वहां से आपको लोगों के द्वारा answer दे दिए जाते है। उदाहरण के तौर पर Quora, Yahoo Answer यह सारी Help and QnA Website वेबसाइट है।

Malicious Website

यह ऐसी वेबसाइट होती है जिन को बनाने का उद्देश्य यूजर के सिस्टम को डैमेज करना है, उसके डाटा को चुराना होता है| Malicious Website वेबसाइट किसी विजिटर को किसी फाइल के जरिए Malware, Spyware, Trojan डाउनलोड करने के लिए प्रोत्साहित करती है और इस तरह की आपको इंटरनेट पर करोड़ों वेबसाइट देखने को मिल जाए जाती हैं| आपको ऐसी वेबसाइट से सावधान रहना चाहिए।

Media Sharing Website

वह वेबसाइट यो यूजर को एक या एक से अधिक प्रकार के मीडिया को शेयर करने की सुविधा देती है ऐसी वेबसाइट को Media Sharing Website कहा जाता है जैसे कि Youtube. Youtube यूजर को वीडियो शेयर करने की अनुमति देती है।

News Website

ऐसी वेबसाइट जहां पर स्थानीय, देश या विदेश से संबंधित न्यूज़ को अपडेट किया जाता है और लोगों तक पहुंचाया जाता है ऐसी वेबसाइट को News Website कहा जाता है| ऐसी वेबसाइट आपको इंग्लिश, हिंदी, पंजाबी और भी अन्य भाषाओं में देखने को मिल जाती हैं।

वेबसाइट के फायदे — Benefits of Website in Hindi

अगर आप कोई बिजनेस कर रहे हैं और तो आप उस बिज़नेस को ऑनलाइन लाना चाहते है तो उसको वेबसाइट के जरिए ला सकते हैं और अपने बिजनेस को वेबसाइट के जरिए लाखों लोगों तक पहुंचा सकते हैं| आप अपने बिजनेस को एक brand भी बना सकते हैं| अगर वही आप ऑफलाइन में बिजनेस कर रहे हैं तो आपकी लोगों तक सीमित ही पहुँच सकते है| मतलब कि आप एक एरिया के अंदर ही अपने कस्टमर तक पहुंच सकते हैं परंतु अगर वही आप अपने बिजनेस को ऑनलाइन ले जाते हैं तो आप अपने बिजनेस को पूरे देश तक पहुंचा सकते हैं और अपने बिजनेस के बारे में उन्हें जानकारी दे सकते हैं| 

अगर वही आप ऑफलाइन में बिजनेस कर रहे हैं तो आपको सारा दिन शॉप पर बैठना पड़ता है परंतु ऑनलाइन में ऐसा कुछ नहीं है अगर आप ऑनलाइन अपना बिज़नेस चला रहे है आपकी शॉप ऑनलाइन 24 घंटे खुली रहती है और लोग आपके प्रोडक्ट के बारे में जानकारी ऑनलाइन देखकर उसका आर्डर भी कर देते है| 

इंटरनेट पर Website कौन बनाता है?

दोस्तों जब भी आप इंटरनेट पर देखते हैं तो आपको इंटरनेट पर लाखों-करोड़ों वेबसाइट देखने को मिल जाती है| अगर आप beginners है और आपको वेबसाइट के बारे में ज्यादा जानकारी नहीं है तो आपके मन में भी यह सवाल जरूर आया होगा कि आखिर वेबसाइट कौन बनाता है। हम आपको बताना चाहेंगे की वेबसाइट कोई भी व्यक्ति, संस्था या सरकार बना सकती है| वेबसाइट अपने सर्विस, इंफॉर्मेशन को शेयर करने के लिए या प्रोडक्ट को बेचने के लिए बनाई जाती है| 

आप भी अगर चाहे तो अपनी खुद की वेबसाइट  बनाना चाहते है तो आप इंटरनेट की मदद से अपनी वेबसाइट को आसानी से बना सकते हैं और अपनी services, products और knowledge को लोगों तक पहुंचा सकते हैं। इंटरनेट पर वेब साइट के बारे में सर्च करते हैं तो आपको अक्सर ही website और blog के बारे में सुनने को मिलता है| अब आप सोच रहे होंगे कि इन में क्या अंतर है चलिए हम आपको बताते हैं।

Website और Blog में क्या अंतर है?

अगर देखा जाए तो Website और Blog लगभग एक जैसे ही होते हैं और उनको access करने का तरीका भी एक जैसा होता है| परंतु वास्तविक में यह दोनों एक दूसरे से अलग होते हैं क्योंकि Blog लगातार अपडेट होते रहते हैं| वे dynamic होते हैं जबकि वेबसाइट static होती है| उदाहरण के तौर पर हमारी वेबसाइट welovewrite.com में हम रोजाना content अपडेट करते रहते हैं यह हमारी एक Blog वेबसाइट है| Blog वेबसाइट किसी एक व्यक्तिया  बहुत सारे व्यक्तियों के द्वारा चलाई जा सकती है और उसमें कंटेंट को उनके द्वारा update किया जाता है। 

वहीं दूसरी ओर Business Website, Static Website की उदाहरण है क्योंकि इन वेबसाइट को business के उद्देश्य से बनाया जाता है और उनको एक बार बनाने के बाद वेबसाइट को बीएस organize करा जाता है| सर्विस और इंफॉर्मेशन को बार-बार डालने की जरूरत नहीं होती है| तो हम Blog को वेबसाइट कह सकते हैं परंतु वेबसाइट को हम Blog नहीं कह सकते है।

Website की विशेषताएं

एक इंटरनेट यूजर होने के नाते अगर हम किसी वेबसाइट को चलाते हैं और उस वेबसाइट का loading time बहुत ज्यादा है और उस वेबसाइट में कंटेंट पढ़ने में भी बहुत समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है तो ऐसी वेबसाइट को हम चलाना पसंद नहीं करते हैं| तो चलिए दोस्तों अब हम आपको बताते हैं कि अच्छी वेबसाइट में क्या-क्या होना चाहिए और उसमे क्या-क्या विशेषताएं होनी चाहिए।

Easy Navigation

एक research के अनुसार यह पता चला है कि किसी भी यूजर को Easy Navigation वाली वेबसाइट को चलाना ज्यादा पसंद है क्योंकि Navigation एक वेबसाइट का महत्वपूर्ण feature होता है| इससे क्या होता है कि एक तो वेबसाइट Easy to Use हो जाती है और साथ ही वेबसाइट के एक पेज से दूसरे पेज तक विजिटर को जाने में आसानी हो जाती है और वह अपने पसंदीदा कंटेंट को आसानी से पढ़ सकता है| इसलिए वेबसाइट हमेशा Easy Navigation वाली होनी चाहिए।

Good Design

अगर किसी वेबसाइट का डिजाइन अच्छा है तो विजिटर उस पर आना ज्यादा पसंद करता है क्योंकि एक रिसर्च के मुताबिक पता चला है कि 83% लोग अच्छी डिजाइन वाली वेबसाइट की ओर ज्यादा आकर्षित होते हैं और उस पर आना पसंद करते हैं| क्योंकि ऐसी वेबसाइट पर reader को कंटेंट पढ़ने की संभावनाएं भी बहुत ज्यादा बढ़ जाती है और उस वेबसाइट पर समय भी ज्यादा लगाता है। उदाहरण के तौर पर अगर आप बड़े बड़े brands की वेबसाइट देखते हैं तो उनकी वेबसाइट के डिजाइन बहुत अच्छे होते हैं और आने वाले विजिटर की संख्या भी बहुत ज्यादा होती है।

Content is King

अगर आपकी वेबसाइट का डिजाइन भी अच्छा है, Navigation भी अच्छा है| परंतु आपकी वेबसाइट पर publish किया गया कंटेंट valuable नहीं है और user की requirement को पूरा नहीं करता है तो ऐसी वेबसाइट पर user आना पसंद नहीं करता है| अगर ऐसी वेबसाइट पर यूजर एक बार आ जाता है तो वह उसी समय Bounceback कर जाता है जो कि किसी भी website के लिए अच्छी बात नहीं होती है| इसलिए आपको अपनी वेबसाइट पर हमेशा informational और unique कंटेंट ही अपडेट करना चाहिए।

Description

जब भी आप किसी वेबसाइट पर कोई आर्टिकल लिखते हैं तो उस आर्टिकल में यूजर को क्या-क्या इंफॉर्मेशन मिलने वाली है और कौन कौन से टॉपिक इस आर्टिकल में बताए जाने वाले हैं अगर वह जानकारी आर्टिकल के शुरुआत में ही यूजर को पढ़ने को मिल जाए जाती है तो यूज़र भी इस आर्टिकल को अंत तक ध्यानपूर्वक पढ़ते हैं जो कि एक अच्छी वेबसाइट की निशानी होती है।

Social Media

आज के समय में Social Media बहुत ही ज्यादा powerful हो चुका है क्योंकि सोशल मीडिया पर भी बहुत ही ज्यादा यूजर्स देखने को मिलते हैं| अगर आपकी वेबसाइट किसी बिजनेस brand या प्रोडक्ट को promote कर रही है तो सोशल मीडिया आपके लिए बहुत लाभदायक साबित हो सकता है क्योंकि आप अपने वेबसाइट या बिजनेस को सोशल मीडिया के द्वारा भी प्रमोट कर सकते हैं| 

अगर आप की वेबसाइट पर सोशल मीडिया लिंक नहीं है तो इसका मतलब यह है कि अभी भी आपके विजिटर को आपकी वेबसाइट के बारे में जानना बाकी है| अगर आप भी चाहते हैं कि आप की वेबसाइट की brand value बड़े तो आपको भी अपनी वेबसाइट के साथ सोशल मीडिया अकाउंट को जोड़ना चाहिए।

Conclusion

दोस्तों अब आप जान चुके होंगे की website kya hai, वेबसाइट की परिभाषा क्या है, web page kya hai, website ka matlab kya hota hai, वेबसाइट कितने प्रकार की होती है, वेबसाइट कितनी कैटेगरी की होती हैं, वेबसाइट की विशेषताएं क्या है, वेबसाइट के फायदे क्या है| उम्मीद करते हैं कि आपके मन में वेबसाइट क्या है, वेबसाइट का मतलब क्या होता है या वेबसाइट से संबंधित जितने भी सवाल थे आपके उनके जवाब मिल गए होंगे| अगर आपको हमारे द्वारा शेयर करी गई जानकारी से संबंधित कोई भी डाउट हो तो आप हमें नीचे कमेंट बॉक्स में कमेंट कर सकते हैं।

ये भी पढ़े:

इंटरनेट की खोज किसने की?

Email क्या है?

Online Bank Balance Check कैसे करे मोबाइल से?

FAQ (Frequently Asked Questions)

Website का अर्थ क्या है?

Collection of web pages को वेबसाइट कहा जाता है| आपकी वेबसाइट पर जितने भी पेज मौजूद है वह आपके domain के अंदर मौजूद होते हैं और वह सारे पेज आपस में लिंक होते हैं| जिससे कि users एक page से दूसरे page तक आसानी से जा सकता है| इसके अलावा users वेबसाइट में जिस इंफॉर्मेशन को ढूंढ रहा है उसको सर्च करके भी उस पर जा सकता है। 

किसी भी वेबसाइट को चलाने के लिए उसके डोमेन नेम को किसी वेब ब्राउजर में टाइप करके उसको ओपन कर सकते हैं| जैसे कि मान लीजिए अगर आप Welovewrite को चलाना चाहते हैं तो आप ब्राउजर में जाकर welovewrite.com लिखकर हमारी वेबसाइट को ओपन कर सकते हैं और वही अगर वेबसाइट के किसी पोस्ट पर जाना चाहते हैं तो आप search bar में उस पोस्ट को टाइप करके सर्च करके उस पेज पर जा सकते हैं।

एक वेबसाइट से दूसरी वेबसाइट पर जाना क्या कहलाता है?

एक वेबसाइट से दूसरी वेबसाइट पर जाने को इंटरनेट की भाषा में Browsing कहा जाता है| अगर आप किसी इंफॉर्मेशन की तलाश कर रहे हैं उसके लिए आप एक पेज से दूसरे पेज में जाते हैं तो उसे Browsing कहते हैं| यह तब होता है या तो आपको एक पेज में जिस पर आप गए थे उस पर इंफॉर्मेशन नहीं मिली है इसलिए आप दूसरे पेज पर जाते हैं या फिर आपको उस पेज पर इंफॉर्मेशन मिल गई है परंतु आप और अधिक इंफॉर्मेशन लेना चाहते हैं तो उस स्थिति में भी आप दूसरे पेज पर जाते हैं।

वेबसाइट के होम पेज का क्या अर्थ है?

Home page किसी भी वेबसाइट का landing पेज होता है या हम कह सकते हैं कि Home page किसी की वेबसाइट का मेन पेज होता है| जहां पर आपको अलग-अलग page पर जाने के लिए वहां पर menu बनाए होते हैं| आप होम पेज को manually भी design कर सकते हैं| वेबसाइट का owner अपनी मर्जी से webpage में content को ऐड कर सकता है और उसे डिजाइन कर सकता है ताकि यूजर आप की वेबसाइट पर आए और अधिक से अधिक समय वहां पर रहे।

वेबसाइट में प्रथम पेज क्या होता है?

वेबसाइट में प्रथम पेज को Home Page कहा जाता है| यह वेबसाइट के Live होने के बाद By Default पेज होता है| वेबसाइट का owner अपने जरूरत के अनुसार उस पेज को डिजाइन कर सकता है और उसके बाद वेबसाइट के internal page में कंटेंट पब्लिश करके उनको create कर सकता है।

वेबसाइट की क्या आवश्यकता है?

अगर आप अपने विचारों को दूसरे लोगों तक पहुंचाना चाहते हैं या अपने बिजनेस को promote करना चाहते हैं या फिर online अपने product या service को बेचना चाहते हैं तो उसके लिए वेबसाइट आपके लिए बहुत ही ज्यादा जरूरी है क्योंकि आप ऑनलाइन बिजनेस तब ही कर सकते हैं अगर आपके पास वेबसाइट होगी।

Leave a Comment

Your email address will not be published.

Scroll to Top